ताज़ा खबर
 

डलास गोलीबारी: पुलिसकर्मियों पर फायरिंग करने वाला ‘जेवियर’ अफगानिस्तान में तैनात अमेरिकी सेना में था

जॉनसन की गोलीबारी ने एक अहिंसक रैली को खून के सैलाब में बदल दिया। जॉनसन ने नरसंहार के बीच पुलिस वार्ताकार को बताया कि वह श्वेत अधिकारियों को निशाना बनाना चाहता था
Author ह्यूस्टन | July 9, 2016 12:40 pm
25 वर्षीय मीकाह जेवियर जॉनसन (Facebook via REUTERS)

अमेरिका में इस सप्ताह पुलिस द्वारा अश्वेत व्यक्ति को गोली मारे जाने के विरोध में डलास शहर में हो रहे विरोध प्रदर्शन में पुलिसकर्मियों पर गोालीबारी करने वाले स्निपर की पहचान सेना के एक पूर्व रिजर्विस्ट के रूप में की गई है। स्पिनर ने 12 पुलिस अधिकारियों को गोलियां मारीं जिससे पांच पुलिसकर्मियों की मौत हो गई और कई अन्य घायल हो गए। कानून प्रवर्तन सूत्रों के बताया कि 25 वर्षीय मीकाह जेवियर जॉनसन ने जब गुरुवार (7 जुलाई) रात को ‘ब्लैक लाइफ्स मैटर’ प्रदर्शन के दौरान डलास में श्वेत पुलिसकर्मियों को निशाना बनाना शुरू किया था, उस समय उसने शरीर पर कवच पहन रखा था और उसके पास एक एसकेएस अर्द्ध स्वचालित असॉल्ट राइफल और एक पिस्तौल थी।

पुलिस को शुक्रवार (8 जुलाई) को जॉनसन के घर की तलाशी के दौरान बम बनाने का सामान, बैलिस्टिक वेस्ट, राइफलें, गोला बारूद और एक पत्रिका मिली जिसमें युद्ध की तकनीकों के बारे में बताया गया था। जॉनसन ने ‘घात लगाकर किए गए हमले के दौरान’ वार्ताकारों को बताया कि वह ‘श्वेत लोगों को मारना चाहता है’। अधिकारियों ने बताया कि जॉनसन युद्ध के हथियारों का इस्तेमाल करने के मामले में पूरी तरह प्रशिक्षित था। उसने वर्ष 2015 तक छह वर्षों के लिए एक रिजर्विस्ट के तौर पर अपनी सेवाएं दी थीं और उसे नवंबर 2013 एवं जुलाई 2014 के बीच अफगानिस्तान में तैनात किया गया था।

डलास पुलिस ने शुक्रवार (8 जुलाई) अपराह्न जारी एक बयान में बंदूकधारी की पहचान की पुष्टि की और कहा कि उसे जानने वाले कुछ लोगों ने उसे ‘अकेला’ बताया था। जांचकर्ता पत्रिका में मौजूद सूचना का विश्लेषण कर रहे हैं। वह बढ़ई एवं राजमिस्त्री के काम का विशेषज्ञ था। उसे आर्मी अचीवमेंट मेडल से भी सम्मानित किया गया था लेकिन उसकी इकाई के सदस्यों के बीच उसकी कोई खास छवि नहीं थी। जॉनसन के साथ पूर्व में काम कर चुके वेल्स न्यूसम ने फेसबुक पर लिखा, ‘हम सभी जानते थे कि वह विकृत सोच का व्यक्ति था क्योंकि उसे लड़कियों के अंत:वस्त्र चुराते पकड़ा गया था लेकिन पुलिसकर्मियों की हत्या करना तो अलग ही कहानी है।’ उसने कहा, ‘आपको वास्तव में नहीं पता होता कि कोई क्या कर सकता है और जब पता चलता है तो बहुत देर हो जाती है।’

एक अन्य साथी लुई कांतो ने कहा कि जॉनसन का व्यक्तित्व अजीब सा था। कांतो ने फेसबुक पर लिखा, ‘हम सभी जानते थे कि वह अजीब था लेकिन इस बात का कोई अंदाजा नहीं था कि वह यह भी कर सकता है।’ जॉनसन के सोची समझी साजिश के तहत पुलिसकर्मियों की हत्या करने से उसके परिवार के सदस्य हैरान हैं। जॉनसन का कोई आपराधिक रिकॉर्ड नहीं था या उसके किसी आतंकवादी समूह से संबंध नहीं था। जॉनसन की बहन निकोल ने फेसबुक पर एक पोस्ट के जरिए कहा, ‘मैं कह रही हूं कि यह सच नहीं है। मेरी आंखें रो-रोकर दुखने लगी हैं। वह ही क्यों? वह क्यों डलास में था?’ निकोल ने एक अन्य पोस्ट में लिखा, ‘समाचारों में बताया जा रहा है कि वे क्या सोचते हैं लेकिन उसे जानने वाले लोग जानते हैं कि वह ऐसा नहीं था। यह हमारा सबसे बड़ा नुकसान है।’

इस बीच लुइसियाना के श्वेत पुलिस अधिकारियों द्वारा मारे गए अश्वेत एल्टन स्टर्लिंग (37) की मां क्विनयेट्टा मैक्मिलन ने कहा कि वह गोलीबारी में अधिकारियों के मारे जाने से ‘बहुत दुखी’ हैं और वह ‘समझ सकती हैं कि परिजनों पर क्या गुजर रही होगी।’ स्टर्लिंग के मारे जाने की घटना समेत पुलिस की गोलीबारी की हालिया घटनाओं के विरोध में डलास में प्रदर्शन किया गया था। जॉनसन की गोलीबारी ने एक अहिंसक रैली को खून के सैलाब में बदल दिया। जॉनसन ने नरसंहार के बीच पुलिस वार्ताकार को बताया कि वह श्वेत अधिकारियों को निशाना बनाना चाहता था क्योंकि वह पुलिसकर्मियों द्वारा लोगों को मारे जाने की हालिया घटनाओं से नाराज था।

डलास पुलिस प्रमुख डेविड ब्राउन ने कहा, ‘वह पुलिस की गोलीबारी की हालिया घटनाओं के कारण नाराज था। संदिग्ध ने कहा कि वह श्वेत लोगों से नाराज था। संदिग्ध ने बताया कि वह श्वेत लोगों, खासकर श्वेत अधिकारियों की हत्या करना चाहता था।’ जॉनसन पुलिस द्वारा संचालित विस्फोटक से लदे रोबोट के जरिए मारा गया। फेसबुक प्रोफाइल तस्वीर में जॉनसन वह ‘दाशिकी’ पहने हुए हैं और उसने अश्वेत शक्ति सलामी के अंदाज में मुट्ठी बांधे हवा में हाथ उठाया हुआ है। उसने ब्लैक राइडर्स लिबरेशन पार्टी एवं द न्यू ब्लैक पैंथर्स पार्टी समेत अश्वेत राष्ट्रवाद से जुड़े कई समूहों के लिए समर्थन दिखाया था। जॉनसन की सौतेली मां डोना फेरियर ने जॉनसन की एक तस्वीर पोस्ट की है जिसमें उसने वर्दी पहन रखी है और वह एक सैन्य वाहन चला रहा है। डोना एक श्वेत है।

डलास अपराध जांचकर्ता शुक्रवार (8 जुलाई) सुबह कई घंटों तक डलास के बाहर करीब 12 मील दूर स्थित मेस्कीट में जॉनसन के घर में थे। पड़ोसियों ने कहा कि जॉनसन शांत एवं हँसमुख था लेकिन वह मुख्य रूप से स्वयं तक ही सीमित रहता था। डलास के मेयर माइक रोलिंग ने बताया कि जांच जारी है इसलिए गोलीबारी के मामले में गिरफ्तार तीन अन्य संदिग्धों के बारे में अभी कोई सूचना जारी नहीं की जाएगी। ब्राउन ने कहा, ‘कुछ संदिग्धों संबंधी जांच के जरिए हमें यह पता चला कि यह सुनियोजित, सोजी समझी साजिश के तहत संदिग्धों द्वारा अंजाम दी गई त्रासद घटना थी। हम तब तक चैन से नहीं बैठेंगे, जब तक हर अपराधी को न्याय के दायरे में नहीं लाया जाता।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App