ताज़ा खबर
 

आतंकवाद से लड़ाई के मुद्दे पर भारत-चीन के बीच पहली उच्चस्तरीय वार्ता

बैठक संयुक्त खुफिया समिति के प्रमुख आर एन रवि और चीन के कानूनी मामलों के आयोग के महासचिव वांग योंगक्विंग की सह अध्यक्षता में हुई।

Author बीजिंग | September 27, 2016 15:33 pm
गुरुवार (23 जून) को शंघाई कोऑपरेशन ऑर्गनाइजेशन के शिखर सम्मेलन से इतर मुलाकात करते भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग। (PTI Photo/Twitter/File)

भारत और चीन के बीच आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में सहयोग और सुरक्षा बढ़ाने के तरीकों पर मंगलवार (27 सितंबर) को बातचीत हुई। वार्ता में दोनों देशों के अधिकारियों ने आतंकवाद से निपटने की नीतियों और कानून पर जानकारी साझा की। दोनों देशों के बीच इस पहली उच्च स्तरीय वार्ता में ‘महत्वपूर्ण आम सहमति’ बनी। आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई और सुरक्षा पर यहां भारत और पाकिस्तान के बीच हुई पहली उच्च स्तरीय वार्ता में दोनों पक्षों ने अंतरराष्ट्रीय और क्षेत्रीय सुरक्षा हालात पर अपने विचार साझा किए। यह बैठक संयुक्त खुफिया समिति के प्रमुख आर एन रवि और चीन के केंद्रीय राजनीतिक एवं कानूनी मामलों के आयोग के महासचिव वांग योंगक्विंग की सह अध्यक्षता में हुई।

यहां स्थित भारतीय दूतावास की ओर से जारी विज्ञप्ति में बताया गया है कि वार्ता के दौरान दोनों पक्षों ने चिंता के प्रमुख मुद्दों पर अपनी समझ को और बढ़ाया तथा आतंकवाद से निपटने के लिए अपनी-अपनी नीतियों, प्रणाली तथा कानून से संबंधित जानकारी को साझा किया। विज्ञप्ति में कहा गया है, ‘सुरक्षा के खतरे से मिलकर निपटने के उपायों, आतंक के खिलाफ लड़ाई और सुरक्षा पर सहयोग को और बढ़ाने पर दोनों पक्षों के बीच गहन बातचीत हुई। इसमें दोनों पक्षों के बीच महत्वपूर्ण आम सहमति बनी है।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App