ताज़ा खबर
 

खाड़ी युद्ध के बाद कच्चे तेल के दाम में सबसे बड़ी गिरावट, कमी के बाद कीमतों में फिर उछाल

वेस्ट टेक्सास इंटरमीडिएट में 6.1 प्रतिशत की तेजी के साथ 33 डॉलर प्रति बैरल के भाव पर कारोबार हो रहा था, जबकि ब्रेंट क्रूड 6.6 प्रतिशत बढ़कर 36 डॉलर प्रति बैरल से अधिक हो गया।

तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीकात्मक रूप से किया गया है।

एशियाई बाजारों में मंगलवार (10 मार्च, 2020) को कच्चे तेल की कीमतों में छह प्रतिशत का उछाल आया, जबकि इससे एक दिन पहले सऊदी अरब द्वारा शुरू किए गए कीमत युद्ध के चलते तेल के दामों में भारी गिरावट दर्ज की गई थी। वेस्ट टेक्सास इंटरमीडिएट में 6.1 प्रतिशत की तेजी के साथ 33 डॉलर प्रति बैरल के भाव पर कारोबार हो रहा था, जबकि ब्रेंट क्रूड 6.6 प्रतिशत बढ़कर 36 डॉलर प्रति बैरल से अधिक हो गया। इससे पहले सोमवार को कच्चे तेल की कीमतों में 1991 के खाड़ी युद्ध के बाद सबसे बड़ी गिरावट आई थी। सऊदी अरब ने अपनी बाजार हिस्सेदारी बनाए रखने के लिए कीमतों में भारी कटौती का ऐलान किया था, जिसके चलते यह गिरावट हुई।

इससे पहले अमेरिकी शेयर बाजार वॉल स्ट्रीट सोमवार को खुलते ही लड़खड़ा गया और बाजार में कारोबार थोड़े समय के लिए रोकना पड़ा। चीन से शुरू कोरोना वायरस का संक्रमण दुनिया भर में फैलने और खनिज तेल बाजार में भारी गिरावट से दुनिया भर के बाजारों में निवेशकों के बीच घबराहट रही और बिकवाली का भारी दबाव था। वॉल स्ट्रीट के प्रमुख सूचकांक एसएंडपी 500 में सात प्रतिशत की तेज गिरावट के बाद बाजार मंच पर लेन-देन 15 मिनट के लिए स्थगित कर दिया गया।

ग्रीनविच समय के अनुसार 1400 बजे (भारतीय समय के अनुसार शाम 7.30 बजे) एसएंडपी 500 पिछले बंद की तुलना में 6.6 प्रतिशत गिर कर 2,776.47 पर चल रहा था। इसी तरह डाउजोन्स इंडस्ट्रियल एवरेज भी 6.9 प्रतिशत का गोता लगा कर 24,087.20 अंक और प्रौद्योगिकी कंपनियों के शेयरों के कारोबार के लिए प्रसिद्ध नासडैक कंपोजिट सूचकांक 6.2 प्रतिशत गिर कर 8,042.17 पर आ गया था।

Next Stories
1 अफगानिस्तानः राष्ट्रपति अशरफ गनी के शपथ ग्रहण समारोह के पास बम विस्फोट व फायरिंग, मंच पर मची अफरा-तफरी
2 पाकिस्तान में 1000 साल पुराने मंदिर के 70 साल बाद खुले दरवाजे, तीन पीढ़ियां एक साथ कर रहीं पूजा
3 VIDEO: महिलाओं के पैदल मार्च पर लाल मस्जिद से बरसाए गए पत्थर, सोशल मीडिया पर लोग बोले- पाकिस्तान में गधे के रूप में जन्म लेना ज्यादा बेहतर
ये पढ़ा क्या?
X