ताज़ा खबर
 

डोनाल्‍ड ट्रंप ने भारत को दी धमकी, आयात शुल्‍क न हटाने पर व्‍यापार संबंध खत्‍म करने की चेतावनी

कनाडा के क्‍यूबेक सिटी में जी-7 का बैठक आयोजित किया गया था। अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने बैठक से इतर भारत समेत अनेक देशों पर अमेरिकी उत्‍पादों पर काफी ज्‍यादा आयात शुल्‍क लगाने पर तल्‍ख टिप्‍पणी की।

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और पीएम मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप के बीच दिखी गर्मजोशी का असर कमजोर पड़ने लगा है। कनाडा के क्‍यूबेक सिटी में जी-7 के सम्‍मेलन में इसकी बानगी देखने को मिली। ट्रंप ने कुछ अमेरिकी उत्‍पादों पर 100 फीसद तक टैरिफ लगाने पर सख्‍त ऐतराज जताया है। उन्‍होंने मौजूदा व्‍यवस्‍था को खत्‍म करने या फिर परिणाम भुगतने की चेतावनी दी है। ट्रंप ने भारत को व्‍यापार संबंध खत्‍म करने की भी धमकी दी है। उन्‍होंने भारत समेत ऐसे सभी देशों पर अमेरिका में ‘डाका डालने’ का भी आरोप लगाया है। अमेरिकी राष्‍ट्रपति ने प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित करते हुए कहा कि अमेरिका ऐसे गुल्‍लक की तरह हो गया है, जिसपर हर कोई डाका डाल रहा है। ट्रंप ने जी-7 के सदस्‍य देशों द्वारा तैयार घोषणापत्र को भी अस्‍वीकार कर दिया, जिसके कारण विश्‍व के सबसे समृद्ध देशों का समिट बिना किसी ठोस निष्‍कर्ष के ही समाप्‍त हो गया। ट्रंप व्‍यापार असंतुलन की मौजूदा स्थिति से बेहद असंतुष्‍ट हैं। डोनाल्‍ड ट्रंप पूर्व में व्‍यापार असंतुलन को लेकर चीन को भी कड़ी चेतावनी दे चुके हैं।

भारत के खिलाफ जवाबी कार्रवाई की चेतावनी: राष्‍ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने जी-7 के सम्‍मेलन के दौरान स्‍पष्‍ट शब्‍दों में भारत का उल्‍लेख किया। उन्‍होंने जवाबी कार्रवाई की चेतावनी देते हुए कहा कि अमेरिका भारतीय उत्‍पादों पर भी आयात शुल्‍क बढ़ा सकता है। उन्‍होंने कहा, ‘यह (आयात शुल्‍क) सिर्फ जी-7 तक सीमित नहीं है। मेरा कहने का मतलब है कि भारत में कुछ उत्‍पादों पर 100 फीसद टैरिफ लगाया जाता है। शत प्रतिशत। …और हमलोग किसी भी तरह का अतिरिक्‍त शुल्‍क नहीं लगाते हैं। हम ऐसा नहीं कर सकते हैं, इसलिए अमेरिका ऐसे कई देशों से बात कर रहा है।’ अमेरिकी राष्‍ट्रपति कई मौकों पर हार्ले-डेविडसन मोटरसाइकिल पर काफी ज्‍यादा आयात शुल्‍क लगाने के मुद्दे को उठा चुके हैं। उन्‍होंने पूर्व में हजारों की संख्‍या में भारतीय बाइक्‍स पर आयात शुल्‍क लगाने की धमकी भी दे चुके हैं। जी-7 सम्‍मेलने के इतर ट्रंप ने कहा, ‘हमलोग सभ देशों से बातचीत कर रहे हैं और इसे बंद करना होगा। ऐसा न होने पर अमेरिका उन देशों के साथ व्‍यापार करना बंद कर देगा। अगर हमें ऐसा करना पड़ा तो यह हमारे लिए बहुत लाभदायक होगा।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App