ताज़ा खबर
 

चीन: 350 फुट से गिरता है झरना, इमारत वाले की हो रही किरकिरी

चीन में एक गगनचुंबी इमारत इन दिनों सोशल मीडिया यूजर्स के आक्रोश के झटके झेल रही है। गुयियांग शहर की लाइबियन इंटरनेशनल बिल्डिंग को इस तरह डिजाइन किया गया है कि 121 मीटर ऊंची इमारत से करीब 108 मीटर (350 फुट) की ऊंचाई से एक कृत्रिम झरना नीचे गिरता है। झरने के साथ यह इमारत नयनाभिराम दृश्य बनाती है लेकिन लोग इसे फिजूलखर्ची बता रहे है।

गगनचुंबी इमारत से बहते नयमाभिराम दृश्य को देख लोगों को आ रहा गुस्सा। (फोटो सोर्स- facebook/Prasthan Tours n Travels)

चीन में एक गगनचुंबी इमारत इन दिनों सोशल मीडिया यूजर्स के आक्रोश के झटके झेल रही है। गुयियांग शहर की लाइबियन इंटरनेशनल बिल्डिंग को इस तरह डिजाइन किया गया है कि 121 मीटर ऊंची इमारत से करीब 108 मीटर (350 फुट) की ऊंचाई से एक कृत्रिम झरना नीचे गिरता है। झरने के साथ यह इमारत नयनाभिराम दृश्य बनाती है लेकिन लोग इसे फिजूलखर्ची बता रहे है। लोगों की नजर में इमारत से झरना नहीं, पानी की तरह पैसा बहाया जा रहा है जिसकी कोई जरूरत नहीं है। लोगों ने सोशल मीडिया पर इमारत के झरने को लेकर प्रतिक्रियाओं की झड़ी लगा दी है और सुझाव भी देने शुरू कर दिए हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इमारत में झरने का काम दो साल पहले ही पूरा हो गया था लेकिन बाकी बचा काम अभी निपटाया जा रहा है। इमारत के मालिकों का दावा है कृत्रिम झरना चलाने में हर घंटे के हिसाब से 800 युआन यानी करीब साढ़े आठ हजार रुपये का खर्चा आ रहा है।

HOT DEALS
  • Samsung Galaxy J6 2018 32GB Gold
    ₹ 12990 MRP ₹ 14990 -13%
    ₹0 Cashback
  • Apple iPhone SE 32 GB Gold
    ₹ 25000 MRP ₹ 26000 -4%
    ₹0 Cashback

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इमारत को Ludi Industry Group ने बनाया है। इसमें एक शॉपिंग मॉल, कई दफ्तर और एक लक्जरी होटल तैयार किया जा रहा है। झरने के लिए बारिश और जमीन के पानी का इस्तेमाल होता है जिसे विशालकाय भूमिगत टैंक में जमा किया जाता है। इमारत को बना रही कंपनी का कहना है कि यह इलाके के विषम प्राकृतिक हालातों को दी गई श्रद्धांजलि है। चीनी सोशल प्लेटफॉर्म Weibo पर एक यूजर ने लिखा के अगर यह झरना कुछ महीनों के अंतर से चलाया जाता है तो कंपनी खिड़कियां साफ कराने के लिए काफी बचत कर लेगी।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक चीन के आर्थिक विकास ने निर्माण क्षेत्र में तेजी लाई है। इसमें ऐसी इमारतें शामिल हैं जिनमें बाहर से दिखावे के लिए काफी पैसा बहाया जा रहा है। यूजर्स कह रहे हैं कि इन इमारतों की शक्ल में जनता और शेयर होल्डर्स के पैसों की बर्बादी हो रही है। चीन के सरकारी चैनल सेंट्रल टेलिविजन के बीजिंग मुख्यालय की एक इमारत यह कहकर खिल्ली उड़ाई जाती है कि वह कोख की तरह दिखती है। इमारत का निक नाम ‘द बिंग अंडरपैंट्स’ रखा गया है। पीपल्स डेली न्यूज पेपर के दफ्तरों की खिंचाई भी हुई। लोगों का कहना है कि निर्माण के दौरान इमारत पुरुष जननांग की तरह दिखती थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App