ताज़ा खबर
 

जज ने कोर्ट मेंं रेप पीडि़ता से पूछा- घुटने जोड़ क्‍यों नहीं रखे थे, आरोपी को कर दिया बरी

अल्‍बर्टा कोर्ट ने हालांकि 2015 में अपील पर सुनवाई करते हुए फैसले पर रोक लगा दी थी और नए सिरे से ट्रायल का आदेश दिया था।
रेप पीडि़ता को ही आरोपी बता देने वाले जज रोबिन कैंप।

कनाडा में रेप मामले की सुनवाई के दौरान जज ने पीडि़ता के व्‍यवहार पर सवाल उठा दिया। जज पर आरोप है कि उन्‍होंने रेप पीडि़ता से कहा कि उसने घटना के दौरान अपने दोनों घुटने पास क्‍यों नहीं रखे। मामले के सामने आने के बाद जज के बयान का काफी विरोध हो रहा है। उनके खिलाफ जनसुनवाई चल रही है और उनकी नौकरी भी जा सकती है।

Video: महिला का होता रहा रेप और ठहाके मारके हंसते रहे IS आतंकी

साल 2014 के रेप के मामले में जज रोबिन कैंप ने पीडि़ता से पूछा, ”तुमने अपने घुटने पास क्‍यों नहीं रखे। तुमने अपने अंगों को बेसिन में क्‍यों नहीं डाला इससे वह तुम्‍हारे साथ जबरदस्‍ती नहीं कर सकता था।” उन्‍होंने बार-बार पीडि़ता को आरोपीी भी कहा। इस मामले में आरोपी स्‍कॉट वेगनर था। उस पर आरोप था कि उसने 19 साल की लड़की के साथ एक पार्टी के दौरान सिंक में रेप किया। बाद में इन्‍हीं जज ने उसे बरी कर दिया था।

जज के बयान से सोशल मीडिया पर गुस्‍सा, यूजर्स ने कहा- बर्खास्‍त कर दो 

सांकेतिक तस्वीर

अल्‍बर्टा कोर्ट ने हालांकि 2015 में अपील पर सुनवाई करते हुए फैसले पर रोक लगा दी थी और नए सिरे से ट्रायल का आदेश दिया था। जज कैंप पर अब के‍लगिरी में सितम्‍बर में सुनवाई की जाएगी। कानून के कई जानकारों ने उनके खिलाफ शिकायत की थी। उन पर नौकरी जाने का खतरा भी मंडरा रहा है। कैनेडियन ज्‍यूडिशियल काउंसिल के सामने जज ने माफी भी मांगी थी और माना कि उन्‍होंने असंवेदनशील व अनुपयुक्‍त टिप्‍पणी की थी। साथ ही कहा कि अब वे पहले से भी बेहतर जज साबित होंगे क्‍योंकि यौन शोषण के मामलों के लिए उन्‍होंने जज, मनोचिकित्‍सक और एक्‍सपर्ट से काउंसलिंग ली है। कैंप ने कहा कि वे सार्वजनिक रूप से माफी मांगने को भी तैयार हैं।

महिलाओं ने कुछ इस तरह उठाई रेप के खिलाफ आवाज

फोटोशूट में महिलाओं ने ऐसी बातों को लिखा है जो अक्सर उन्हें कही जाती हैं। एक महिला ने जहां लिखा है कि मेरी स्कर्ट बहुत छोटी थी, वहीं दूसरी महिला लिखती हैं, 'हां यह मेरी गलती थी, मैं शराब के नशे में थी।' इन तस्वीरों में महिलाएं जहां कार्डबोर्ड लिए खड़ी हैं, वहीं पीछे से उनके शरीर को नौचता एक मर्द का हाथ दिखाया गया है। (Photo Source: Facebook) (Photo Source: Facebook)

सितम्‍बर में सात दिन तक चलने वाली सुनवाई के दौरान कैंप की किस्‍मत का फैसला किया जाएगा। वर्तमान में कैंप को सुनवाई से दूर कर दिया गया है। इस मामले का सोशल मीडिया पर भी काफी विरोध चल रहा है।

गर्लफ्रैंड से रेप करने के आरोप में दोस्‍त का सिर काट जंगल में फेंका, फेफड़ों में घोंपा चाकू

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.