ताज़ा खबर
 

ढाका कैफे हमला: जेएमबी का शीर्ष आतंकी बांग्लादेश में गिरफ्तार

रैपिड एक्शन बटालियन (आरएबी) ने आतंकी संगठन जेएमबी के गाजीपुर टोंगी स्थित ठिकाने पर छापा मारा और चार आतंकियों को गिरफ्तार कर लिया।

Author ढाका | July 21, 2016 2:49 PM
ढाका के एक कैफे में हुए आतंकी हमले में शामिल संदिग्ध इस्लामिक स्टेट के आतंकियों की तस्वीर।

बांग्लादेश के विशिष्ट सुरक्षा बल ने ढाका में एक कैफे पर हमले के आरोपी घरेलू इस्लामी चरमपंथी समूह के शीर्ष क्षेत्रीय प्रमुख समेत चार आतंकियों को गुरुवार (21 जुलाई) को गिरफ्तार कर लिया। देश के इतिहास के अब तक के सबसे भयावह आतंकी हमले में 22 लोग मारे गए थे, जिनमें अधिकतर लोग विदेशी थे। रैपिड एक्शन बटालियन (आरएबी) ने आतंकी संगठन जमातउल मुजाहिदीन बांग्लादेश (जेएमबी) के गाजीपुर टोंगी स्थित ठिकाने पर गुरुवार (21 जुलाई) सुबह छापा मारा और चार आतंकियों को गिरफ्तार कर लिया।

आरएबी के प्रवक्ता ने कहा कि गिरफ्तार किए गए लोगों में इस समूह के दक्षिणी क्षेत्र का ‘आमिर’ यानी महमूदउल हसन तनवीर भी शामिल है। गिरफ्तार किए गए अन्य तीन लोगों की पहचान आशिकउल अकबर अबेश, नजमुस शाकिब और रहमतुल्ला शूवो के रूप में हुई है। आरएबी की मीडिया शाखा के निदेशक मुफ्ती महमूद खान ने कहा कि मकान से बड़ी मात्रा में हथियार, युद्धक सामग्री और बम बनाने का सामान बरामद किया गया है। खान ने कहा कि आरएबी को इन चार लोगों के इमारत में मौजूद होने की सूचना मिली थी। उन्होंने कहा कि इन चारों ने रमजान के दौरान ईद से पहले इस मकान में शरण ली थी। मकान का इस्तेमाल जेएमबी के रंगरूटों के प्रशिक्षण के लिए किया जाता था।

उन्होंने कहा कि मकान से आठ बम और बम बनाने वाले सामान के अलावा, एक पिस्तौल, एक मैगजीन, 100 से ज्यादा कारतूस, आठ चाकू और कुछ जिहादी साहित्य बरामद किया गया है। सुरक्षाबल एक जुलाई को होली आर्टिजन बेकरी पर हुए आतंकी हमले के बाद से जेएमबी के ठिकानों की तलाश कर रहे हैं। इस हमले में भारतीय मूल की एक लड़की समेत 22 लोग मारे गए थे। सेना के कमांडो ने अगली सुबह कैफे पर धावा बोलकर छह बंदूकधारियों को मार गिराया था। इस घातक हमले की जिम्मेदारी इस्लामिक स्टेट ने ली थी लेकिन सरकार ने बांग्लादेश में आईएस की मौजूदगी से इंकार कर दिया था। सरकार ने कहा कि देश में मौजूद जेएमबी आतंकी इस हमले के लिए जिम्मेदार हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App