ताज़ा खबर
 

Corona Virus को लेकर शी जिनपिंग सरकार की आलोचना करने पर एक्टिविस्ट हुआ गिरफ्तार, सवाल उठाने पर चीन में कसा जा रहा शिकंजा

Corona Virus spread in china: एमनेस्टी इंटरनेशनल से चाइना रिसर्चर के तौर पर जुड़े पैट्रिक पून ने कहा कि चीन सरकार कोरोना वायरस से निपटने की बजाय लगातार अपनी नाकामियों पर सवाल उठाने वाले लोगों पर कार्रवाई कर रही है।

चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग (फोटो सोर्स: इंडियन एक्सप्रेस)

Corona Virus outbreak in china: कोरोना वायरस से निपटने को लेकर चीन की शी चिनपिंग सरकार की आलोचना करने वालों को पुलिस कार्रवाई का सामना करना पड़ रहा है। कई सप्ताह से गायब चल रहे और कोरोना वायरस से निपटने में सरकार को नाकाम बताने वाले एक्टिविस्ट को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। एमनेस्टी इंटरनेशनल के मुताबिक भ्रष्टाचार विरोधी अभियान चलाने वाले शू झियोंग को शनिवार को गिरफ्तार किया गया। वह दिसंबर से ही पुलिस की गिरफ्तारी से बचने के लिए लापता चल रहे थे।

चीन की सत्ताधारी कम्युनिस्ट पार्टी पर शी जिनपिंग के 2012 में सत्ता में आने के बाद से नागरिक अधिकारों में कमी करने के आरोप लगते रहे हैं। कई मानवाधिकार समूहों, लेबर एक्टिविस्ट्स और मार्क्सवादी छात्रों तक पुलिस ने कई बार कार्रवाई की है। हाल ही में कोरोना वायरस का खतरा सबसे पहले बताने वाले एक डॉक्टर की मौत ने भी चीन सरकार पर सवाल खड़े किए हैं। कहा जा रहा है कि उन्हें कोरोना के बारे में चर्चा करने को लेकर पुलिस की ओर से काफी प्रताड़ित किया जा रहा था।

नाकामियों पर सवाल उठाने वालों पर कार्रवाई: एमनेस्टी इंटरनेशनल से चाइना रिसर्चर के तौर पर जुड़े पैट्रिक पून ने कहा कि चीन सरकार कोरोना वायरस से निपटने की बजाय लगातार अपनी नाकामियों पर सवाल उठाने वाले लोगों पर कार्रवाई कर रही है। एक अन्य सूत्र ने नाम उजागर न करते हुए बताया कि एक्टिविस्ट शू को गुआंगझू शहर से अरेस्ट किया गया था। पुलिस ने इस बारे में अब तक कोई टिप्पणी नहीं की है।

एक मीटिंग से खफा थी सरकार: दरअसल दिसंबर महीने में फुजियान प्रांत के शियामेन में राजनीतिक सुधार को लेकर बुद्धिजीवियों की एक बैठक से सरकार खफा हो गई थी। इसके बाद शू की गिरफ्तारी के आदेश दिए गए थे, जिससे बचने के लिए वह छिपे हुए थे, लेकिन आखिर में उन्हें शनिवार को अरेस्ट कर लिया गया।

Next Stories
1 उइगर मुस्लिमों को दाढ़ी रखने और नमाज पढ़ने तक पर कैद कर रहा है चीन, डिटेंशन कैंपों को दिया ट्रेनिंग कैंप का नाम
2 ट्रंप बोले- लोकप्रियता के मामले में फेसबुक पर मैं पहले और मोदी दूसरे स्थान पर, यह सम्मान की बात है
3 यूएई में बन रहा पहला मंदिर, बिना लोहा-स्‍टील होगा तैयार, जानिए कैसे होगा निर्माण
यह पढ़ा क्या?
X