ताज़ा खबर
 

दुनिया भर में रिकॉर्ड तोड़ रहा कोरोना, WHO बोला- भूल जाइए पुराने अंदाज में जीना

डब्लूएचओ के डायरेक्टर जनरल टेड्रोस गैब्रिएसस का कहना है कि "हम पहले जैसा सामान्य नहीं होने वाले हैं। माहमारी ने पहले ही हमारे जीने का तरीका काफी बदल दिया है।

COVID-19 coronavirus whoकोरोना वायरस के मामलों में देश में जबरदस्त उछाल देखा जा रहा है। (PTI Photo)

कोरोना संक्रमण ने लगभग पूरी दुनिया को अपनी चपेट में ले लिया है और हर दिन यह संक्रमण बढ़ता ही जा रहा है। बीते हफ्ते में करीब 40 देशों में हर दिन सामने आने वाले कोरोना के मामलों में रिकॉर्ड बढ़ोत्तरी देखी गई है। रायटर्स की एक रिपोर्ट के अनुसार, बीते हफ्ते के मुकाबले यह करीब दोगुने हो गए हैं। अमेरिका, ब्राजील और भारत के अलावा ऑस्ट्रेलिया, जापान, हॉन्ग कॉन्ग, बोलीविया, सूडान, इथोपिया, बुलगारिया, बेल्जियम, उज्बेकिस्तान और इजरायल आदि देशों में कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं।

कई देशों ने खासकर वहां जहां लॉकडाउन, सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों में थोड़ी ढील दी गई है, वहां भी अब कोरोना माहमारी के फिर से बढ़ने का खतरा पैदा हो गया है। डब्लूएचओ के डायरेक्टर जनरल टेड्रोस गैब्रिएसस का कहना है कि “हम पहले जैसा सामान्य नहीं होने वाले हैं। माहमारी ने पहले ही हमारे जीने का तरीका काफी बदल दिया है। हम लोगों से अपील करते हैं कि वह किसी से मिलने और बाहर जाने के फैसले को जिंदगी और मौत का फैसला समझें, क्योंकि ये है भी।”

आंकड़ों के मुताबिक तीन हफ्ते पहले कम से कम 7 देशों में हर दिन कोरोना के मामले रिकॉर्ड तेजी से बढ़ रहे थे, जो कि दो हफ्ते पहले बढ़कर 13 देश हो गए। वहीं बीते हफ्ते 37 देशों में कोरोना के मामले हर रोज तेजी से बढ़ रहे हैं।

स्वास्थ्य विशेषज्ञों का कहना है कि जो देश गरीब हैं या जहां हेल्थ सिस्टम उतना मजबूत नहीं है, वहां कोरोना के मामलों और उससे होने वाले मौतों के आंकड़े भी कम रिपोर्ट हो रहे हैं। अमेरिका में कोरोना के सबसे ज्यादा मामले हैं। इस हफ्ते वहां कोरोना के कुल मामले बढ़कर 40 लाख के पार चले गए हैं। यहां बीते चार दिनों से हर रोज 1000 से ज्यादा कोरोना मरीजों की मौत हो रही है। ब्राजील और भारत में भी कोरोना के मामले 10 लाख के पार चले गए हैं।

रिपोर्ट के मुताबिक कोरोना की दूसरी लहर आ रही है। कई देशों ने आंशिक लॉकडाउन लागू कर दिया है। ऑस्ट्रेलिया और जापान ने चेतावनी दी है कि सोशल डिस्टेंसिंग पालन नहीं करने के कारण युवाओं में कोरोना के मामले फिर से तेजी से बढ़ सकते हैं। बता दें कि कई देशों में लॉकडाउन में छूट दी गई है, जिसके चलते बड़ी संख्या में युवा लोग बाहर निकल रहे हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 चीन में सरकार और वैज्ञानिकों के बीच टकराव, सबसे बड़े परमाणु सेंटर से 90 वैज्ञानिकों ने एकसाथ दिया इस्तीफा, बेवजह दबाव बनाने का आरोप
2 9 साल पहले मंगल मिशन में मिली थी असफलता, अब चीन ने सफलतापूर्वक लॉन्च किया मंगल यान
3 आतंकियों ने मारी मां-बाप को गोली, नाबालिग लड़की ने राइफल से दो तालिबानी आतंकवादियों को मार पूरा किया बदला
राशिफल
X