ताज़ा खबर
 

Coronavirus: NYT ने चेताया- अमेरिका भी जल्द लागू करें भारत जैसा लॉकडाउन, वरना भुगतने पड़ सकते हैं बुरे अंजाम

Coronavirus: अमेरिका में कोरोना वायरस के एक दिन में ही करीब 10,000 मामले सामने आए हैं जबकि 150 अमेरिकियों ने इस संक्रमण से अपनी जान गंवा दी है।

जॉन्स हॉपकिन्स कोरोना वायरस ट्रैकर के मुताबिक अमेरिका में 54,000 से ज्यादा कोरोना वायरस के संक्रमितों की पुष्टि हो चुकी है जबकि इस महामारी से 800 के करीब लोगों की मौत हो चुकी है। (विकीपीडिया)

Coronavirus: वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के खिलाफ भारत द्वारा 21 दिनों के लॉकडाउन का समर्थन करते हुए अमेरिकी दैनिक समाचार न्यूयार्क टाइम्स (NYT) ने देश में इसी तरह के बड़े कदम उठाने की वकालत की है। अमेरिका में अभी तक करीब 60,000 के करीब कोरोना वायरस के मामले सामने आ चुके हैं जबकि सैकड़ों लोगों की इस महामारी से मौत हो चुकी है।

बीते सोमवार को अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने संकेत दिया कि कोरोना वायरस के संकमण से निपटने के लिए जो सुझाव दिए गए हैं उनका पूरी तरह से पालन करने की संभावना नहीं है। क्योंकि इस तरह के कदम उठाने से देश की अर्थव्यवस्था पर जबरदस्त असर पड़ेगा। जॉन्स हॉपकिन्स कोरोना वायरस ट्रैकर के मुताबिक अमेरिका में 54,000 से ज्यादा कोरोना वायरस के संक्रमितों की पुष्टि हो चुकी है जबकि इस महामारी से 800 के करीब लोगों की मौत हो चुकी है।

न्यूयॉर्क टाइम्स ने अपने प्रमुख संपादकीय में कहा, ‘महामारी का सबसे बुरा वक्त अभी तक आना बाकी है। मेडिकल एक्सपर्ट्स की मानें तो यह राष्ट्रीय लॉकडाउन का समय है।’ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा पूरे भारत में 21 दिनों के लॉकडाउन की घोषणा के कुछ घंटे बाद छपे संपादकीय में भारत जैसा कदम उठाने की बात कही गई है।

संपादकीय में लिखा गया, ‘राष्ट्रपति ट्रम्प को अमेरिकियों और उनकी आजीविका की रक्षा के लिए कोरोनो वायरस से निपटने के लिए दो सप्ताह के लिए राष्ट्रीय लॉकडाउन घोषित करने की जरुरत है।’ मंगलवार को प्रधानमंत्री मोदी ने अगले तीन हफ्तों के लिए 1.3 अरब की आबादी के लिए घर छोड़ने पर रोक लगाने का आदेश दिया था। उन्होंने लोगों को चेतावनी देते हुए कहा, ‘अगर आप इन 21 दिनों को नहीं संभाल सकते, तो यह देश 21 साल पीछे चला जाएगा।’

उल्लेखनीय है कि अमेरिका में कोरोना वायरस के एक दिन में ही करीब 10,000 मामले सामने आए हैं जबकि 150 अमेरिकियों ने इस संक्रमण से अपनी जान गंवा दी है। वहीं, राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने 12 अप्रैल यानी ईस्टर तक देश की अर्थव्यवस्था के पटरी पर आने की उम्मीद जताई है।

लाखों अमेरिकियों के लॉकडाउन होने, नेशनल गार्ड और सैन्य बलों की कई राज्यों में तैनाती के बावजूद न्यूयॉर्क में ही कम से कम 53 लोगों की मौत हो गई और मंगलवार को कम से कम 5,000 नए मामले सामने आए। न्यूयॉर्क में अभी तक कोविड-19 के 25,000 से अधिक मामले सामने आए हैं और 210 लोगों की मौत हो चुकी है।

कोविड-19 के मामलों की जानकारी देने वाली वेबसाइट वर्ल्डोमीटर के अनुसार, अकेले मंगलवार को देशभर में संक्रमण के करीब 10,000 नए मामले सामने आए। न्यूयॉर्क, न्यू जर्सी के अलावा कैलिफोर्निया, मिशिगन, इलिनोइस और फ्लोरिडा भी कोरोना वायरस के केंद्र बन चुके हैं। हालांकि इस बीमारी की चपेट में सबसे पहले आए वाशिंगटन राज्य में कोई नया मामला या मौत की खबर नहीं आई है। (एजेंसी इनपुट)

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories