ताज़ा खबर
 

चीन: Coronavirus से राजधानी बीजिंग में पहली मौत, WHO ने चेताया- इस वायरस से दुनिया भर को गंभीर खतरा

चीन में कोरोना वायरस से 82 लोगों की मौत हो चुकी है और इसके संक्रमण के 2,744 मामलों की पुष्टि हो चुकी है। बीजिंग के अधिकारियों ने सोमवार को नए घातक कोरोना वायरस से चीनी राजधानी में पहली मौत होने की रिपोर्ट दी।

Author बीजिंग | Updated: January 28, 2020 1:45 AM
दुनिया भर में बढ़ रहा है कोरोना वायरस का खतरा.

बीजिंग के अधिकारियों ने सोमवार को नए घातक कोरोना वायरस से चीनी राजधानी में पहली मौत होने की रिपोर्ट दी। यह वायरस तेजी से पूरे देश में फैल गया है, जिससे 80 से ज्Þयादा लोगों की मौत हुई है और दुनिया भर में चिंता है। शहर के स्वास्थ्य आयोग ने कहा कि मृतक 50 साल का शख्स है। वह आठ जनवरी को वुहान गया था और वहां से लौटने के बाद उसे बुखार हो गया था। इस वायरस का केंद्र वुहान में ही है। उसके श्वसन तंत्र ने काम करना बंद कर दिया था जिससे सोमवार को उसकी मौत हो गई।

वुहान से भारतीयों को बाहर निकालने की योजना पर भारत, चीन ने की वार्ताः भारतीय और चीनी प्राधिकारियों ने कोरोना वायरस से प्रभावित वुहान शहर एवं हुबेई प्रांत से 250 से अधिक भारतीयों को बाहर निकालने की योजनाओं पर सोमवार को बातचीत की। चीन में कोरोना वायरस से 82 लोगों की मौत हो चुकी है और इसके संक्रमण के 2,744 मामलों की पुष्टि हो चुकी है। यहां भारतीय दूतावास ने बताया कि उसके राजनयिकों ने सोमवार को चीन के विदेश मंत्रालय के अधिकारियों के साथ बैठक की।

दूतावास ने सोशल मीडिया पर प्रसारित एक नोट में कहा, ‘‘बैठक में, चीनी प्राधिकारियों ने कोरोना वायरस संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए उनके द्वारा उठाए गए कदमों की जानकारी दी। वुहान/हुबेई प्रांत से विदेशी नागरिकों को बाहर निकालने के विभिन्न विकल्पों पर भी चर्चा की गई।’’ उसने कहा, ‘‘हम हुबेई प्रांत में भारतीय नागरिकों का कुशलक्षेम सुनिश्चित करने के लिए चीनी प्राधिकारियों से वार्ता जारी रखेंगे। चीनी प्राधिकारियों से और कोई सूचना मिलने के बाद हम आपको उसकी जानकारी देंगे।’’ दूतावास ने बताया कि हुबेई में विदेश मामलों के कार्यालय ने दो हेल्पलाइन नंबर (027-87122256 और 87811173)मुहैया कराए हैं जिन पर प्रांतीय प्राधिकारियों से कभी भी संपर्क किया जा सकता है। दूतावास ने भी सोमवार को ट्वीट किया कि किसी भी आपात स्थिति के लिए उससे तीन हॉटलाइनों (+8618610952903, +8618612083629, +8618612083617) पर संपर्क किया जा सकता है। दूतावास ने चीन में फंसे भारतीयों से अपने पासपोर्ट की जानकारी मुहैया कराने का भी अनुरोध किया है।

‘चीन के वायरस से पूरी दुनिया को गंभीर खतरा’: विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने सोमवार को कहा कि चीन में घातक वायरस से वैश्विक खतरा उच्च स्तर का है। उसने पिछली रिपोर्ट में की गयी त्रुटि को स्वीकार किया जिसमें कहा गया था कि खतरा मध्यम स्तर का है।
संयुक्त राष्ट्र की स्वास्थ्य संस्था ने रविवार को प्रकाशित एक रिपोर्ट में कहा कि चीन में खतरा अत्यधिक है, जबकि क्षेत्रीय तथा वैश्विक स्तर पर यह खतरा उच्च स्तर का है। डब्ल्यूएचओ ने कहा कि गुरूवार, शुक्रवार और शनिवार को प्रकाशित पिछली रिपोर्टों में यह बात त्रुटिवश प्रकाशित हो गयी थी कि वैश्विक खतरा मध्यम स्तर का है। इस बारे में अधिक जानकारी मांगने पर डब्ल्यूएचओ की प्रवक्ता फादेला चैब ने केवल इतना कहा कि शब्द लिखने में त्रुटि हुई।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 CAA पर पाकिस्तान की नापाक चाल आई सामने, पाक मूल के सांसद ने EU में पेश किया प्रस्ताव
2 अफगानिस्तान के गजनी प्रांत में हादसा, 83 यात्रियों को दिल्ली ला रहा विमान क्रैश
3 CAA के खिलाफ अमेरिका में प्रदर्शन: अमित शाह पर बैन लगाने की मांग, भारत की रैंकिंग गिराने की भी वकालत
ये पढ़ा क्या?
X