ताज़ा खबर
 

चीन-श्रीलंका संबंधों का नहीं होगा किसी अन्य पर प्रभाव: चीन विदेश मंत्री

निकट अतीत में भारत ने 1.5 अरब डॉलर की कोलंबो बंदरगाह शहर परियोजना को लेकर चिंता जतायी थी। यह परियोजना समुद्र में चीन द्वारा बनाया जाना है।

Author कोलंबो | July 9, 2016 5:36 PM
कोलंबो में श्रीलंका के प्रधानमंत्री रानिल विक्रमसिंघे से हाथ मिलाते चीन के विदेश मंत्री वांग यी।(AP Photo/Eranga Jayawardena)

चीनी विदेश मंत्री वांग यी ने शनिवार (9 जुलाई) को कहा कि चीन और श्रीलंका के बीच घनिष्ठ संबंध का अन्य देशों के साथ उनके रिश्तों पर कोई प्रभाव नहीं होगा। यी इस महीने बाद में होने जा रही श्रीलंकाई राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरिसेना की चीन यात्रा से पहले श्रीलंका की तीन दिवसीय सरकारी यात्रा पर हैं। यी ने भारत की ओर इशारा करते हुए कहा, ‘चीन और श्रीलंका के बीच इस बात की सहमति है कि हमारे सहयोग में कोई भी तीसरा देश निशाने पर नहीं है और न ही यह अन्य देशों के साथ हमारे अपने संबंधों को प्रभावित करेगा। हम साझे विकास लक्ष्य को हासिल करने के लिए अन्य क्षेत्रीय देशों के साथ घनिष्ठता के साथ काम करने को तैयार हैं।’

निकट अतीत में भारत ने 1.5 अरब डॉलर की कोलंबो बंदरगाह शहर परियोजना को लेकर चिंता जतायी थी। यह परियोजना समुद्र में चीन द्वारा बनाया जाना है। चीन के विदेश मंत्री ने कहा, ‘इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि अंतरराष्ट्रीय स्थिति और घरेलू एजेंडे में क्या बदलाव आता है, हमारी रणनीतिक और सहयोगपरक साझेदारी विकसित होती रहेगी।’ उन्होंने कहा कि चीन की 21 वीं सदी के समुद्री रेशम मार्ग को प्राथमिकता बनाने की मंशा है और वह श्रीलंका को हिंद महासागर में नौवहन केंद्र बनने में मदद पहुंचाना चाहता है। श्रीलंका के विदेश मंत्री मंगला समरवीरा ने कहा कि उनका देश श्रीलंकाई अर्थव्यवस्था के विकास में चीनी उपक्रमों के योगदान के प्रति आशाभरी निगाहों से देख रहा है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App