ताज़ा खबर
 

चीनी PM केकियांग ने कहा- पाकिस्तान से हमारी दोस्ती अटूट है

केकियांग ने कहा कि चीन पाकिस्तान के साथ चहुंमुखी सहयोग बढ़ाना चाहता है और दोनों देशों के रिश्ते बेहतर बनाना चाहता है।

चीन के प्रधानमंत्री ली केकियांग की फाइल फोटो। (AP Photo/Mark Schiefelbein)

अमेरिका के न्यूयॉर्क में चीन के प्रधानमंत्री ली केकियांग ने पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ से मुलाकात के बाद कहा चीन और पाकिस्तान की दोस्ती अटूट है। चीन की आधिकारिक समाचार एजेंसी शिन्हुआ के अनुसार केकियांग ने कहा कि चीन और पाकिस्तान ने हमेशा हर मसले पर एक दूसरे का साथ दिया है। अमेरिका में संयुक्त राष्ट्र की आम सभा चल रही है। पाकिस्तानी पीएम ने बुधवार (21 सितंबर) को अपने संबोधन में कश्मीर का मुद्दा उठाया था। केकियांग ने कहा कि चीन पाकिस्तान के साथ चहुंमुखी सहयोग बढ़ाना चाहता है और दोनों देशों के रिश्ते बेहतर बनाना चाहता है। केकियांग ने बताया कि दोनों देशों के बीच तैयार हो रहे चीन-पाकिस्तान इकोनॉमिक कॉरीडोर (सीपीईसी) में सकारात्मक विकास हो रहा है। केकियांग ने कहा कि दोनों देश गवादर बंदरगाह के निर्माण में तेजी लाएंगे और आर्थिक गलियारे में अधिक से अधिक कंपनियों को लाने की कोशिश करेंगे।

HOT DEALS
  • Panasonic Eluga A3 Pro 32 GB (Grey)
    ₹ 9799 MRP ₹ 12990 -25%
    ₹490 Cashback
  • Sony Xperia L2 32 GB (Gold)
    ₹ 14845 MRP ₹ 20990 -29%
    ₹1485 Cashback

हालांकि शिन्हुआ द्वारा जारी रिपोर्ट में केकियांग की तरफ से कश्मीर के मुद्दे पर कोई टिप्पणी नहीं की गई है। जबकि कुछ पाकिस्तान अखबारों ने ये खबर चला दी कि “ली केकियांग ने कहा, चीन कश्मीर मुद्दे पर पाकिस्तान के साथ है।” रिपोर्ट के अनुसार शरीफ ने भी दोनों देशों के बीच रिश्तों में हुई प्रगति को लेकर संतोष व्यक्त किया।

बुधवार को शरीफ ने संयुक्त राष्ट्र आम सभा में कश्मीर में भारत द्वारा किए जा रहे कथित मानवाधिकार हनन का मामला उठाते हुए मृत कश्मीरी आतंकी बुरहान वानी को “युवा नेता” बताया था। भारत ने शरीफ के संबोधन पर कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि संयुक्त राष्ट्र द्वारा आतंकवादी घोषित किए गए संगठन हिज्बुल मुजाहिद्दीन के आतंकी बुरहान वानी का ‘महिमामंडन’ करके शरीफ ने खुद ही खुद को दोषी साबित कर दिया है। इससे पहले अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने संयुक्त राष्ट्र आम सभा में अपने संबोधन में कहा कि आतंकवाद को प्रश्रय देने वाले राष्ट्रों को इससे बाज़ आना चाहिए। माना गया कि ओबामा का इशारा पाकिस्तान की तरफ था।

Read Also: अफ़ग़ानिस्तान ने संराष्ट्र को बताया- पाक उसके नागरिकों पर कर रहा है हमला, चला रहा है ‘अघोषित युद्ध’

आतंकी बुरहानी वानी 8 जुलाी को मुठभेड़ में मारा गया था। उसके बाद से जारी हिंसा में कश्मीर में तीन पुलिसवालों समेत 75 से अधिक लोग मारे जा चुके हैं। वहीं 18 सितंबर को जम्मू-कश्मीर के उरी स्थित आर्मी कैंप में पाकिस्तान से आए चार आतंकियों द्वारा किए आतंकी हमले में 18 भारतीय जवान शहीद हो गए। सभी आतंकी जवाबी कार्रवाई में मारे गए। उरी हमले के बाद से ही नरेंद्र मोदी सरकरा पर पाकिस्तान के खिलाफ जवाबी कार्रवाई करने का दबाव है।

Read Also: जब शरीफ ने UN में अलापा कश्मीर राग, सोशल मीडिया पर लोग उड़ाने लगे मजाक

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App