eastern Turkey PKK Car bomb kills three near police station in Van City - Jansatta
ताज़ा खबर
 

तुर्की में दो कार बम विस्फोट में छह की मौत, निशाने पर था पुलिस मुख्यालय

यह हमला पुलिस मुख्यालय में वान शहर के मध्य इपेकयोलु जिला स्थित पुलिस मुख्यालय को लक्ष्य कर किया गया था।

Author अंकारा | August 18, 2016 7:51 PM
तुर्की के एलाजिग शहर में पुलिस मुख्यालय पर कार बम धमाके के बाद का नजारा। (AP/PTI)

तुर्की में पुलिस थानों को निशाना बनाकर किए गए दो कार बम विस्फोट में कम से कम छह लोगों की मौत हो गई और 120 से अधिक लोग घायल हो गए। अधिकारियों ने आज (गुरुवार, 18 अगस्त) बताया कि बुधवार (17 अगस्त) को पूर्वी प्रांत वान में एक पुलिस थाना पर एक कार बम से हमला किया गया जिसमें एक पुलिस अधिकारी और दो आम नागरिकों की मौत हो गई। हमले में 20 पुलिस अधिकारियों सहित अन्य कई लोग घायल हुए।

अधिकारियों ने इस हमले के लिए कुर्दिस्तान वर्कर्स पार्टी या पीकेके को जिम्मेदार बताया है, जिसने कार बम विस्फोट से पुलिस थानों को निशाना बनाने या सड़क किनारे रखे बम से पुलिस वाहनों पर हमला करने का अभियान शुरू किया है। पिछले हफ्ते पीकेके के कमांडर जमील बायिक ने तुर्की के शहरों में पुलिस के खिलाफ ऐसे हमले तेज करने की धमकी दी थी।

सरकारी अनादोलू एजेंसी ने बताया कि घटना के कुछ घंटे बाद पूर्वी तुर्की के एलाजिग शहर में आज (गुरुवार, 18 अगस्त) सुबह पुलिस मुख्यालय पर एक अन्य कार बम धमाका हुआ, जिसमें पुलिस कार्यालय के कम से कम तीन अधिकारी मारे गए और तकरीबन 100 लोग घायल हो गए। एलाजिग के डिप्टी मेयर महमूद वरोल ने हैबर तुर्क टेलिविजन को बताया कि विस्फोट पुलिस मुख्यालय के अहाते में हुआ था, जिसके चलते वहां खड़ी कारों में आग लग गई।

वीडियो फुटेज में इलाके से धुंए का गुबार उठता दिखाई दे रहा है। कारें पलटी हुई थीं और धमाके में चार मंजिली इमारत की खिड़कियां और खंड उड़ गए थे। सरकारी अनादोलू एजेंसी के मुताबिक, पिछले साल शांति प्रक्रिया के टूटने के बाद पीकेके और तुर्की के सुरक्षा बलों के बीच संघर्ष फिर से शुरू हो गया था। तब से 600 से अधिक तुर्क सुरक्षाकर्मी और हजारों पीकेके आतंकवादी मारे गए हैं।

मानवाधिकार समूहों ने बताया कि इन संघर्षों में सैकड़ों नागरिक भी मारे गए हैं। 1984 में पीकेके के दक्षिण पूर्व तुर्की की स्वायत्ता के लिए हथियार उठाने के बाद हुए संघर्षों में हजारों लोगों की जान जा चुकी हैं। तुर्की और इसके सहयोगी पीकेके को आतंकवादी संगठन मानते हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App