ताज़ा खबर
 

नवाज शरीफ से गर्मजोशी के साथ मिले डोनाल्ड ट्रंप, कहा- मिलकर खुशी हुई

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने रविवार को रियाद में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ से मुलाकात की।

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने रविवार को रियाद में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ से मुलाकात की।

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने रविवार को रियाद में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ से मुलाकात की। ट्रंप ने कहा कि उन्हें नवाज शरीफ से मिलकर खुशी हुई। जियो न्यूज के मुताबिक, रियाद में किंग अब्दुल्लाजीज कांफ्रेंस सेंटर में अरब इस्लामिक अमेरिकी सम्मेलन के दौरान दोनों नेताओं की मुलाकात हुई। इस दौरान ट्रंप ने नवाज से गर्मजोशी से हाथ मिलाए। इस मुलाकात के दौरान ट्रंप ने कहा कि वह प्रधानमंत्री नवाज से मिलकर बहुत खुश हैं। सुल्तान सलमान बिन अब्दुल्लाजीज ने भी शरीफ का गर्मजोशी से स्वागत किया। ट्रंप ने अरब इस्लामिक अमेरिकी सम्मेलन को संबोधित किया जिसमें 55 देशों के नेताओं ने शिरकत की। प्रधानमंत्री नवाज शरीफ भी इस सलमान बिन अब्दुल्लाजीज के निमंत्रण पर सम्मेलन में हिस्सा लेना रियाद पहुंचे थे।

वहीं दूसरी ओर इसी दिन कश्‍मीर मुद्दे पर गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने रविवार (21 मई) को सिक्किम में पाकिस्‍तान को लताड़ लगाई है। सिंह ने लोगों को आश्‍वासन देते हुए कहा कि उनकी सरकार कश्‍मीर मुद्दे का स्‍थानीय समाधान लेकर आएगी। राजनाथ ने कहा, ”हम इस सच्‍चाई को जानते हैं कि कश्‍मीर भी हमारा है, कश्‍मीरी भी हमारे हैं और कश्‍मीरियत भी हमारी है।” उन्‍होंने कहा, ”हमारे पड़ोसी मित्र को भी सुधर जाना चाहिए। पूरा विश्‍वास है कि सुधर जाएगा, नहीं सुधरा तो उसे सुधारना पड़ेगा।” राजनाथ ने कार्यक्रम में कहा, ”बॉर्डर को लेकर वैचारिक मतभेद हो सकते हैं, लेकिन पहले जितना ट्रांसग्रेशन होता था चीन की तरफ से, अब उसमें कमी आई है।” पाकिस्‍तान के साथ शांति-वार्ता पर राजनाथ ने कहा, ”पाक पीएम (नवाज शरीफ) को भी शपथ ग्रहण समारोह में बुलाया था। केवल हाथ मिलाने के लिए नहीं बुनलाया था, बल्कि दिल से दिल मिलाने के लिए आमंत्रित किया था।”

राजनाथ ने आगे कहा, ”हमारी पहल को वो (पाकिस्‍तान) समझते नहीं है। आज भी कश्‍मीर के माध्‍यम से भारत को डि-स्‍टेबलाइज (अशांत) करने की कोशिश होती रहती है पाक की तरफ से।” नरेंद्र मोदी सरकार में भारत की वैश्विक छवि पर राजनाथ ने कहा, ”दूसरे देशों में चले जाइए, अंतर समझ आ जाएगा। पहले भारत को किस नजरिए से देखा जाता था, अब किस नजरिए से देखा जा रहा है।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App