ताज़ा खबर
 

बुर्ज खलीफा जितना बड़ा एस्ट्रायड आ रहा पृथ्वी की ओर, पर है इससे खतरा? जानिए

NASA’s Near-Earth Object Observations Programme की मानें तो जो एस्ट्रायड 140 मीटर या उससे बड़े (एक छोटे फुटबॉल स्टेडियम से भी बड़ा) आकार के होते हैं, वे 'बड़ी चिंता' के विषय होते हैं।

Author Edited By अभिषेक गुप्ता नई दिल्ली | Updated: November 28, 2020 9:24 AM
तस्वीर का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है। (फोटोः Freepik)

दुनिया की सबसे लंबी बिल्डिंग बुर्ज खलीफा जितना बड़ा एस्ट्रायड (Asteroid) रविवार यानी 29 नवंबर को पृथ्वी के बेहद करीब से होकर निकल जाएगा। इस एस्ट्रायड का नाम 153201 (2000 WO107) है और यह भारतीय समयानुसार हमारे गृह के नजदीक से सुबह 10 बजकर 38 मिनट के आस-पास गुजरेगा।

वैसे, जब भी कोई एस्ट्रायड आने वाला होता है, तब सोशल मीडिया प्लैटफॉर्म्स पर यूजर्स इन्हीं को लेकर बात करते हैं। कुछ चिंता जाहिर करते हैं, तो कई आगे की स्थितियों को लेकर चर्चा करते हैं। इस बार भी कमोबेश ऐसा ही हुआ, क्योंकि 153201 (2000 WO107) उल्कापिंड का आकार ही इतना बड़ा है। बताया गया कि यह मिसाइल की गति से आगे बढ़ रहा है।

हालांकि, अमेरिका की स्पेस प्रोग्राम एजेंसी National Aeronautics and Space Administration (NASA) के मुताबिक, हकीकत में अंतरिक्ष की चीजों से एक सभ्यता को खतरा या जोखिम बेहद दुर्लभ है। ऐसा कुछ मिलियन वर्षों में एक बार होता है।

कैसा है Asteroid 153201 (2000 WO107)?: इस एस्ट्रायड का डायामीटर 500 मीटर से अधिक है और यह करीब 800 मीटर ऊंचा है यानी लगभग दुबई स्थित बुर्ज खलीफा के साइज का। बुर्ज खलीफा विश्व की सबसे लंबी इमारत है, जिसकी लंबाई 830 मीटर है। यह बात साल 2000 में सामने आई थी। NASA की जेट प्रोपल्शन लैबोरेट्री वेबसाइट के मुताबिक, इस उल्कापिंड के बारे में साल 2000 में पता लगाया गया था। बता दें कि इन्हें नियर अर्थ ऑब्जेक्ट (NEO) माना जाता है, जो कि कई कॉमेट्स और एस्ट्रायड का समूह होते हैं। गुरुत्वाकर्षण की वजह से ये गृहों के आसपास से गुजरते हैं। ये ज्यादातर बर्फ के होते हैं, जिसमें साथ में धूल के महीन हिस्से भी रहते हैं। यह पृथ्वी के पास कम ही आते हैं।

क्या करनी चाहिए चिंता?: चूंकि, इस उल्कापिंड का आकार बड़ा है, तो पृथ्वी के पास से गुजरने के दौरान यह करीब 43 लाख किलोमीटर की दूरी बनाएगा। यह दूरी उतनी ही है, जिनकी कि हमारे गृह और चंद्रमा के बीच में है। The Planetary Society के अनुसार, एक मीटर से अधिक डायामीटर वाले लगभग 1 बिलियन एस्ट्रायड होने का अनुमान है। पर पृथ्वी को प्रभावित कर महत्वपूर्ण नुकसान पहुंचाने वाले 30 मीटर से बड़े हो सकते हैं।

NASA’s Near-Earth Object Observations Programme की मानें तो जो एस्ट्रायड 140 मीटर या उससे बड़े (एक छोटे फुटबॉल स्टेडियम से भी बड़ा) आकार के होते हैं, वे ‘बड़ी चिंता’ के विषय होते हैं। वैसे, यह कहा जा चुका है कि 140 मीटर से बड़े किसी एस्ट्रायड के अगले 100 सालों तक पृथ्वी से टकराने की आशंका नहीं है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 शादी में दूल्हे को गिफ्ट किया AK-47, IPS ने वीडियो शेयर कर कहा – ऐसी है पड़ोस की मानसिकता
2 व्हाइट हाउस छोड़ने पर राजी हुए डोनाल्ड ट्रंप, मगर रख दी ये ‘शर्त’
3 पोर्क पर संसद में संग्राम, फेंके गए मांस के टुकड़े, MPs में भी हाथापाई
ये पढ़ा क्या?
X