ताज़ा खबर
 

चीन के उप-प्रधानमंत्री बोले- पाकिस्तान-चीन की दोस्ती “स्टील” से भी ज्यादा मजबूत

इस्लामाबाद के कन्वेंशन सेंटर में ध्वजारोहण समारोह में शामिल हुए वांग ने कहा कि चीन और पाकिस्तान मुश्किल समय में एक दूसरे के साथ खड़े रहे हैं और 'यह दोस्ती समय की कसौटी पर खरी उतरेगी और आने वाली पीढ़ियों के साथ और मजबूत होगी।'
Author , इस्लामाबाद | August 14, 2017 16:58 pm
चीन के राष्‍ट्रपति शी जिनपिंग के साथ पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ। (फ़ोटो-एपी/पीटीआई)

पाकिस्तान ने सोमवार को चीन के उप प्रधानमंत्री वांग यांग के साथ देश का स्वतंत्रता दिवस मनाते हुए कहा कि चीन और पाकिस्तान की दोस्ती ‘स्टील से भी ज्यादा मजबूत और शहद से भी ज्यादा मीठी है’। इस्लामाबाद के कन्वेंशन सेंटर में ध्वजारोहण समारोह में शामिल हुए वांग ने कहा कि चीन और पाकिस्तान मुश्किल समय में एक दूसरे के साथ खड़े रहे हैं और ‘यह दोस्ती समय की कसौटी पर खरी उतरेगी और आने वाली पीढ़ियों के साथ और मजबूत होगी।’ समारोह राष्ट्रपति ममनून हुसैन द्वारा ध्वजारोहण समारोह और 31 बंदूकों की सलामी के साथ शुरू हुआ। इस अवसर पर प्रधानमंत्री शाहिद खकान अब्बासी और देश की सशस्त्र सेवाओं के तीनों प्रमुख भी मौजूद थे।

हुसैन ने इस मौके पर कहा, “आइए, हम अपने मतभेद भुलाकर मातृभूमि के विकास और सम्पन्नता में योगदान दें। हम नफरत और गलतफहमियां दूर कर प्यार और सद्भावना बढ़ाएं।” पाकिस्तान के सेना प्रमुख कमर जावेद बाजवा ने रविवार की आधी रात को वाघा सीमा पर देश का अब तक का सबसे बड़ा राष्ट्र ध्वज फहराया। 120 फीट गुना 80 फीट के ध्वज को 400 फीट की ऊंचाई पर फहराया गया। सेना प्रमुख ने कहा, “हम पाकिस्तान के हर आतंकवादी को सूली पर चढ़ा देंगे।”

अफगानिस्तान और भारत की ओर इशारा करते हुए उन्होंने कहा, “हमारे दुश्मन भले ही पूरब में हों या पश्चिम में, मैं उन्हें बताना चाहता हूं कि पाकिस्तानी जवान उनके आगे कभी नहीं झुकेंगे।” उन्होंने पाकिस्तान की आंतरिक और बाहरी चुनौतियों को लेकर कहा, “जो भी ताकत पाकिस्तान को कमजोर करने की कोशिश करेगी, पाकिस्तानी सेना और अन्य सभी संस्थाएं उनके प्रयासों को नाकाम कर देंगी।”

पाकिस्तान ने सोमवार को अपना 70वां स्वतंत्रता दिवस मनाते हुए लाहौर के समीप वाघा-अटारी सीमा पर अपने इतिहास का सबसे बड़ा ध्वज फहराया। पाकिस्तान के सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा ने मध्य रात्रि को 12 बजे सीमा पर ध्वज फहराया और इसी के साथ ही देश में स्वतंत्रता दिवस के जश्न की शुरूआत हो गई। इस मौके पर जनरल कमर जावेद बाजवा ने कहा, ‘‘करीब 77 वर्ष पहले, इसी शहर (लाहौर) में पाकिस्तान का प्रस्ताव पास हुआ था। पाकिस्तान रमजान महीने की 27 वीं रात को अस्तित्व में आया था, यह बहुत ही शुभ रात थी।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.