ताज़ा खबर
 

कड़ी सुरक्षा में डेमोक्रेटिक नेता जो बाइडन ने ली अमेरिका के 46वें राष्ट्रपति पद की शपथ, समारोह में नहीं आए डोनाल्ड ट्रंप

अमेरिका के इतिहास में सबसे उम्रदराज राष्ट्रपति बाइडन ने अपने परिवार की 127 साल पुरानी बाइबिल पर हाथ रखकर पद और गोपनीयता की शपथ ली।

अमेरिका के 46वें राष्ट्रपति के रूप में शपथ लेने के बाद संबोधित करते जो बाइडेन। (फोटो- एएनआई)

ललित के झा

डेमोक्रेटिक नेता जो बाइडन ने बुधवार को अमेरिका के 46 वें राष्ट्रपति और कमला देवी हैरिस ने देश की पहली महिला उपराष्ट्रपति के तौर पर शपथ ली। शपथ ग्रहण समारोह के लिए कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की गयी है। पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के समर्थकों को रोकने के लिए कैपिटल बिल्डिंग (संसद भवन) के आसपास हजारों सुरक्षाकर्मी तैनात किए गए हैं। दो सप्ताह पहले ट्रंप के समर्थकों ने कैपिटल बिल्डिंग में हिंसक उत्पात मचाया था।

डेमोक्रेटिक नेता बाइडन (78) को प्रधान न्यायाधीश जॉन रॉबर्ट्स ने कैपिटल बिल्डिंग के ‘वेस्ट फ्रंट’ में पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलायी। इस बार शपथ ग्रहण समारोह में कम लोगों को आमंत्रित किया गया था और नेशनल गार्ड के 25,000 से अधिक जवानों को सुरक्षा में तैनात किया गया।

डोनाल्ड ट्रंप, बाइडन के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल नहीं हुए और अंतिम बार राष्ट्रपति के तौर पर व्हाइट हाउस से विदा लेते हुए विमान से फ्लोरिडा स्थित अपने स्थायी आवास ‘मार-आ-लागो एस्टेट’ के लिए रवाना हो गए। हालांकि निवर्तमान उपराष्ट्रपति माइक पेंस समारोह में शामिल हुए।

अमेरिका के इतिहास में सबसे उम्रदराज राष्ट्रपति बाइडन ने अपने परिवार की 127 साल पुरानी बाइबिल पर हाथ रखकर पद और गोपनीयता की शपथ ली। इसी बाइबिल पर हाथ रखकर उन्होंने उपराष्ट्रपति पद की शपथ ली थी।

बाइडन के शपथ लेने से पहले भारतीय मूल की कमला देवी हैरिस ने ऐतिहासिक शपथ ग्रहण समारोह के दौरान अमेरिका की पहली महिला उपराष्ट्रपति के रूप में शपथ ली। हैरिस अमेरिका की 49वीं उपराष्ट्रपति हैं।

भारत में चेन्नई से ताल्लुक रखने वाली प्रवासी भारतीय मां की बेटी हैरिस (56) ने अमेरिका की पहली महिला उपराष्ट्रपति बनकर इतिहास रच दिया है। वह इस पद पर पहुंचने वाली पहली अश्वेत एवं पहली एशियाई अमेरिकी भी हैं।

उनके पति 56 वर्षीय डगलस एमहॉफ इसके साथ ही अमेरिका के पहले ‘सेकेंड जेंटलमैन’, अमेरिकी उपराष्ट्रपति के प्रथम पुरुष जीवनसाथी बन गए हैं।

उच्चतम न्यायालय की न्यायाधीश न्यायमूर्ति सोनिया सोटोमेयर ने हैरिस को शपथ दिलाई। समारोह में पूर्व राष्ट्रपति-बराक ओबामा, जॉर्ज डब्ल्यू बुश और बिल क्लिंटन भी शामिल हुए। पूर्व प्रथम महिला-मिशेल ओबामा, लौरा बुश और हिलेरी क्लिंटन भी मौजूद थीं। शपथ ग्रहण समारोह में उच्चतम न्यायालय के न्यायाधीश, संसद के सदस्यों समेत करीब 1,000 लोगों ने शिरकत की। कोविड-19 महामारी के कारण इस बार कम लोगों को आमंत्रित किया गया।

बाइडन देश के सामने नयी चुनौतियों के साथ व्हाइट हाउस में प्रवेश कर रहे हैं। कोविड-19 महामारी के कारण देश में 4,00,000 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है और लोग आर्थिक दिक्कतों का सामना कर रहे हैं। नए राष्ट्रपति के सामने महामारी के कारण प्रभावित देश की अर्थव्यवस्था को फिर से आगे बढ़ाने की भी चुनौती होगी।

समारोह की शुरुआत दिन में ग्यारह बजे (स्थानीय समयानुसार) हुई। लेडी गागा ने राष्ट्रगान गाया। अदाकारा-गायिका जेनिफर लोपेज ने भी प्रस्तुतियां दी। पिछले दिनों ट्रंप समर्थकों के उत्पात के कारण कैपिटल बिल्डिंग के आसपास के इलाके को पूरी तरह किले में बदल दिया गया था। सड़कों पर जगह-जगह बैरिकेड भी लगा दिए गए। राज्यों में भी सुरक्षा एजेंसियां चौकसी बरत रही हैं।

Next Stories
1 भारतवंशी कमला हैरिस बनी अमेरिका की पहली महिला उपराष्ट्रपति, शपथ लेने के बाद बोलीं- सेवा करने को तैयार हूं
2 ट्रम्प ने नहीं रखी परंपरा की लाज: राष्ट्रपति रहते व्हाइट हाउस को कहा अलविदा, पत्नी मेलानिया ने खुद धन्यवाद पत्र तक नहीं लिखा
3 Joe Biden Inauguration: बाइडेन प्रशासन ने दिए चीन पर हमलावर रुख रखने के संकेत, नवनिर्वाचित विदेश मंत्री बोले- मजबूती से करना होगा सामना
यह पढ़ा क्या?
X