डोकलाम विवाद: चीन की भारत को फिर धमकी- अगर हम घुसे तो मच जाएगा कोहराम- Doklam Standoff: China blames India, says there will be chaos if we Follows Indian Logic - Jansatta
ताज़ा खबर
 

डोकलाम विवाद: चीन की भारत को फिर धमकी- अगर हम घुसे तो मच जाएगा कोहराम

चीन ने सिक्किम बॉर्डर पर स्थित डोकलाम इलाके में तनाव को लेकर भारत को जिम्मेदार बताया है।

डोकलाम में चीन और भारतीय सेना। (फाइल फोटो)

पिछले दो महीनों से चले आ रहे डोकलाम विवाद पर चीन ने एक बार फिर भारत को धमकाया है। मंगलवार को चीन ने कहा कि अगर हम भी भारत के लॉजिक से चलने लगे और भारतीय सीमा में घुसकर निर्माण कार्य को रोक दें तो इलाके में उथल-पुथल मच सकती है। चीन ने सिक्किम बॉर्डर पर स्थित डोकलाम इलाके में तनाव को लेकर भारत को जिम्मेदार बताया है। चीन ने आरोप लगाया कि भारतीय सैनिक चीन की सीमा में घुसे और चीनी सैनिकों को सड़क बनाने से रोका।

चीनी विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता हुआ चुनयिंग ने कहा, “भारतीय पक्ष ने चीन के सड़क निर्माण की आड़ में सीमाएं तोड़ी हैं। चीनी सड़क निर्माण पर भारत का तर्क हास्यास्पद व शातिराना है और तथ्य बिलकुल साफ हैं।” उन्होंने कहा, “अगर हम भारत के हास्यास्पद तर्क को स्वीकार करते हैं, तो इसका मतलब है कि किसी को भी अगर उसके पड़ोसी के घर पर होने वाली गतिविधि नापसंद है, तो वह पड़ोसी के घर में घुस सकता है।” चुनयिंग के अनुसार, “क्या इसका मतलब यह है कि अगर चीन सोचता है कि भारत के सीमावर्ती इलाके में बड़े पैमाने पर बुनियादी ढांचे का निर्माण उसके लिए खतरा है तो क्या वह भारतीय क्षेत्र में प्रवेश कर सकता है? क्या यह पूरी तरह अफरा-तफरी वाला नहीं होगा?”

भारतीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह की इस टिप्पणी पर कि भारत कभी भी हमलावर नहीं रहा और उसकी सीमा बढ़ाने की कोई महत्वाकांक्षा नहीं है, हुआ ने जवाब दिया, “चीन शांति से प्यार करता है और शांति को दृढ़ता से कायम रखता है। लेकिन, इसके साथ ही हम अपनी क्षेत्रीय अखंडता और संप्रभुता की भी रक्षा करेंगे। हम किसी देश या किसी व्यक्ति को चीन की क्षेत्रीय संप्रभुता का उल्लंघन करने की अनुमति नहीं देंगे।” उन्होंने कहा कि भारत को इस संघर्ष को सुलझाने के लिए डोकलाम से अपने सैनिकों को वापस बुलाना चाहिए।

उन्होंने कहा, “हमने कई बार कहा है कि इस समस्या को निपटाने का तरीका भारतीय पक्ष द्वारा अपने सैनिकों और उपकरणों की बगैर शर्त वापसी है। इसलिए हम भारतीय पक्ष से ठोस व अपनी गलतियों को सुझारने के लिए सकारात्मक कदम उठाने का आग्रह करते हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App