ताज़ा खबर
 

चीन ने भारत से रिश्‍तों में सुधार की जताई उम्‍मीद, कहा- एक साथ शांति से रह सकते हैं ड्रैगन और हाथी

चीन ने गुरुवार को कहा कि हाल के वर्षों में संबंधों में ‘मजबूती और स्थिरता’ आई है और ‘ड्रैगन’ तथा ‘हाथी’ शांतिपूर्वक साथ-साथ रह सकते हैं।
Author नई दिल्ली | October 13, 2016 18:44 pm
पिछले कुछ समय से चीन और भारत के रिश्‍तों में तल्‍खी बढ़ गई है। (प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर)

चीन-भारत संबंधों में मतभेदों को नकारते हुए चीन ने गुरुवार को कहा कि हाल के वर्षों में संबंधों में ‘मजबूती और स्थिरता’ आई है और ‘ड्रैगन’ तथा ‘हाथी’ शांतिपूर्वक साथ-साथ रह सकते हैं। चीनी दूतावास के प्रभारी चेंग गुआंगझोंग ने कहा, ‘कभी हमारे भविष्य के संबंध ‘ड्रैगन और हाथी के बीच प्रतिद्वंद्विता’ की भविष्यवाणी पर आधारित होते थे। बहरहाल हाल के वर्षों में मजबूत और स्थिर द्विपक्षीय संबंधों से साबित हो गया है कि ‘ड्रैगन’ और ‘हाथी’ एक साथ रह सकते हैं।’

चांग भारत में चीन आधारित पुस्तक संपादकीय कार्यालय का उद्घाटन करने के अवसर पर बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि चीन और भारत के विशिष्ट इतिहास, संस्कृति और धर्म रहे हैं जो विभिन्न क्षेत्रों में सहयोग का आधार बन सकते हैं। उन्होंने कहा, ‘दोनों देशों को सांस्कृतिक आदान-प्रदान और वार्ता के माध्यम से साझा जमीन तलाशना चाहिए। दुनिया की दो सबसे पुरानी सभ्यताएं चीन और भारत शांतिपूर्ण सह अस्तित्व के लिए रास्ते तलाशने में सक्षम हैं।’

वीडियो: चीन NSG पर भारत का समर्थन करने के लिए तैयार लेकिन मसूद अज़हर को बैन करने के खिलाफ

बता दें, चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग भारत यात्रा पर आ रहे हैं। इस दौरान वे गोवा में आयोजित होने वाले ब्रिक्स शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेंगे। भारत के साथ ही वे कंबोडिया, बांग्लादेश भी जाएंगे। कंबोडिया की दो दिवसीय यात्रा के बाद वह बांग्लादेश रवाना होंगे। गौरतलब है कि बीते 30 वर्ष में किसी चीनी राष्ट्रपति की यह पहली बांग्लादेश यात्रा होगी। बांग्लादेश से शी ब्रिक्स शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेने के लिए गोवा के लिए रवाना होंगे और इस शिखर सम्मेलन से इतर वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भी मुलाकात करेंगे। गोवा शिखर सम्मेलन में आमंत्रित बिम्सटेक (बांग्लादेश, भूटान, नेपाल, श्रीलंका, म्यांमार और थाईलैंड) के राष्ट्राध्यक्षों सहित अन्य नेताओं से भी वह मुलाकात करेंगे। दो दिवसीय ब्रिक्स शिखर सम्मेलन 15 अक्तूबर से शुरू होगा।

Read Also: भारत के पूर्व NSA शिवशंकर मेनन बोले: भारत को पाकिस्तान-चीन से नहीं, अंदर से है खतरा

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.