ताज़ा खबर
 

नरेंद्र मोदी की तरह डोनाल्‍ड ट्रंप ने भी नहीं द‍िया इफ्तार, 20 साल में पहली बार व्‍हाइट हाउस में हुुुुआ ऐसा

इफ्तार देने की परंपरा पूर्व राष्ट्रपति बिल क्लिंटन ने शुरू की थी। उनके बाद जॉर्ज डब्ल्यू बुश और बराक ओबामा ने भी रमजान में इफ्तार की दावत देने की परंपरा कायम रखी।

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (बाएं) और भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (दाएं)।

पिछले दो दशकों में पहली बार अमेरिकी राष्ट्रपति ने इस्लाम के पवित्र महीने रमजान में इफ्तार की दावत नहीं दी। अमेरिका के मौजूदा राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और उनकी पत्नी मेलानिया ट्रंप ने शनिवार (24 जून) को एक बयान जारी करके ईद उल-फितर मना रहे सभी लोगों को शुभकामनाएं दीं। रमजान के खत्म होने पर मुस्लिम ईद मनाते हैं। ट्रंप पर पहले भी मुस्लिम-विरोधी टिप्पणियों के आरोप लगते रहे हैं।

ट्रंप और मेलानिया की तरफ से जारी बयान में कहा गया, “पूरी दुनिया के मुसलमानों के साथ ही अमेरिकी मुसमान रमजान के पवित्र महीने में दान और पुण्य करते हैं। अब वो अपने परिवार और दोस्तों के साथ ईद मना रहे हैं और पास पड़ोस लोगों के साथ दावत की परंपरा को बरकरार रखे हुए हैं।” ईद की बधाई देने के बावजूद डोनाल्ड ट्रंप द्वारा इफ्तार की दावत न देने पर अमेरिकी मीडिया में उनकी आलोचना हो रही है।

सीएनएन के अनुसार इफ्तार देने की परंपरा पूर्व राष्ट्रपति बिल क्लिंटन ने शुरू की थी। उनके बाद जॉर्ज डब्ल्यू बुश और बराक ओबामा ने भी रमजान में इफ्तार की दावत देने की परंपरा कायम रखी। अमेरिकी राष्ट्रपतियों द्वारा दिए जाने वाले इफ्तार में प्रमुख अमेरिकी मुस्लिम हस्तियों के अलावा अन्य मुस्लिम देशों के कई अहम शख्सियतें शामिल होती रही हैं।  अमेरिकी गृह मंत्रालय ने ने ईद के मौके पर दावत देने की पिछले दो दशक से चली आ रही परंपरा को बदलते हुए इस बार दावत की इजाजत देने से इनकार कर दिया है।

डोनाल्ड ट्रंप राष्ट्रपति बनने से पहले से ही इस्लाम और मुसलमानों पर अपने रवैये को लेकर आलोचना के शिकार होतेे रहे हैं। अभी हाल ही में उन्होंने सात मुस्लिम देशों के नागरिकों के अमेरिका आने पर तीन महीने के लिए प्रतिबंध लगा दिया था। हालांकि अमेरिका के कई राज्यों की स्थानीय अदालतों ने ट्रंप प्रशासन द्वारा लगाए गए वीजा प्रतिबंध पर रोक लगा दी थी।  ट्रंप मस्जिदों को आतंकवाद के प्रसार का स्रोत बताकर भी विवादों में घिर चुके हैं।

गैर-मुस्लिम देशों के राष्ट्र प्रमुखों और प्रमुख हस्तियों द्वारा इस्लाम के पवित्र महीने रमजान में इफ्तार की दावत देना आम बात है। हालांकि ये महज संयोग की बात है कि सोमवार ( 26 जून) को भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ट्रंप के साथ उनके आधिकारिक आवास पर डिनर करेंगे। ट्रंप की तरह नरेंद्र मोदी भी पिछले तीन दशकों में पहले भारतीय प्रधानमंत्री हैं जिसने इफ्तार की दावत नहीं दी।

वीडियो- देखें अब तक की पांच बड़ी खबरें

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App