ताज़ा खबर
 

चीन में भारी बारिश से 98 की मौत, 4 लाख से ज्यादा की आबादी घर छोड़ने को मजबूर

चीन के फुनिंग काउंटी में 125 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से आए तूफान ने फुनिंग काउंटी के कई बाहरी नगरों में तबाही मचाई।

Author बीजिंग | June 24, 2016 11:44 AM
बाढ़ के पानी से भरी सड़क से गुजरती कार। (China Daily/via REUTERS/File Photo)

चीन के पूर्व में स्थित जियांग्सू प्रांत में भारी बारिश के कारण कम से कम 98 लोगों की जान चली गई और 800 से अधिक घायल हो गए। सरकारी समाचार एजेंसी शिन्हुआ की खबर में कहा गया है कि बारिश, ओले और तूफान के कारण यानचेंग शहर में जनजीवन बाधित हो गया और कई मकान ध्वस्त हो गए हैं। यानचेंग के उपनगर फुनिंग और शेयांग काउंटी के कई इलाकों में भी खराब मौसम बेहद खराब होने की खबरें हैं। एजेंसी के अनुसार, प्रांत में हुई भारी बारिश के कारण अब तक 98 लोगों की जान जा चुकी है और 800 से अधिक घायल हुए हैं।

फुनिंग काउंटी में 125 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से आए तूफान ने फुनिंग काउंटी के कई बाहरी नगरों में तबाही मचाई। शेयांग में हवाओं की गति 100 किमी प्रति घंटा रही। तूफान के कारण कई मकान ध्वस्त हो गए, 51 लोगों की मौत हो गई और दर्जनों घायल हो गए। कुछ इलाकों में बिजली ठप हो जाने तथा संचार सेवाओं के बाधित होने की भी खबरें हैं। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि उन्होंने बड़े बड़े पेड़ों को गिरते और पूरे-पूरे गांवों को मटियामेट होते देखा। शिन्हुआ के अनुसार, लोगों को उनके ध्वस्त हुए मकानों के मलबे से खींच कर निकाला गया और अस्पताल ले जाया गया।

HOT DEALS
  • Samsung Galaxy J6 2018 32GB Gold
    ₹ 12990 MRP ₹ 14990 -13%
    ₹0 Cashback
  • Honor 7X 64GB Blue
    ₹ 15399 MRP ₹ 16999 -9%
    ₹0 Cashback

यानचेंग शहर में शीर्ष अधिकारी प्रभावित गांवों में राहत एवं बचाव अभियान चला रहे हैं। नागरिक मामलों के मंत्रालय ने बुधवार को बताया था कि चीन के 10 प्रांत स्तर के क्षेत्रों में बीते पांच दिन में तेज बारिश के कारण 42 लोग मारे गए और 25 लापता हैं। मंत्रालय के अनुसार, झेजियांग, जियांग्शी, हुबेई और सिचुआन सहित, देश के दक्षिणी हिस्सों से लगातार मूसलाधार बारिश के कारण 4,60,000 से अधिक लोगों किसी दूसरी जगह ले जाया गया और 3,21,000 लोगों को तत्काल राहत की जरूरत है। चीन में मौसमी बारिश के कारण हर साल भीषण बाढ़ आती है और मई के आखिर से करीब दो माह तक देश इस आपदा से प्रभावित रहता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App