ताज़ा खबर
 

चीनी शहर के हॉस्टलों को पुलिस का निर्देश, पाकिस्तान के मेहमानों को न रखें

चार-पांच सितंबर को हांगझोऊ शहर में जी20 देशों के नेताओं की बैठक होगी।

Author बीजिंग | Published on: August 26, 2016 8:45 PM
तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया है। (चीन का राष्ट्रीय ध्वज)

चीन के गुआंगझोऊ शहर में पुलिस ने हॉस्टल संचालकों को पाकिस्तान समेत पांच देशों के मेहमानों को अगले महीने तक सेवाएं नहीं देने को कहा है। हांगकांग के साउथ चाइना मॉर्निंग पोस्ट अखबार की शुक्रवार (26 अगस्त) की खबर के अनुसार शहर के कई हिस्सों में हॉस्टलों ने इस बात की पुष्टि की है कि स्थानीय पुलिस ने उनसे इस सप्ताह से अफगानिस्तान, तुर्की, इराक, सीरिया और पाकिस्तान के लोगों को सेवाएं नहीं देने को कहा है। सूची में पाकिस्तान का नाम शामिल होना हैरानी की बात है क्योंकि उसके साथ चीन के संबंध काफी अच्छे हैं। गुआंगझोऊ पुलिस का यह कदम 11वें पान-पर्ल रिवर डेल्टा रीजनल कॉपरेशन एंड डवलपमेंट फोरम से पहले आया। फोरम का आयोजन गुआंगझोऊ में गुरुवार (25 अगस्त) से शुरू हुआ। इसी तरह चार-पांच सितंबर को हांगझोऊ शहर में जी20 देशों के नेताओं की बैठक होगी।

इस कदम के बारे में पूछे जाने पर विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता लू कांग ने कहा कि हमने चीन में इस तरह की नीति को अपनाए जाने के बारे में कभी नहीं सुना। उन्होंने शुक्रवार (26 अगस्त) को कहा, ‘चीन के लिए हमारी नीति लोगों को चीन और अन्य देशों के बीच आदान-प्रदान करने के लिए प्रोत्साहित करने की है।’ अखबार ने एक हॉस्टल के एक अधिकारी के हवाले से कहा, ‘‘स्थानीय पुलिस ने हमसे कहा है कि इन पांच देशों के मेहमानों को 10 सितंबर तक सेवाएं नहीं देनी हैं। हमें वजह नहीं बताई गई।’ यूशियू जिले के एक हॉस्टल के कर्मचारी ने एक लिखित नोटिस दिखाते हुए इस कदम की पुष्टि की। हालांकि गार्डन होटल या व्हाइट स्वान जैसे पांच सितारा होटलों या बड़े ब्रांड के बजट होटलों पर भी पाबंदी नहीं लगाई गई है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 भ्रष्टाचार के आरोप में शीर्ष चीनी जनरल गिरफ्तार, PLA के आला अधिकारियों में हलचल
2 भूकंप बाद के सबसे बड़े झटके से फिर हिला इटली, मरने वालों की संख्या 267 पहुंची
3 पाकिस्तान ने अफगानिस्तान से कहा, अमेरिकी विश्वविद्यालय पर हमले को लेकर कोई सुराग नहीं मिला
जस्‍ट नाउ
X