ताज़ा खबर
 

दाऊद से नहीं डरा हुआ हूं मैं: छोटा राजन

अंडरवर्ल्ड डॉन छोटा राजन ने कहा कि वह दाऊद इब्राहीम के गिरोह सहित अन्य प्रतिद्वंद्वी गिरोहों से अपनी जान के खतरे से नहीं डर रहा। राजन ने यह बात तब..

Author बाली (इंडोनेशिया) | Published on: October 29, 2015 1:47 AM
भारत के सबसे वांछित अपराधियों में एक अंडरवर्ल्ड डॉन छोटा राजन को इंडोनेशिया पुलिस ने इंटरपोल के रेडकार्नर नोटिस के आधार पर बाली में गिरफ्तार कर किया गया। (Source: NCB-Interpol Indonesia)

अंडरवर्ल्ड डॉन छोटा राजन ने बुधवार को कहा कि वह दाऊद इब्राहीम के गिरोह सहित अन्य प्रतिद्वंद्वी गिरोहों से अपनी जान के खतरे से नहीं डर रहा। राजन ने यह बात तब कही है जब इंडोनेशिया की पुलिस ने उसे विशेष कमांडो सुरक्षा मुहैया करा रखी है। जब पत्रकारों ने राजन से पूछा कि क्या उसे दाऊद के गिरोह सहित अन्य प्रतिद्वंद्वी गिरोहों से अपनी जान को खतरा नहीं लग रहा, इस पर उसने कहा, ‘मैं इससे डरा हुआ नहीं हूं।’ रविवार को आॅस्ट्रेलिया से आने के बाद गिरफ्तार किए गए राजन ने यह बात उस वक्त कही जब पुलिस उसे तेजी से ले जा रही थी।

बाली पुलिस के प्रवक्ता हेरी वियांतो ने कहा कि उन्हें राजन के सामने मौजूद खतरों के बारे में पता है और उसकी सुरक्षा में विशेष कमांडो लगाए गए हैं। प्रवक्ता ने पत्रकारों को बताया, ‘हमने यह सुनिश्चित करने के लिए सारे इंतजाम कर रखे हैं, जिससे कैदी की सुरक्षा में कोई चूक न हो। चूंकि वह एक विदेशी है, इसलिए हमने उसके लिए सुरक्षा काफी कड़ी कर दी है।’

वियांतो ने कहा कि राजन, जिसका असली नाम राजेंद्र सदाशिव निखलजे है, बिल्कुल ठीक है और उसके साथ व्यवहार संबंधी कोई समस्या नहीं है। उन्होंने कहा, ‘यदि वह दबाव में है, तो वह इसे जाहिर नहीं कर रहा।’ बाली पुलिस के कमिश्नर रीनहार्ड नैंग्गोलन ने कहा कि कभी दाऊद के काफी करीबी रहे राजन ने बार-बार पूछताछ करने वाले अधिकारियों से उसे छोड़ देने को कहा ताकि वह जिम्बाब्वे जा सके।

कमिश्नर ने कहा कि राजन की सेहत बिल्कुल ठीक है। उन्होंने ऐसी खबरों के बीच यह बयान दिया जिनमें कहा गया था कि राजन को कई बीमारियां हैं। यह पूछे जाने पर कि राजन को भारत कब भेजा जाएगा, इस पर वियांतो ने कहा कि बाली पुलिस भारत के अधिकारियों की एक टीम का इंतजार कर रही है ताकि पहले राजन से पूछताछ की जा सके।

उन्होंने कहा, ‘हम (भारतीय टीम का) इंतजार कर रहे हैं। छोटा राजन को भारत भेजने के इंतजाम पर हम भारतीय अधिकारियों से समन्वय करेंगे।’ बाली पुलिस के कमिश्नर ने कहा कि राजन की गिरफ्तारी इंटरपोल की निगरानी के तहत एक बड़ी कानूनी कार्रवाई है। जिन हालात में राजन की गिरफ्तारी हुई, उनका ब्योरा देते हुए उन्होंने कहा कि उन्हें इंडोनेशिया इंटरपोल से सूचना मिली थी कि मोहन कुमार नाम के किसी को पासपोर्ट नंबर के आधार पर गिरफ्तार करना है।

उन्होंने कहा, ‘जब हमने उसे पकड़ा, हमने उससे कहा कि यदि वह हमारे साथ सहयोग करेगा तो उसे चिंता करने की जरूरत नहीं है। हमने उसे रेड कॉर्नर नोटिस के बारे में बताया। हमने उसे कहा कि जो तस्वीर हमें दी गई वह तुमसे ही मेल खाती है तो उसने छोड़ने के लिए मेरी मदद मांगी।’
यह पूछे जाने पर कि क्या उसके साथ कोई और भी था, इस पर पुलिस कमिश्नर ने कहा कि राजन अकेले ही बाली आया था और बाली में ही उसकी गिरफ्तारी हुई। इंटरपोल को ऑस्ट्रेलिया ने सूचना दी थी कि वे सिर्फ रेड कॉर्नर नोटिस के आधार पर ही किसी को गिरफ्तार नहीं कर सकते।’

यह पूछे जाने पर कि क्या राजन को अकेले पाना उनके लिए संदेहास्पद था, खासकर ऐसी स्थिति में जब प्रतिद्वंद्वी गिरोह और माफिया उसकी तलाश कर रहे हैं, इस पर उन्होंने कहा, ‘निश्चित तौर पर यह काफी संदेहास्पद है।’ उन्होंने कहा, ‘जब हमने उसे पकड़ा तो वह डरा हुआ था, वह लगातार धूम्रपान कर रहा था।’

राजन की सुरक्षा बढ़ाई:

बाली पुलिस ने कहा कि उन्हें राजन के सामने मौजूद खतरों के बारे में पता है और उसकी सुरक्षा में विशेष कमांडो लगाए गए हैं। उसका कहना है कि हमने यह सुनिश्चित करने के लिए सारे इंतजाम कर रखे हैं जिससे कैदी की सुरक्षा में कोई चूक न हो। चूंकि वह एक विदेशी है, इसलिए उसके लिए सुरक्षा काफी कड़ी कर दी गई है। राजन के साथ व्यवहार संबंधी कोई समस्या नहीं है। यदि वह दबाव में है, तो वह इसे जाहिर नहीं कर रहा।

लगातार ब्रेकिंग न्‍यूज, अपडेट्स, एनालिसिस, ब्‍लॉग पढ़ने के लिए आप हमारा फेसबुक पेज लाइक करेंगूगल प्लस पर हमसे जुड़ें  और ट्विटर पर भी हमें फॉलो करें

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories