ताज़ा खबर
 

कनाडा के पीएम के लिए डिनर, मेहमान बना भारतीय मंत्री पर जानलेवा हमले का दोषी सिख अलगाववादी

अटवाल ने साल 1986 में भारतीय कैबिनेट मंत्री मलकीत सिंह सिद्धू पर वैंकूअर के द्वीप पर हमला किया था। सीबीसी न्यूज ने कनाडाई पीएम के दफ्तर से इस बारे में पूछा तो अटवाल के भेजे गए न्योते की बात सामने आई।

जस्टिन ट्रूडो की पत्नी सोफी और जसपाल अटवाल की यह तस्वीर 20 फरवरी को मुंबई के एक कार्यक्रम के दौरान की है। (फोटो: सीबीसी न्यूज)

कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो के लिए आयोजित डिनर पार्टी में भारतीय मंत्री पर जानलेवा हमले के दोषी को आमंत्रित किया गया। गुरुवार को इस कार्यक्रम का आयोजन देश की राजधानी दिल्ली में कनाडा के हाई कमीशन ने किया। इस कार्यक्रम में सिख अलगाववादी जसपाल अटवाल को बतौर मेहमान डिनर में शरीक होने के लिए न्योता भेजा गया था। अटवाल ने साल 1986 में भारतीय कैबिनेट मंत्री मलकीत सिंह सिद्धू पर वैंकूअर के द्वीप पर हमला किया था। सीबीसी न्यूज ने कनाडाई पीएम के दफ्तर से इस बारे में पूछा तो अटवाल के भेजे गए न्योते की बात सामने आई। सीबीसी न्यूज को भेजे ई-मेल पर पीएमओ की ओर से एलियनोर कैटनेरो ने कहा, “हाई कमीशन की ओर से डिनर में अटवाल का न्योता रोका जाएगा, जिसके लिए उचित कदम उठाए जा रहे हैं।” बाद में पीएमओ की ओर से पत्रकार को दिए गए जवाब में साफ किया गया कि अटवाल को भेजा गया निमंत्रण रद्द कर दिया गया है।

न्यूज रिपोर्ट्स के अनुसार, सिख अलगाववादी ने जिस वक्त भारतीय मंत्री पर हमला किया था, तब वह इंटरनेशनल सिख यूथ फेडरेशन का सदस्य था। ऐसे में कनाडा के साथ ब्रिटेन, अमेरिका और भारत ने उस पर प्रतिबंध लगा दिया था। इतना ही नहीं, 1985 में उस पर ऑटोमोबाइल फर्जीवाड़े के एक मामले का आरोप लगा था, लेकिन वह इसमें दोषी नहीं पाया गया था।

कनाडा हाई कमीशन की ओर आयोजित डिनर के लिए अटवाल को भेजे गए निमंत्रण का स्क्रीनशॉट। (फोटोः सीबीसी न्यूज)

सीबीसी न्यूज के पास कुछ ऐसी तस्वीरें भी हैं, जिनमें अटवाल कनाडाई पीएम की पत्नी सोफी ज्रेजॉइर ट्रूडो और कैबिनेट मंत्री अमरजीत सोही के साथ नजर आ रही हैं। यह तस्वीर मंगलवार को मुंबई में आयोजित एक फिल्म कार्यक्रम के दौरान की थी। आपको बता दें कि कनाडाई पीएम ट्रूडो इस वक्त भारतीय दौरे पर हैं। सोमवार शाम वह भारत आए थे, जिसके बाद उन्होंने अमृतसर और दिल्ली में समय बिताया। वहीं, अभी तक यह पता नहीं लग सका है कि आखिर मेहमानों की सूची में अटवाल का नाम कैसे आया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App