ताज़ा खबर
 

डोनाल्ड ट्रम्प को बड़ी राहत, टैक्स विवाद में अब अगले साल सुनवाई करेगी अदालत

निचली अदालतों ने अपने फैसले में कहा था कि ट्रंप को निश्चित रूप से रिकॉर्ड के बारे में बताना चाहिए लेकिन राष्ट्रपति के वकील ने देश की शीर्ष अदालत में दलील देते हुए अपील की कि बतौर राष्ट्रपति उन्हें इससे छूट मिली हुई है।

Author वाशिंगटन | Updated: December 14, 2019 4:54 PM
donald trumpअमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप। (फाइल फोटो)

अमेरिकी उच्चतम न्यायालय अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के कर विवरणी और वित्तीय रिकॉर्ड जारी करने से संबंधित मामलों की अगले साल सुनवाई करेगा। इन मामलों में ट्रंप ने अपनी कर विवरणी और अन्य वित्तीय रिकॉर्ड तक लोगों की पहुंच रोकने की मांग की है। निचली अदालतों ने अपने फैसले में कहा था कि ट्रंप को निश्चित रूप से रिकॉर्ड के बारे में बताना चाहिए लेकिन राष्ट्रपति के वकील ने देश की शीर्ष अदालत में दलील देते हुए अपील की कि बतौर राष्ट्रपति उन्हें इससे छूट मिली हुई है।

उच्चतम न्यायालय ने कहा कि वह मार्च के सत्र के दौरान इन दलीलों पर सुनवाई करेगा और 30 जून को सत्र समाप्ति से पहले इसके लिए आदेश जारी करेगा। गौरतलब है कि उच्चतम न्यायालय में रूढीवादी जजों की अधिकता है। ट्रंप न्यूयॉर्क के रियल इस्टेट कारोबारी हैं और रिचर्ड निक्सन के बाद वह पहले ऐसे अमेरिकी राष्ट्रपति हैं जिन्होंने अपनी कर विवरणी सार्वजनिक नहीं की है। उनका दावा है कि इंटर्नल रेवेन्यू र्सिवस (आईआरएस) उनका लेखा परीक्षण कर रही है।

उन्होंने कुछ गलत नहीं किया है और उनके नेतृत्व में देश अच्छा प्रदर्शन कर रहा है, इसलिए उनके खिलाफ महाभियोग चलाया जाना अनुचित है। ट्रम्प ने शुक्रवार रात को ट्वीट किया, ‘‘मैंने कुछ भी गलत नहीं किया, ऐसे में मेरे खिलाफ महाभियोग चलाया जाना अनुचित है।’’ ट्रम्प पर आरोप हैं कि उन्होंने 2020 के राष्ट्रपति चुनाव में संभावित प्रतिद्वंद्वी जो बाइडेन समेत अपने प्रतिद्वंद्वियों की छवि खराब करने के लिए यूक्रेन से गैरकानूनी रूप से मदद मांगी।

उल्लेखनीय है कि डेमोक्रेट्स अमेरिकी सांसदों ने शुक्रवार को राष्ट्रपति ट्रंप के खिलाफ दो आरोपों को मंजूरी दे दी। इस तरह कथित कदाचार के लिए प्रतिनिधि सभा में राष्ट्रपति के खिलाफ महाभियोग की प्रक्रिया आगे बढ़ेगी। प्रतिनिधि सभा में डेमोक्रेटिक पार्टी का बहुमत है। प्रतिनिधि सभा में पारित होने के बाद महाभियोग की कार्यवाही 100 सदस्यीय अमेरिकी सीनेट में आगे बढ़ेगी जहां ट्रम्प की रिपब्लिकन पार्टी का बहुमत है। ट्रम्प ने ट्वीट किया, ‘‘… डेमोक्रेट नफरत की पार्टी बन गए है। वे हमारे देश के लिए बहुत खराब हैं।’’ इससे पहले उन्होंने महाभियोग को एक छल और राजनीति से प्रेरित बताया था।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 US: रक्षामंत्री मार्क एस्पर ने दी ईरान को चेतावनी, बुरे बर्ताव को बर्दाश्त नहीं करेगा अमेरिका
2 ब्रिटिश चुनावों में भारतवंशियों ने बनाया नया रिकॉर्ड, भारतीय मूल के 15 सांसद निर्वाचित, 12 ने बरकरार रखी अपनी सीट
3 CAB पर अमेरिका की भारत को नसीहत- धार्मिक अल्पसंख्यकों के अधिकार की करें रक्षा
ये पढ़ा क्या?
X