ताज़ा खबर
 

पाकिस्तान में हुआ बड़ा सड़क हादसा, तेज रफ्तार बस घाटी में गिरने से 27 की मौत

पुलिस ने बताया कि दुर्घटना के कारणों का पता नहीं चल सका है लेकिन बस में तय सीमा से अधिक यात्रियों को ले जाने को इसकी वजह माना जा रहा है।

Author लाहौर | November 9, 2017 18:02 pm
डॉन न्यूज की रिपोर्ट में बताया गया कि 13 घायलों की स्थिति गंभीर हैं। (Source: Google Maps)

पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में तेज रफ्तार से जा रही एक बस घाटी में गिर गई। बस में 100 से अधिक यात्री सवार थे। इस दुर्घटना में कम से कम 27 लोगों की मौत हो गई और 69 अन्य घायल हो गए। यह जानकारी गुरुवार को पुलिस ने दी। निर्धारित सीमा से अधिक यात्रियों को ले जा रही यह बस कोहाट से रायविंड जा रही थी। यह घटना बुधवार रात कल्लर कहार नगर में हुई। सदर पुलिस थाने के प्रभारी मुहम्मद अफजल ने बताया, ‘‘यात्री, सालाना आयोजित होने वाले धार्मिक सम्मेलन में शामिल होने के लिए रायविंड जा रहे थे।’’ दुनिया न्यूज की खबर के मुताबिक, हादसे में मरने वालों की संख्या 27 हो गई है। गंभीर चोट के कारण घायलों में से तीन की इलाज के दौरान मौत हो गई।

डॉन न्यूज की रिपोर्ट में बताया गया कि 13 घायलों की स्थिति गंभीर है और उन्हें रावलपिंडी ले जाया गया जबकि कई घायलों को पास के ही अस्पतालों में भर्ती कराया गया। पुलिस ने बताया कि दुर्घटना के कारणों का पता नहीं चल सका है लेकिन बस में तय सीमा से अधिक यात्रियों को ले जाने को इसकी वजह माना जा रहा है। बस को इस्लामाबाद-लाहौर मोटरवे के रास्ते रायविंड जाना था लेकिन इसने दूसरा मार्ग लिया।

अफजल ने बताया, ‘‘धुंध के कारण मोटरवे को रात 10 बजे के बाद बंद कर दिया जाता है और निर्धारित संख्या से अधिक यात्रियों को ले जाने वाली बसों पर जुर्माना लगाया जाता है, इसी कारण से चालक ने ग्रांड ट्रंक रोड से जाने का विकल्प चुना।’’ उन्होंने बताया, ‘‘चालक इस इलाके से परिचित नहीं था और वह तेज गति से बस चला रहा था। एक ढलान से गुजरने के दौरान बस घाटी में गिर गई।’’ पंजाब के मुख्यमंत्री शाहबाज शरीफ ने दुर्घटना में मरने वालों के प्रति शोक जताया है और घटना की एक रिपोर्ट मांगी है। साथ ही उन्होंने अधिकारियों को दुर्घटना में घायल हुए लोगों को फौरन इलाज और राहत मुहैया कराने का आदेश दिया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App