ताज़ा खबर
 

वीडियो: सिंगापुर में बोलते-बोलते भावुक हो गए राहुल गांधी, कहा- पता था दादी, पापा मारे जाएंगे

राहुल बोले, "इसी दौरान राजीव गांधी के दोस्त के एक भाई ने मुझे फोन किया और कहा मेरे पास आपके लिए एक बुरी खबर है, इसके बाद मैंने कहा, "क्या वो मर गये, उन्होंने कहा- हां।" इसके बाद फोन कट गया।

सिंगापुर में आईआईएम के कार्यक्रम में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी (फोटो-Twitter/@INCIndia)

विदेश दौरे पर गये राहुल गांधी ने सिंगापुर में अपनी निजी जिंदगी से जुड़े कई अनुभवों को लोगों के साथ साझा किया है। आईआईएम सिंगापुर के एक कार्यक्रम में कांग्रेस अध्यक्ष ने अपनी जिंदगी के उन पलों के बारे में बताया जब उनकी दादी और देश की प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की हत्या कर दी गई थी, राहुल गांधी ने उस दौर के याद को ताजा किया जब उनके सिर से पिता राजीव गांधी का साया उठ गया था। कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि उस राजनीतिक माहौल में रहते-रहते उन्हें आभास हो गया था कि उनकी दादी और पापा मारे जाएंगे।

राहुल गांधी ने कहा कि 1984 से वह सुबह-शाम और रात को 15 सुरक्षा गार्डों से घिर रहते हैं और यह सुरक्षा घेरा उनकी जिंदगी में शामिल हो चुका है।कार्यक्रम में राहुल गांधी से जब पूछा गया कि जब उनके पिता की हत्या हुई थी तो वह कहां थे और उन्हें ये सूचना कैसे मिली तो राहुल भावुक हो गये और अतीत की यादों में चले गये। राहुल कुछ पलों के लिए रुके और कहा, “दरअसल हमलोग जानते थे कि पापा मारे जाएंगे, दादी मारी जाएंगी, ये ऐसा तथ्य नहीं था जिसके बारे में हमें पता नहीं था।”

HOT DEALS
  • Moto Z2 Play 64 GB Lunar Grey
    ₹ 14705 MRP ₹ 29499 -50%
    ₹2300 Cashback
  • Vivo V5s 64 GB Matte Black
    ₹ 13099 MRP ₹ 18990 -31%
    ₹1310 Cashback

राहुल ने कहा कि राजनीति में जब आप गलत ताकतों से टकराते हैं, और आप किसी चीज पर अपना स्टैंड लेते हैं तो आप मारे जाएंगे, ये बहुत स्पष्ट है। राहुल गांधी ने कहा कि भारत की राजनीतिक व्यवस्था को वह तब से ही देखते आ रहे थे जब वह एक छोटे बच्चे थे। गांधी फैमिली में होने वाली बातों का जिक्र करते हुए राहुल ने कहा कि उनकी दादी ने उन्हें बता दिया था कि वो मारी जाएंगी। राहुल ने आगे कहा, “जहां तक पापा की बात है मैंने उन्हें कह दिया था कि वे मारे जाएंगे।”

इसके बाद राहुल ने बताया कि राजीव की हत्या के वक्त वह कहां थे। कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि वह उस वक्त बॉस्टन में हार्वर्ड विश्वविद्यालय में थे। राहुल ने कहा कि भारत में होने वाले चुनाव प्रचार के बारे में चर्चा हो रही थी। हम जानते थे कि यह चुनाव मुश्किल होने वाला है। राहुल बोले, “इसी दौरान राजीव गांधी के दोस्त के एक भाई ने मुझे फोन किया और कहा मेरे पास आपके लिए एक बुरी खबर है, इसके बाद मैंने कहा, “क्या वो मर गये, उन्होंने कहा- हां।” इसके बाद फोन कट गया। राहुल गांधी ने कहा कि राजनीति में हम लोग ऐसी ताकतों से संघर्ष करते हैं जो दिखते नहीं हैं, ये लोग पब्लिक को नजर नहीं आते, लेकिन ये आपको नुकसान पहुंचा सकते हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App