ताज़ा खबर
 

कोरोना संकटः डोनाल्ड ट्रंप ने मांगी मदद, पर चेताया भी- भारत ने नहीं दी Hydroxychloroquine तो हम भी देंगे जवाब

अमेरिकी राष्ट्रपति मीडिया को संबोधित कर कहा कि अगर भारत हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन दवा सप्लाई करता है तो ठीक, वरना हम जवाबी कार्रवाई करेंगे।

अमेरिका के राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने भारत को चेताया। (pc-ANI)

अमेरिका में कोरोना वायरस का संक्रमण बहुत तेजी से फ़ेल रहा है। ऐसे में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भारत से इस संबंध में मदद मांगी है। ट्रंप ने इसके साथ-साथ भारत को चेतावनी भी दी है कि अगर वह मदद नहीं करेगा तो हम भी इसका जवाब देंगे। अमेरिकी राष्ट्रपति मीडिया को संबोधित कर कहा कि अगर भारत हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन दवा सप्लाई करता है तो ठीक, वरना हम जवाबी कार्रवाई करेंगे। बता दें कि हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन दवा मलेरिया के लिए होता है, जिसका भारत प्रमुख निर्यातक रहा है।

न्यूज़ एजेंसी एएनआई के मुताबिक ट्रंप ने मीडिया से कहा कि भारत कई वर्षों से अमेरिकी व्यापार नियमों का फायदा उठा रहा है, और ऐसे में अगर नई दिल्ली हाइड्रोक्सी क्लोरोक्वाइन के निर्यात को रोकता है, तो उन्हें हैरानी होगी।

उन्होंने कहा, “अगर ये उनका निर्णय है, तो मुझे हैरानी होगी। उन्हें इस बारे में मुझे बताना होगा। मैंने रविवार सुबह उनसे बात की, उन्हें फोन किया, और मैंने कहा कि हम इस बात की सराहना करेंगे, यदि आप आपूर्ति होने देंगे। अगर वे इसकी इजाजत नहीं देंगे, तो कोई बात नहीं, लेकिन जाहिर तौर पर इसकी प्रतिक्रिया हो सकती है। क्यों नहीं होनी चाहिए?”

ट्रंप ने आगे कहा कि भारत ने अमेरिका के साथ हमेशा बहुत अच्‍छा व्‍यवहार किया है। मैं समझता हूं कि भारत हमारी मदद करेगा और हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन सप्लाई करेगा। व्‍हाइट हाउस में मीडिया से बातचीत में ट्रंप ने कहा, ‘मैंने यह कहीं सुना कि यह उनका (पीएम मोदी) का फैसला था। मैं जानता हूं कि उन्‍होंने इस दवा को अन्‍य देशों के निर्यात के लिए रोक लगाई है। मैंने उनसे कल बात की थी। हमारी बातचीत बहुत अच्‍छी रही।’

Coronavirus in India LIVE Updates: यहां पढ़ें कोरोना वायरस से जुड़ी सभी लाइव अपडेट 

अमेरिकी राष्ट्रपति के आग्रह पर भारत ने कहा है कि एक जिम्मेदार देश होने के नाते हमसे जितना हो सकेगा, हम मदद करेंगे। भारत ने अमेरिका को स्पष्ट तौर पर बताया कि हम अपने 130 करोड़ की आबादी को कोरोना वायरस महामारी से सुरक्षित करने के बाद ही कोरोना वायरस के मरीजों और स्वास्थ्यकर्मियों के रोगनिरोधी दवा हाइड्रोक्सीक्लोरोक्विन की आपूर्ति करेंगे।

कोरोना वायरस के संक्रमण से दुनिया के सबसे शक्तिशाली देश अमेरिका में कोहराम मचा हुआ है। कोरोना वायरस से पिछले 24 घंटों में अमेरिका में 1150 लोगों की मौत हुई है। इससे एक दिन पहले भी अमेरिका में 1200 लोगों की जान चली गई थी। अमेरिका में कोरोना से मरने वालों की संख्या 10 हजार के ऊपर पहुंच गई है।

जानिये- किसे मास्क लगाने की जरूरत नहीं और किसे लगाना ही चाहिए |इन तरीकों से संक्रमण से बचाएं क्या गर्मी बढ़ते ही खत्म हो जाएगा कोरोना वायरस? । इन वेबसाइट और ऐप्स से पाएं कोरोना वायरस के सटीक आंकड़ों की जानकारी, दुनिया और भारत के हर राज्य की मिलेगी डिटेल । कोरोना संक्रमण के बीच सुर्खियों में आए तबलीगी जमात और मरकज की कैसे हुई शुरुआत, जान‍िए

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Corornavirus Crisis: 40 म‍िनट में 6 मौतें, लाश समेटने के 30 म‍िनट के भीतर बेड पर नया मरीज- युद्ध जैसा अस्‍पतालों का हाल
2 विश्व भर में 10 लाख से अधिक लोग कोरोना संक्रमित, US में मौतों का सिलसिला जारी; जापान लगा सकता है इमरजेंसी
3 लैब में मारा गया कोरोना! वैज्ञानिकों ने बताया 48 घंटों में एंटी पैरासाइटिक ड्रग से वायरस हुआ ढेर