ताज़ा खबर
 

US सुप्रीम कोर्ट 9/11 हमले के बाद हिरासत में लिए गए आव्रजको के मामलों पर करेगा गौर

अमेरिकी शीर्ष अदालत 11 सितंबर 2001 के आतंकी हमले के बाद अपमानजनक तौर पर हिरासत में लिए गए आव्रजकों के मामले पर गौर करने को तैयार हो गई है।

Author वाशिंगटन | Updated: October 12, 2016 1:03 PM

अमेरिकी शीर्ष अदालत 11 सितंबर 2001 के आतंकी हमले के बाद अपमानजनक तौर पर हिरासत में लिए गए आव्रजकों के मामले पर गौर करने को तैयार हो गई है। इस मामले में पूर्व वरिष्ठ सरकारी अधिकारी आरोपी हैं। यह मामला तत्कालीन राष्ट्रपति जार्ज बुश प्रशासन के तहत कार्यरत पूर्व अटॉर्नी जनरल जॉन एशक्राफ्ट, पूर्व एफबीआई निदेशक रोबर्ट मुलेर और अन्य प्रशासनिक अधिकारियों की जिम्मेदारी से जुड़ा है जिन्होंने दलील दी है कि उन्हें अभियोजन चलाए जाने से छूट प्राप्त है।
अमेरिकी प्राधिकारियों ने अल-कायदा के आतंकियों द्वारा न्यूयॉर्क, वाशिंगटन और एक व्यवसायिक विमान पर किए गए 9:11 आतंकी हमले के सिलसिले में 750 आव्रजकों को हिरासत में लिया था और उनसे पूछताछ की गई थी क्योंकि उनके पास आव्रजन के पर्याप्त दस्तावेज मौजूद नहीं थे।


अभियोजन पक्ष का कहना है कि उन्हें इसलिए निशाना बनाया गया क्योंकि वे मुस्लिम हैं या अरब मूल के और उन्हें बिना किसी उचित कारण के हिरासत में लिया गया। उन्होंने अलग-थलग रखने, सोने से रोकने और अपमान करने और गार्ड द्वारा शारीरिक प्रताड़ना करने समेत अपमानजनक तरीक से हिरासत में लेने का भी जिक्र किया। मौजूदा आठ में से दो सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीशों ने खुद को इस मामले से अलग कर लिया है क्योंकि इससे हितों के टकराव की स्थिति पैदा हो सकती थी।

सुनवाई की तारीख अभी तय नहीं हो पाई है । अगर अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा के दूसरा कार्यकाल पूरा करने से पहले मामले की सुनवाई शुरू होती है तो इसका यह मतलब होगा कि उनका डेमोक्रेटिक प्रशासन रिपब्लिकन बुश प्रशासन का बचाव करेगा। बराक ओबामा का दूसरा कार्यकाल अगले साल 20 जनवरी को पूरा हो रहा है।

Next Stories
1 नहीं चाहिए रेयान का समर्थन, मुझे इसकी परवाह नहीं: ट्रम्प
2 म्यामां के अशांत राखिन प्रांत में झड़पों में 12 लोगों की मौत
3 भारत पर लगाम लगाने के लिए PAK की चाल, चीन के साथ मिलकर बनाएगा सार्क से बड़ा संगठन
ये पढ़ा क्या?
X