ताज़ा खबर
 

दिल्ली सांप्रदायिक हिंसा पर बांग्लादेश में भूचाल: सड़कों पर उतरे हजारों लोग, पीएम मोदी का दौरा रद्द करने की मांग

प्रदर्शनकारियों की मांग है कि बांग्लादेशी पीएम शेख हसीना समारोह में भारतीय प्रधानमंत्री को बतौर मुख्य अतिथि बुलाने से पीछे हट जाएं और न्योता रद्द किया जाए। मोदी 17 मार्च को बांग्लादेश के दौरे पर जाने वाले हैं।

बांग्लादेश के राष्ट्रपिता कहे जाने वाले शेख मुजीबुर्रहमान की अगले महीने 100वीं जयंती है और इससे जुड़े समारोह में पीएम मोदी मुख्य अतिथि के तौर पर आमंत्रित हैं।

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के उत्तर-पूर्वी क्षेत्र में 24-26 फरवरी को हुई सांप्रदायिक हिंसा के बाद बांग्लादेश में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ खूब प्रदर्शन हुए। शुक्रवार दोपहर जुमे की नमाज के बाद हजारों लोग सड़कों पर उतर आए और मोदी का बांग्लादेश दौरा रद्द करने की मांग की। बांग्लादेश के राष्ट्रपिता कहे जाने वाले शेख मुजीबुर्रहमान की अगले महीने 100वीं जयंती है और इससे जुड़े समारोह में पीएम मोदी मुख्य अतिथि के तौर पर आमंत्रित हैं।

हालांकि सूत्रों के हवाले से खबर है कि कोरोना वायरस के चलते पीएम मोदी का बांग्लादेश दौरा रद्द हो सकता है। दूसरी तरफ बांग्लादेश में प्रदर्शनकारियों की मांग है कि बांग्लादेशी पीएम शेख हसीना समारोह में भारतीय प्रधानमंत्री को बतौर मुख्य अतिथि बुलाने से पीछे हट जाएं और न्योता रद्द किया जाए। मोदी 17 मार्च को बांग्लादेश के दौरे पर जाने वाले हैं।

सोशल मीडिया में दिल्ली हिंसा और पीएम मोदी के दौरे के खिलाफ प्रदर्शन से जुड़े वीडियो भी वायरल हुए हैं। ट्विटर यूजर्स साकिबुल हक @SakibulHoque8 ने ऐसा ही एक वीडियो शेयर किया, जिसमें हजारों की तादाद में लोग नारेबाजी करते हुए नजर आए। ट्वीट में कहा गया, ‘बांग्लादेश में पीएम मोदी की यात्रा के खिलाफ लोगों ने राजधानी ढाका में प्रदर्शन किया। प्रदर्शनकारी कह रहे हैं कि वो पीएम मोदी को यहां नहीं आने देंगे। अगर सरकार मोदी को दिया निमंत्रण रद्द नहीं करती है तो 17 मार्च को एयरपोर्ट बंद कर दिया जाएगा।’

इसी तरह टीआरटी वर्ल्ड न्यूज ने एक वीडियो शेयर करते हुए कहा, ‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रस्तावित दौरे के खिलाफ करीब पांच हजार लोगों ने विरोध-प्रदर्शन किया। लोगों ने सड़कों पर आकर नारेबाजी की। बंग्लादेश में भारतीय दूतावास के बाहर भी प्रदर्शन किए गए।’ ट्विटर यूजर इरशाद खान @ershadkhandu एक वीडियो शेयर कर लिखते हैं, ‘बांग्लादेश में लोग मोदी का दौरा रद्द कराने के लिए सड़कों पर हैं।’

बता दें कि दिल्ली सांप्रदायिक हिंसा में अभी तक 50 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। हिंसा में 200 से ज्यादा लोग घायल हुए हैं। दर्जनों लोग अभी लापता हैं। हिंसा के दौरान दंगाईयों ने सैकड़ों घरों के आग के हवाले कर दिया था। दुकानों, गोदाम, वाहन और सार्वनिजक संपत्ति को हिंसा के दौरान बड़े पैमान पर नुकसान पहुंचाया गया। उत्तर-पूर्वी क्षेत्र में हिंसा का सबसे ज्यादा असर शिव विहार, चांद बांग, मुस्तफाबाद, ब्रिजपुरी, कर्दमपुरी जैसे इलाकों में देखने को मिला।

हिंसा के बाद पुलिस ने बड़े पैमानों पर लोगों के हिरासत में लिया है। पुलिस ने सैकड़ों लोगों को गिरफ्तार और हिरासत में लिया है। पुलिस ने दंगा फैलाने के आरोप में आप पार्षद ताहिर हुसैन, जाफराबाद इलाके में भीड़ पर गोली चलाने वाले शाहरुख और शिव विहार में अनिल डेरी के कर्मचारी के हत्या के आरोप में एक शख्स भी गिरफ्तार किया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App। जनसत्‍ता टेलीग्राम पर भी है, जुड़ने के ल‍िए क्‍ल‍िक करें।

Next Stories
1 सऊदी अरब में हुई तख्तापलट की कोशिश! हिरासत में लिए शाही खानदान के दो बड़े राजकुमार
2 भूटान में भी पहुंचा कोरोना वायरस, सरकार ने विदेश पर्यटकों के देश में आने पर लगाया दो सप्ताह का प्रतिबंध
3 अमेरिका-तालिबान समझौते के 6 दिन बाद ही बड़ा हमला, राजनीतिक रैली में हुई गोलीबारी में 27 लोगों की मौत