ताज़ा खबर
 

चीन ने बढ़ाई बुलेट ट्रेन की रफ्तार, अब एक घंटे में दौड़ेगी 350 KM, 6 साल पहले दुर्घटना ने लगाया था ब्रेक

चीन की सरकारी न्यूज एजेंसी शिन्हुआ के मुताबिक गुरुवार (21 सितंबर) से बीजिंग-शंघाई रूट पर दौड़ने वाली सभी 14 ट्रेनों की रफ्तार में बढ़ोत्तरी की गई है।

चीन का एक बुलेट ट्रेन। (Source: Wikimedia commons)

चीन ने बीजिंग से शंघाई के बीच दौड़ने वाली बुलेट ट्रेन की अधिकतम स्पीड आज (21 सितंबर को) बढ़ाते हुए 350 किलोमीटर यानी 217 मील प्रतिघंटे कर दिया है। छह साल पहले एक दुर्घटना की वजह से इसकी गति घटाकर 300 किलोमीटर प्रतिघंटे कर दिया गया था। जुलाई 2011 में वेनझाऊ के पास बुलेट ट्रेन की दुर्घटना में 40 लोग मारे गए थे। फिलहास 1318 किलोमीटर लंबे इस रूट पर बुलेट ट्रेन को सफर पूरा करने में 4 घंटे 28 मिनट का वक्त लग रहा था जो अब करीब एक घंटे कम हो जाएगा।

चीन की सरकारी न्यूज एजेंसी शिन्हुआ के मुताबिक गुरुवार (21 सितंबर) से बीजिंग-शंघाई रूट पर दौड़ने वाली सभी 14 ट्रेनों की रफ्तार में बढ़ोत्तरी की गई है। समाचार एजेंसी नी चीन रेल कॉरपोरेशन के एक अधिकारी के हवाले से कहा है कि ये ट्रेन लोगों के बीच इतने लोकप्रिय हैं कि एक सप्ताह पहले ही ट्रेन की सभी टिकटें बिक चुकी हैं।

चीन के दो शहरों को जोड़नेवाली यह रेल लाइन सबसे व्यस्त और सबसे ज्यादा लोगों को यात्रा कराने वाली रेल लाइन है। यहां करीब एक अरब यात्री हर साल यात्रा करते हैं। चीन में हाई स्पीड रेल नेटवर्क दुनिया में सबसे ज्यादा है और इसी वजह से बीजिंग पूरी दुनिया में देश की उच्च प्रगति का सिंबल है।

चीन ने हाई स्पीड रेल नेटवर्क के विस्तार में अरबों डॉलर का निवेश किया है लेकिन उस पर घोटालों की मार भी पड़ी है। वहां तथाकथित कई घपले-घोटाले हुए हैं। इस वजह से हाई स्पीड रेल नेटवर्क में सुरक्षा पर सवाल भी खड़े हुए हैं। साल 2013 में पूर्व रेल मंत्री लियु झिझुन को 64.4 मिलियन युआन घूस लेने के आरोप में मौत की सजा सुनाई गई थी। बाद में उनकी सजा-ए-मौत को आजीवन कारावास में बदल दिया गया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App