ताज़ा खबर
 

चीन की नसीहत- डोकलाम में निर्माण कार्य पर भारत ना तो दखल दे, ना ही करे टिप्पणी

उपग्रह द्वारा जारी कुछ तस्वीरों में कथित रूप से ऐसी तस्वीरें आई हैं, जिनमें चीन पिछले वर्ष भारत-चीन सैनिकों के बीच डोकलाम में विवादित स्थान से 81 मीटर पीछे बड़े स्तर पर निर्माण कार्य कर रहा है।

Author बीजिंग | January 19, 2018 8:48 PM
चीन और भारत के राष्ट्रीय ध्वज।

चीन ने शुक्रवार को कहा कि वह डोकलाम में भविष्य में भी आधारभूत संरचनाओं का निर्माण करता रहेगा और चीनी सीमा में निर्माण कार्य होने पर भारत को टिप्पणी करने की कोई जरूरत नहीं है। उपग्रह द्वारा जारी कुछ तस्वीरों में कथित रूप से ऐसी तस्वीरें आई हैं, जिनमें चीन पिछले वर्ष भारत-चीन सैनिकों के बीच डोकलाम में विवादित स्थान से 81 मीटर पीछे बड़े स्तर पर निर्माण कार्य कर रहा है। चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता लू कांग ने उन तस्वीरों के बारे में पूछने पर कहा कि वे इन तस्वीरों के बारे में विस्तार से कुछ नहीं जानते हैं। उन्होंने कहा कि उन्हें नहीं पता कि इस प्रकार की तस्वीरें किसने जारी की हैं।

उन्होंने कहा कि यह बिल्कुल स्पष्ट है कि डोकलाम हमेशा से चीन का हिस्सा रहा है और चीन के अधिकार क्षेत्र में है। उन्होंने कहा कि इस सम्बन्ध में कोई मतभेद नहीं है। लू ने कहा कि चीन वैध तथा न्यायपूर्ण तरीके से अपने अधिकार क्षेत्र में निर्माण कार्य करा रहा है। भारतीय सीमा में चल रहे निर्माण कार्य पर जैसे चीन कोई प्रतिक्रिया नहीं देता है, वैसे ही वे भी उम्मीद करते हैं कि दूसरे देश चीन में हो रहे निर्माण कार्य पर कोई बयानबाजी नहीं करेंगे।

भूटान की दावेदारी वाले डोकलाम पर भारत और चीन के सैनिक 73 दिनों तक आमने-सामने डटे रहे थे। भारतीय सैनिकों द्वारा भारतीय सीमा में स्थित राजमार्ग के समीप चीन के डोकलाम में सड़क निर्माण कार्य रोकने के बाद दोनों देशों के सैनिक आमने-सामने आ गए थे। दोनों पक्षों ने अगस्त में अपने-अपने सैनिकों को एक साथ पीछे बुलाकर इस समस्या को सुलझा लिया था। खबरों के अनुसार चीन इस क्षेत्र में आधारभूत संरचनाएं खड़ी कर यहां अपनी पकड़ मजबूत करने में व्यस्त है।

उल्लेखनीय है कि कांग्रेस ने अरुणाचल प्रदेश के डोकलाम पर चीनी सैनिकों के कब्जे को लेकर गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज पर देश को गुमराह करने का आरोप लगाया था। विपक्षी पार्टी ने कहा था कि मोदी सरकार ने देश की सुरक्षा व रणनीतिक हितों के साथ समझौता कर लिया है। कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने मीडिया से कहा, “उपग्रह चित्र व मीडिया रिपोर्ट में कहा गया है कि चीन ने भारतीय सीमा के निकट डोकलाम में सैन्य प्रतिष्ठान स्थापित किए हैं, जो संकेत देता है कि भारत की सुरक्षा व रणनीतिक हितों से समझौता किया गया है।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App