ताज़ा खबर
 

आतंकियों को अत्याधुनिक हथियार, धन उपलब्ध करा रहा चीन! करीबी देश म्यामांर ने कहा- हमारी मदद करें दुनिया के देश

म्यांमार ने दुनिया के देशों से इस मसले पर मदद भी मांगी है। म्यांमार के वरिष्ठ जनरल मिन आंग ह्लाइंग का कहना है कि उनके देश में मौजूद आतंकी समूहों को मजबूत ताकतों से मदद मिल रही है।

China, Myanmar, Terror Groupम्यांमार ने आतंकवादी और विद्रोही समूहों को हथियार मुहैया कराने को लेकर चीन पर आरोप लगाया है। (फाइल फोटो)

दक्षिण पूर्व एशिया में चीन के करीबी देश म्यांमार ने चीन पर आतंकियों को अत्याधुनिक हथियार, धन उपलब्ध  कराने का आरोप लगाया है। म्यांमार ने दुनिया के देशों से इस मसले पर मदद भी मांगी है। म्यांमार के वरिष्ठ जनरल मिन आंग ह्लाइंग का कहना है कि  उनके देश में मौजूद आतंकी समूहों को मजबूत ताकतों से मदद मिल रही है। उनके इस बयान को चीन से जोड़कर देखा जा रहा है।

म्यांमार के सैन्य प्रवक्ता ब्रिगेडियर जनरल ज़ॉ मिन टुन ने बाद में म्यांमार के सशस्त्र बलों के कमांडर-इन-चीफ द्वारा की गई टिप्पणी पर विस्तार से बताया। प्रवक्ता ने कहा कि सेना प्रमुख अराकान आर्मी (एए) और अराकान रोहिंग्या साल्वेशन आर्मी (एआरएसए) का जिक्र कर रहे थे, जो पश्चिमी म्यांमार में राखीन राज्य में सक्रिय आतंकवादी संगठन हैं।

उन्होंने कहा कि, अराकन आर्मी (AA) के पीछे विदेशी ताकत का हाथ है। उन्होंने चीन द्वारा निर्मित हथियारों का उल्लेख करते हुए कहा कि 2019 में सेना पर माइन्स अटैक में चीन निर्मित हथियार पाए गए थे। म्यामांर का चीन पर उंगली उठाना असामान्य है लेकिन जब म्यांमार की सेना ने प्रतिबंधित टांग नेशनल लिबरेशन आर्मी से सतह से हवा में मार करने वाली मिसाइलों सहित भारी मात्रा में हथियारों का भंडाफोड़ किया था जिनकी कीमत यूएसडी 70,000 और 90,000 के बीच थी तब भी सेना ने हथियारों के लिए चीनी कनेक्शन को रेखांकित किया था। सेना द्वारा जब्त किए गए अधिकांश हथियार “चीनी हथियार” थे। यह घटना 2019 के नवंबर महीने की है।

चीन अक्सर इन आरोपों को खरिज करता रहता है कि म्यामांर में आतंकी संगठनों को उनकी तरफ से हथियार मुहैया कराए जा रहे हैं लेकिन म्यामांर इसे संदेह की निगाह से देखता आया है। इस साल जनवरी में चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग की मेजबानी करते समय वरिष्ठ जनरल हलिंग ने इन हथियारों के बारे में म्यांमार की चिंताओं को चिह्नित किया था। शी ने तब वादा किया था कि चीन “मामलों की सावधानीपूर्वक जांच करेगा” और “समस्या को हल करेगा”।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 निर्वाचित हुआ तो एच-1बी वीजा निलंबन को रद्द कर दिया जाएगा: यूएस प्रेसेडेंशियल चुनाव के कैंडिडेट जो बिडेन बोले
2 59 ऐप बैनः चीन पर भारत के ऐक्शन को US ने बताया सही, विदेश मंत्री माइक पॉम्पियो बोले- देश की सुरक्षा को मिलेगा बढ़ावा
3 ‘भारत के खिलाफ आरोप साबित करो या इस्तीफा दो’, नेपाल में विपक्षी नेताओं का पीएम ओली पर बढ़ाया दबाव
ये पढ़ा क्या...
X