ताज़ा खबर
 

मारे गए शार्ली एब्दो पर हमला करने वाले

फ्रांस की पुलिस ने शुक्रवार को एक प्रिंटिग कंपनी के परिसर और एक यहूदी सुपरमार्केट में घुसकर शार्ली एब्दो नरसंहार मामले में वांछित दोनों भाइयों और कथित तौर पर उनके एक साथी को मार डाला जिसने दो अलग-अलग घटनाओं में लोगों को बंधक बनाया था। बंधक प्रकरण की वजह से पूरे फ्रांस में दहशत फैली […]

Author January 10, 2015 8:47 AM
Charlie Hebdo Attack: फ्रांस पुलिस ने शार्ली एब्दो नरसंहार मामले में वांछित दोनों भाइयों और कथित तौर पर उनके एक साथी को मार डाला।

फ्रांस की पुलिस ने शुक्रवार को एक प्रिंटिग कंपनी के परिसर और एक यहूदी सुपरमार्केट में घुसकर शार्ली एब्दो नरसंहार मामले में वांछित दोनों भाइयों और कथित तौर पर उनके एक साथी को मार डाला जिसने दो अलग-अलग घटनाओं में लोगों को बंधक बनाया था। बंधक प्रकरण की वजह से पूरे फ्रांस में दहशत फैली रही। पेरिस के उत्तर पूर्व में दामार्तिन एन गोइली गांव में एक छोटी प्रिंटिंग कंपनी में जब सशस्त्र कमांडो ने रात को प्रवेश किया तो वहां विस्फोट हुए और इमारत से धुआं निकला। एक सुरक्षा सूत्र ने बताया कि दोनों आतंकवादियों ने भागने की नाकाम कोशिश की। उन्होंने सुरक्षा बलों पर गोलीबारी की। बाद में दोनों मारे गए।

इसी बीच, पेरिस के पूर्व में एक यहूदी स्टोर में पुलिस घुसी जहां कम से कम एक सशस्त्र हमलावर ने पांच लोगों को बंधक बना रखा था। इससे पहले उस हमलावर के साथ हुई गोलीबारी में दो लोगों की जान भी गई। सुरक्षा सूत्रों ने बताया कि बंदूकधारी भी मारा गया। भयभीत बंधकों को स्टोर से बाहर भागते हुए देखा गया।
इन हमलावरों के मारे जाने के साथ ही 48 घंटे से फ्रांस में व्याप्त दहशत और अनिश्चितता का अंत हो गया जिसकी शुरुआत शार्ली एब्दो पत्रिका के कार्यालय में तीन आतंकवादियों के हमले में 12 लोगों के मारे जाने से हुई थी। इनमें से एक ने बाद में पुलिस के आगे समर्पण कर दिया। यह हमला फ्रांस में आधी सदी में हुआ सबसे भयावह हमला था।

पेरिस के पूर्वी पोर्ते दे विंसेनेस इलाके में बंधक बनाने वाले व्यक्ति के बारे में संदेह है कि यह वही व्यक्ति था जिसने गुरुवार को दक्षिणी पेरिस में एक महिला पुलिसकर्मी को गोली मारी थी। यह भी आशंका है कि यह व्यक्ति शार्ली एब्दो हमले में शामिल कम से कम एक बंदूकधारी को जानता था।

फ्रांस की पुलिस ने एमेडी कौलीबाले (32) नामक उस व्यक्ति की और हयात बौमेडिएन (26) नामक महिला की तस्वीरें जारी की थी। हयात भी महिला पुलिसकर्मी को गोली मारने की घटना के सिलसिले में वांछित है। पोर्ते दे विंसेनेस इलाके में पुलिस पुलिस ने आसपास की सड़क, स्कूल और दुकानें बंद करा दीं। यहां रहने वाले लोगों को घरों के अंदर ही रहने को कहा गया। पेरिस के मुख्य चार्ल्स डी गॉल हवाई अड्डे से केवल 12 किमी दूर दामार्तिन एन गोइली में फ्रांसीसी बलों ने छतों पर स्नाइपर्स तैनात किए थे और प्रिंटिंग कंपनी के ऊपर हेलिकॉप्टरों ने बेहद नीची उड़ानें भी भरीं। शार्ली एब्दो के संदिग्धों को शुक्रवार सुबह इसी कंपनी में घेरा गया।

पुलिस सूत्रों ने बताया कि सुपरमार्केट में पांच लोगों को बंधक बनाने वाले व्यक्ति और शेरिफ और सईद कोउआची के बीच ‘संबंध’ थे। शेरिफ और सईद कोउआची पर शार्ली एब्दो पत्रिका के कार्यालय में गोलीबारी कर 12 लोगों को मार डालने का आरोप है। इससे पहले पुलिस ने अल्जीरियाई मूल के इन दोनों व्यक्तियों का तेज गति से कार से भागते समय पीछा कर रोकने का प्रयास किया और तब भी उनके बीच गोलीबारी हुई थी।

प्रिंटिंग इकाई में एक प्रत्यक्षदर्शी का इनमें से एक संदिग्ध से सामना हुआ था। उसने बताया कि संदिग्ध काले कपड़े और बुलेट प्रूफ जैकेट पहने हुए था। उसके पास एक हथियार था जो कलाशनिकोव जैसा नजर आ रहा था। सेल्समैन ने फ्रांस इन्फो रेडियो को बताया कि एक भाई ने कहा था, ‘छोड़ो, हम नागरिकों को नहीं मारते।’ इस इलाके के स्कूलों को खाली करा लिया गया और निवासियों को घरों के अंदर ही रहने को कहा गया।

पुलिस अधिकारी ने बताया कि पूर्वी पेरिस में एक बंदूकधारी ने एक यहूदी सुपरमार्केट में पांच लोगों को बंधक बना लिया। माना जाता है कि गुरुवार को पेरिस में एक महिला पुलिसकर्मी को उसी ने ही मारा था। अधिकारियों ने उसका और उसकी महिला सहयोगी का फोटो जारी किया। अधिकारी ने बताया कि पोर्टे डि विनेंन्नीस इलाके के समीप किराने की दुकान में बंदूकधारी ने यहूदी धार्मिक कार्यक्रम सबाथ शुरू होने से कुछ घंटे पहले गोलीबारी की और कहा- आप जानते हैं, मैं कौन हूं। उसके बाद पुलिस के स्वात दस्ते इलाके में पहुंचे और फ्रांस की शीर्ष सुरक्षा अधिकारी मौके पर पहुंचे। यह हमला सूर्यास्त से पहले हुआ जब दुकान पर ग्राहकों की भीड़ थी।

हमलावरों को पकड़ने के लिए 88 हजार सुरक्षा बलों को लगाया गया था। रविवार को पेरिस में अंतरराष्ट्रीय आतंकवाद पर एक बैठक होगी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने फ्रांस के राष्ट्रपति से बात की और विश्वास जताया कि राष्ट्रपति और फ्रांस की जनता दुख की इस घड़ी से उबरेंगे तथा इस चुनौती का धैर्य से मुकाबला करेंगे। मोदी ने इस बातचीत में भारत की ओर से संवेदनाएं प्रकट कीं और फ्रांस के साथ एकजुटता दर्शाई।

शार्ली एब्दो हमले के बाद उत्पन्न आशंकाओं के बीच ब्रिटेन की खुफिया एजंसी एमआइ 5 के प्रमुख ने चेताया कि इस्लामी आतंकवादी पश्चिम में कई अन्य बड़े हमले करने की साजिश रच रहे हैं और हो सकता है कि खुफिया एजंसियों के लिए इन हमलों को रोकना मुश्किल हो। इस घटना से दुनियाभर में आक्रोश है और ‘आइ एम शार्ली’ के बैनर तले विश्वभर में प्रेस की आजादी के पक्ष में रैलियां हो रही हैंं। अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने हमले में मारे गए लोगों को वाशिंगटन में श्रद्धांजलि दी। पेरिस में गुरुवार को राष्ट्रीय शोक के दौरान हजारों लोग जुटे और मारे गए लोगों के सम्मान में एफिल टावर की रोशनियां मद्धिम कर दी गईं।

राजनीतिक रूप से बंटा और संकट में फंसा फ्रांस आपदा की इस स्थिति में एकजुट हो गया है। देश के मुसलिम समुदाय के प्रमुख ने इमामों से शुक्रवार की नमाज के दौरान आतंकवाद की निंदा करने का अनुरोध किया। एक बिल्कुल ही असामान्य कदम उठाते हुए राष्ट्रपति फ्रांसवा ओलोंद शुक्रवार को ‘एलिसी पैलेस’ में दक्षिणपंथी नेता मैरीन ली पेन से भेंट करने वाले हैं। फ्रांस में रविवार को ‘रिपब्लिकन मार्च’ में हजारों लोगों के शामिल होने की उम्मीद है।

शार्ली हेब्दो हत्याकांड के संदिग्धों में एक शेरिफ कोउआची (32) को 2008 में आतंकवाद के आरोप में दोषी ठहराया गया था। एक अमेरिकी अधिकारी ने बताया कि 34 वर्षीय उसका भाई सैद यमन गया था लेकिन यह साफ नहीं हो पाया है कि वह वहां अलकायदा जैसे चरमपंथी संगठनों में शामिल होने गया था या किसी और बात के लिए गया था। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार हमले के दौरान उससे संबंध होने का दावा किया। एक वरिष्ठ आतंकवाद निरोधक अधिकारी ने पहचान उजागर नहीं करने की शर्त बताया कि दोनों अमेरिका में निषिद्ध लोगों की सूची में भी है।

फ्रांस के गृह मंत्री बर्नार्ड काजेनेवू ने बताया कि दोनों भाइयों से जुड़े नौ लोग पूछताछ के लिए हिरासत में लिए गए हैं। हमलावरों के बारे में सूचनाएं जुटाने के लिए 90 लोगों से पूछताछ की गई है, जिनमें से कई शार्ली एब्दो हमले के गवाह हैं। दोनों भाइयों के सुरक्षाबलों से घिरे होने के बीच चार्ल्स डी गॉल हवाई अड्डे ने गतिरोध टालने के लिए या विमानों को खतरे में पड़ने से बचाने के लिए दो रनवे को बंद कर दिया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App