ताज़ा खबर
 

दाऊद के कुछ लोग हैं मुंबई पुलिस में: छोटा राजन

अंडरवर्ल्ड डॉन छोटा राजन ने मंगलवार को कहा कि मुंबई पुलिस के ‘कुछ सदस्यों’ के वांछित आतंकी दाऊद इब्राहिम के साथ संपर्क हैं। इसके साथ ही छोटा राजन..

Author बाली/मुंबई | November 4, 2015 7:26 PM
भारत के सबसे वांछित अपराधियों में एक अंडरवर्ल्ड डॉन छोटा राजन को इंडोनेशिया पुलिस ने इंटरपोल के रेडकार्नर नोटिस के आधार पर बाली में गिरफ्तार कर किया गया था।

अंडरवर्ल्ड डॉन छोटा राजन ने मंगलवार को कहा कि मुंबई पुलिस के ‘कुछ सदस्यों’ के वांछित आतंकी दाऊद इब्राहिम के साथ संपर्क हैं। इसके साथ ही छोटा राजन ने यह भी कहा कि वह दाऊद के खिलाफ लड़ाई जारी रखेगा। इस बीच मुंबई में मंगलवार को छोटा राजन का ‘दाहिना हाथ’ कहे जाने वाले नीलेश दिनकर परदकर उर्फ शट्लया को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया।

वर्ष 1993 में मुंबई में हुए सीरियल बम धमाकों के प्रमुख आरोपी दाऊद के करीबी वफादार से अब उसके दुश्मन बन चुके राजन ने कहा, ‘मुंबई पुलिस के कुछ लोग दाऊद के साथ मिलकर काम कर रहे हैं। मैं आतंकवाद और दाऊद के खिलाफ लड़ाई जारी रखूंगा। मैं दाऊद से डरा नहीं हूं।’ राजन को 25 अक्तूबर को आॅस्ट्रेलिया से लौटने पर इस मशहूर पर्यटन स्थल से गिरफ्तार किया गया था। राजन को जल्दी ही अदालत के समक्ष पेश किए जाने की संभावना है। इंडोनेशियाई पुलिस अदालत में उन मामलों की जानकारी पेश करेगी, जिनमें वह भारत में वांछित है। इस बीच सूत्रों ने बताया कि राजन को जल्दी ही भारत लाया जा सकता है।

एक भारतीय अधिकारी ने सोमवार को कहा था, ‘पूरी प्रक्रिया अगले दो-तीन दिन में पूरी हो सकती है।’ हत्या और रंगदारी से लेकर तस्करी व नशीले पदार्थों की तस्करी से जुड़े 75 से भी ज्यादा संगीन अपराधों में वांछित राजन से जब पूछा गया कि क्या उसे मुंबई लौटने का डर है तो उसने कहा, ‘सरकार मुझे कहीं भी रख सकती है- दिल्ली या मुंबई। लेकिन मेरे साथ कोई अन्याय नहीं होना चाहिए। मेरे खिलाफ जितने भी मामले हैं, वे झूठे हैं।’राजन ने कहा कि मुंबई पुलिस ने मेरे साथ अन्याय किया है। भारत सरकार अब यह देखे कि मेरे साथ न्याय हो।

राजन को हिरासत में लेने के लिए एक भारतीय दल अपने इंडोनेशियाई समकक्षों के साथ मिलकर काम कर रहा है। सीबीआइ, मुंबई पुलिस और दिल्ली पुलिस के अधिकारियों वाला भारतीय दल रविवार को यहां पहुंचा था। ये अधिकारी अपने साथ 55 वर्षीय राजन और भारत में विभिन्न अपराधों में उसकी संलिप्तता से जुड़ा एक विस्तृत डोजियर अपने साथ लेकर आए हैं।

इस दल ने सोमवार को पहली बार इंडोनेशियाई पुलिस की मौजूदगी में हिरासत केंद्र में उससे पूछताछ की। राजन पिछले 10 दिन से यहां बंद है। जकार्ता में भारतीय दूतावास के प्रथम सचिव (वाणिज्य दूत) संजीव कुमार अग्रवाल ने रविवार को लगभग आधे घंटे के लिए राजन से मुलाकात की थी। भारतीय दल ने जब राजन से पूछताछ की, उस समय अग्रवाल भी वहां मौजूद थे।

हिरासत केंद्र से बाहर लाए जाते समय राजन ने कहा था कि दाऊद फिलहाल पाकिस्तान में छिपा हुआ है और उसे आइएसआइ का सीधा संरक्षण मिला हुआ है। राजन ने कहा, ‘आइएसआइ छुपा रही है।’ मुंबई पुलिस ने राजन के खिलाफ हत्या के 20 मामले, आतंकी व बाधाकारी गतिविधि (निरोधक) कानून के तहत चार मामले, आतंकवाद रोकथाम कानून के तहत एक मामला और कड़े महाराष्ट्र संगठित अपराध नियंत्रण कानून के तहत 20 से ज्यादा मामले दर्ज किए हैं। दिल्ली पुलिस के पास उसके खिलाफ छह मामले हैं।

राजन का असली नाम राजेंद्र सदाशिव निखालजे है। ऑस्ट्रेलियाई अधिकरियों द्वारा इंडोनेशिया की पुलिस को खुफिया सूचना दिए जाने के बाद राजन को इंटरपोल के रेड कॉर्नर नोटिस के आधार पर बाली से गिरफ्तार किया गया था। वर्ष 2000 में राजन को मारने का प्रयास किया गया था। दाऊद के लोगों ने बैंकॉक के एक होटल में उसका पता लगा लिया था लेकिन वह नाटकीय ढंग से बच निकलने में कामयाब रहा था।

प्रत्यर्पण संधि के अभाव में भारतीय अधिकारी अपने इंडोनेशियाई समकक्षों को राजन की भारतीय पहचान से जुड़े दस्तावेज पहले ही उपलब्ध करवा चुके हैं ताकि उसका प्रत्यर्पण कराया जा सके। सूत्रों ने कहा कि राजन को जल्द ही भारत प्रत्यर्पित किया जा सकता है। भारत से यहां लाए गए विशेष विमान से उसे वापस ले जाया जाएगा। हालांकि ज्वालामुखी विस्फोट के कारण बाली में उड़ान भरने में आ रही समस्याओं के कारण इसमें देरी भी हो सकती है। इस लोकप्रिय पर्यटन द्वीप के पास ‘रिनजानी पर्वत’ में हुए ज्वालामुखी विस्फोट के कारण कई उड़ानें रद्द करनी पड़ी हैं। उधर मुंबई में मंगलवार को छोटा राजन का ‘दाहिना हाथ’ कहे जाने वाले नीलेश दिनकर परदकर उर्फ शट्लया को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। परदकर और एक अन्य गैंगस्टर रघु शेट्टी ने उपनगरीय क्षेत्र भांडूप स्थित स्लम पुनर्वास प्राधिकरण के एक डेवलपर से कथित तौर पर 15 करोड़ रुपए की मांग की थी। दोनों राजन से जुड़े रहे हैं।

मुंबई के संयुक्त पुलिस आयुक्त देवेन भारती ने कहा कि इस सिलसिले में, भांडूप पुलिस ने शट्लया को गिरफ्तार कर लिया। उन्होंंने कहा कि शेट्टी और राजन दोनों जबरन वसूली मामले में वांछित हैं। शट्लया ने पांच सितंबर को कथित रूप से राजन के कहने पर राशि की मांग की थी। शट्लया को गिरफ्तार कर लिया गया और भारतीय दंड संहिता तथा हथियार कानून की विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है।

मंगलवार को लखनऊ में भी उत्तर प्रदेश पुलिस की स्पेशल टास्क फोर्स ने छोटा राजन के गुर्गे के लिए काम करने वाले तीन बदमाशों को गिरफ्तार किया। एसटीएफ प्रवक्ता ने बताया कि तीनों बदमाश इं्रदेश कुमार सिंह, मोहम्मद सलीम उर्फ शेखू और रमेश कुमार बिन्द की गिरफ्तारी सोमवार को हुई। उन्होंने बताया कि तीनों अपराधी इलाहाबाद की नैनी जेल में बंद छोटा राजन के गुर्गे आजाद अंसारी उर्फ एजाज उर्फ नन्हें के लिए काम करते थे। अंसारी हत्या के मामले में आजीवन कारावास काट रहा है। उसका सगा मामा अनीस एडा भी छोटा राजन गैंग का सदस्य था, जिसकी हत्या मुंबई में दाउद गैंग ने करा दी थी।

प्रवक्ता के मुताबिक पूछताछ के दौरान तीनों बदमाशों ने बताया कि अंसारी ने उन्हें मुंबई के एक केबल व्यवसायी पर फायरिंग करने का जिम्मा सौंपा था ताकि डराकर उससे बडी रंगदारी वसूली जा सके। मुंबई निकलने से पहले ये लोग इलाहाबाद में जार्ज टाउन के पास अपनी साजिश को अंतिम रूप देने के लिए एकत्र हुए थे और एसटीएफ के हत्थे चढ़ गए।

भारत लाने की तैयारी
* सरकार मुझे कहीं भी रख सकती है- दिल्ली या मुंबई लेकिन मेरे साथ नाइंसाफी नहीं होनी चाहिए
* दाऊद फिलहाल पाकिस्तान में है और उसे आइएसआइ का सीधा संरक्षण मिला हुआ है

लगातार ब्रेकिंग न्‍यूज, अपडेट्स, एनालिसिस, ब्‍लॉग पढ़ने के लिए आप हमारा फेसबुक पेज लाइक करेंगूगल प्लस पर हमसे जुड़ें  और ट्विटर पर भी हमें फॉलो करें

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories