चीनी राजदूत को जान से मारने के लिए पाकिस्‍तान में घुसा आतंकी, ड्रैगन बोला- बढ़ाओ सुरक्षा - China Fears that its Ambassador to Pakistan may be Attacked, Asks for Security - Jansatta
ताज़ा खबर
 

चीनी राजदूत को जान से मारने के लिए पाकिस्‍तान में घुसा आतंकी, ड्रैगन बोला- बढ़ाओ सुरक्षा

चीनी दूतावास ने 19 अक्टूबर को पाकिस्तान के गृह मंत्रालय को पत्र लिखकर बताया है कि आतंकवादी संगठन 'ईस्ट तुर्कमेनिस्तान इंडिपेंडेंट मूवमेंट' का एक सदस्य उसके राजदूत की हत्या करने के लिए पाकिस्तान में घुस चुका है।

Author इस्लामाबाद | October 22, 2017 4:49 PM
पाकिस्तान के गृह मंत्रालय से चीनी राजदूत याओ जिंग और देश में कार्यरत अन्य चीनियों को सुरक्षा बढ़ाने का आग्रह किया।

चीन ने इस्लामाबाद में अपने नवनियुक्त राजदूत को एक आतंकवादी संगठन से मिली धमकी के मद्देनजर पाकिस्तान से उनकी सुरक्षा बढ़ाने की मांग की है। मीडिया की खबर के अनुसार, चीनी दूतावास ने 19 अक्टूबर को पाकिस्तान के गृह मंत्रालय को पत्र लिखकर यह अनुरोध किया है। उसने पत्र में कहा है कि प्रतिबंधित आतंकवादी संगठन ‘ईस्ट तुर्कमेनिस्तान इंडिपेंडेंट मूवमेंट’ (ईटीआईएम) का एक सदस्य उसके राजदूत की हत्या करने के लिए पाकिस्तान में घुस चुका है।

स्थानीय मीडिया को उपलब्ध कराया गया यह पत्र अरबों डॉलर की चीन-पाकिस्तान आर्थिक कोरिडोर (सीपेक) योजना के मुख्य कर्ता-धर्ता पिंगयिंग फी ने लिखा है। उन्होंने पाकिस्तान के गृह मंत्रालय से चीनी राजदूत याओ जिंग और देश में कार्यरत अन्य चीनियों को सुरक्षा बढ़ाने का आग्रह किया। पत्र के अनुसार, इससे न केवल इस आतंकवादी की नापाक साजिश को विफल करने में मदद मिलेगी बल्कि इस साजिश में शामिल अन्य आतंकवादियों का भंडाफोड़ करने में भी सहायता मिलेगी।

चीन ने याओ जिंग को पाकिस्तान में अपना नया राजदूत नियुक्त किया है। वह अफगानिस्तान में चीन के राजदूत रह चुके हैं। याओ पाकिस्तान में सून वीडोंग का स्थान लेंगे। वीडोंग तीन साल तक पाकिस्तान में चीन के राजदूत रहे और हाल ही में स्वदेश लौट गए। अपने पत्र में पिंग ने संबंधित आतंकवादी के पासपोर्ट का ब्योरा दिया है और तत्काल उसकी गिरफ्तारी एवं उसे चीनी दूतावास को सौंपने की मांग की है। उसने आतंकवादी की पहचान अब्दुल वली के रूप में की है।

मालूम हो कि पाकिस्तान के गृह मंत्रालय और चीनी दूतावास ने इस पत्र पर कोई टिप्पणी नहीं की है। ईस्ट तुर्कमेनिस्तान इंडिपेंडेंट मूवमेंट’ (ईटीआईएम) पाकिस्तान की सीमा से सटे चीन के शिनजियांग प्रांत में सक्रिय है। पाकिस्तान में चीनी अधिकारियों की सुरक्षा एक बड़ा मुद्दा है और सेना को सीपीईसी समेत विभिन्न परियोजना में कार्यरत चीनियों को सुरक्षा प्रदान करने का जिम्मा सौंपा गया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App