ताज़ा खबर
 

कोरोना टीका के सारे डोज ले चुके लोग एक जगह बिना मास्क और पास-पास रह सकते हैं- सीडीसी

अमेरिका में सीडीसी की तरफ से जारी कोरोना की नई गाइडलाइन में कहा गया है कि जो लोग पूरी तरह से वैक्सीन ले चुके हैं वे पास-पास रह सकते हैं और उनके लिए मास्क लगाना भी जरूरी नहीं है।

corona virus, vaccineतस्वीर लंदन की है। यहां इसका सांकेतिक इस्तेमाल किया गया है। फोटो क्रेडिट- रॉयटर्स

कोरोना महामारी के फैलने के साथ ही मास्क और सोशल डिस्टैंसिंग जीवन का हिस्सा बन गया है। लेकिन अब अमेरिका में लोगों को राहत मिल गई है। प्रशासनिक अधिकारी के मुताबिक जिन लोगों ने कोरोना वैक्सीन की पूरी डोज ले ली है वे बंद स्थानों पर बिना मास्क के भी साथ रह सकते हैं। लोगों को यहां सोशल डिस्टैंसिंग की भी जरूरत नहीं होगी। सोमवार को सेंटर्स फॉर डिजीज कंट्रोल ऐंड प्रिवेंशन ने नई गाइडलाइन जारी की है।

वैक्सीन आने के बाद लंबे समय से लोग छूट की मांग कर रहे थे। अब लोगों को अपने परिवार के सदस्यों से मिलने, बिना पाबंदियों के यात्रा करने और कई जगहों पर इंजॉय करने की छूट दे दी गई है। लोग थिएटर में भी आराम से मूवी देख सकते हैं। सीडीसी के डायरेक्टर ने कहा, ‘जैसे जैसे वैक्सिनेशन की मुहिम आगे बढ़ रही है, हम ज्यादा छूट दे रहे हैं।’

एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में उन्होंने कहा, यह नॉर्मैलिसी की ओर लौटने का पहला स्टेप है जिससे कि लोग अपनों के पास बिना किसी प्रतिबंध के रह सकें। अब ज्यादा से ज्यादा लोगों को कोरोना का टीका लगाया जा रहा है और महामारी से होने वाली मौतों की संख्या में भी काफी कमी आ गई है।

इससे पहले फरवरी में सीडीसी ने कहा था कि कोरोना के मामलों में कमी आ रही है लेकिन बिना मास्क के घर से निकलना सुरक्षित नहीं है। यह भी सलाह दी गई थी कि लोग खुद को सुरक्षित रखने के लिए डबल मास्क का प्रयोग करें। बता दें कि दुनियाभर में कोरोना से सबसे ज्यादा अमेरिका ही प्रभावित हुआ। यहां अब तक 2.97 करोड़ लोग संक्रमति हो चुके हैं और 5 लाख 38 हजार से भी ज्यादा लोगों की जान जा चुकी है। कोरोना ने सबसे ज्यादा तबाही अमेरिका में ही मचाई है।

सीडीसी ने यात्राओं के बारे में दी गई सलाह में कोई परिवर्तन नहीं किया है। निर्देशों में कहा गया है कि जिन्हें टीका लग गया है वे अपने परिवार से मिलने के लिए यात्रा कर सकते हैं लेकिन अनावश्यक यात्राओं से बचना चाहिए। नई गाइडलाइन में रेस्तरां में जाने के बारे में कुछ नहीं कहा गया है।

Next Stories
1 क्या है मैत्री सेतु, जिसका PM नरेंद्र मोदी ने किया उद्घाटन? समझें- भारत के लिए कितनी रखता है अहमियत
2 म्यांमार तख्तापलट के खिलाफ प्रदर्शन का कवरेज करने वाले मीडिया संस्थानों पर लगा बैन, घर-घर तलाशी
3 स्विट्जरलैंड : बुर्का प्रतिबंध के पक्ष में 51 फीसद लोग
ये पढ़ा क्या?
X