ताज़ा खबर
 

ऑनलाइन धोखाधड़ी से बचने के लिए साइबर सुरक्षा बढ़ाएगा चीन

ऑनलाइन धोखाधड़ी और निजी सूचनाओं के इंटरनेट पर लीक होने के चलते चीन को अरबों डॉलर का नुकसान उठाना पड़ा है।

Author बीजिंग | August 25, 2016 3:13 PM
सेक्टर-12 में रहने वाली और एक बहुराष्ट्रीय कंपनी में काम करने एक वाली महिला ने भुगतान के बाद अश्लील फोन आने की शिकायत पुलिस से की है।

ऑनलाइन धोखाधड़ी और निजी सूचनाओं के इंटरनेट पर लीक होने की बढ़ती शिकायतों के मद्देनजर चीन ने साइबर सुरक्षा को बढ़ाने के लिए नए नियम लागू किए हैं। इन शिकायतों के चलते चीन को अरबों डॉलर का नुकसान उठाना पड़ा है। साइबरस्पेस एडमिनिस्ट्रेशन ऑफ चाइना (सीएसी), दी जनरल एडमिनिस्ट्रेशन ऑफ क्वालिटी सुपरविजन, इंस्पेक्शन ऐंड क्वारेंटाइन आॅफ चीन और स्टैंडरडाइजेशन एडमिनिस्ट्रेशन ऑफ चीन (एसएसी) ने बुधवार (24 अगस्त) को उस दस्तावेज को जारी किया है जिसमें नए दिशा-निर्देशों का उल्लेख है। सरकारी समाचार एजेंसी शिन्हुआ के मुताबिक दस्तावेज में उन अनिवार्य राष्ट्रीय मानकों का उल्लेख है जिन्हें मुख्य सूचना तकनीक अधोसंरचना के संरक्षण तथा गोपनीय नेटवर्कों के नियमन के लिए लागू किया जाएगा।

अधिकारी साइबर सुरक्षा, व्यक्तिगत जानकारी के संरक्षण, साइबर सुरक्षा सूचना साझेदारी और अन्य क्षेत्रों में मानकों के क्रियान्वयन की प्रक्रिया की गति को बढ़ाएंगे। एसएसी के महासचिव गाओ लिन ने बताया कि इस दस्तावेज में प्रमुख साइबर परियोजनाओं और एकीकृत राष्ट्रीय मानकों के लिए सूचना साझेदारी व्यवस्था की स्थापना की जरूरत पर जोर दिया गया है। इसके चलते कंपनियों पर पड़ने वाला भार कम होगा और देश की समग्र साइबर सुरक्षा बेहतर होगी।

इंटरनेट सोसाइटी ऑफ इंडिया द्वारा जून में किए गए एक सर्वे के मुताबिक प्रतिक्रिया देने वाले 54 फीसदी लोगों का मानना है कि ऑनलाइन निजी सूचनाएं तेजी से लीक होती हैं जबकि 84 फीसदी का कहना है कि सूचना लीक का उन्होंने व्यक्तिगत तौर पर अनुभव किया है। रिपोर्ट के मुताबिक निजी सूचनाओं के लीक होने की वजह से साल 2015 की दूसरी छमाही और इस साल की पहली छमाही के दौरान चीन को 91.5 अरब युआन (15.25 अरब अमेरिकी डॉलर) का नुकसान उठाना पड़ा है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App