ताज़ा खबर
 

ब्रिटेन में बुरहान वानी की याद में होने वाली थी रैली, भारत ने किया विरोध तो कैंसिल हुआ कार्यक्रम

ब्रिटिश काउंसिल द्वारा रैली रद्द किए जाने को भारत-ब्रिटेन के मजबूत रिश्‍तों के रूप में देखा जा रहा है।
22 वर्षीय बुरहान वानी सोशल मीडिया पर कश्‍मीर में आतंकवाद का पोस्‍टर बॉय था।

ब्रिटेन में कुख्‍यात आतंकी संगठन हिजबुल कमांडर बुरहान वानी की याद में होने वाली रैली रद्द कर दी गई है। भारत सरकार ने इस संबंध में कड़ा विरोध दर्ज कराया था, जिसके बाद बर्मिंघम सिटी काउंसिल ने बुधवार को आयोजकों को दी गई इजाजत वापस ले ली। भारत ने सोमवार को इस संबंध में ‘नोट वर्बेल’ जारी ब्रिटेन से कहा था कि वह काउंसिल हाउस के बाहर होने वाले ‘कश्‍मीर रैली’ नाम के कार्यक्रम को रोके। कार्यक्रम के पोस्‍टर्स और घोषणाओं में वानी की तस्‍वीर का इस्‍तेमाल किया गया था जिसे सुरक्षा बलों ने 8 जुलाई, 2016 को एक मुठभेड़ में मार गिराया था। बर्मिंघम काउंसिल के प्रवक्‍ता ने हिंदुस्‍तान टाइम्‍स से बातचीत में कहा, ”हमने कश्‍मीर में मान‍वाधिकार उल्‍लंघन को लेकर शांतिपूर्ण रैली की बुकिंग की थी। हालांकि अब हमें पता है कि प्रमोशनल लीफलेट के बारे में क्‍या चिंताएं हैं, मामले का अंदाजा लगाने के बाद, हमने विक्‍टोरिया स्‍क्‍वायर के इस्‍तेमाल की इजाजत नहीं दी है।”

ब्रिटिश काउंसिल द्वारा रैली रद्द किए जाने को भारत-ब्रिटेन के मजबूत रिश्‍तों के रूप में देखा जा रहा है। इससे पहले कई ‘भारत-विरोधी’ कार्यक्रमों को अभिव्‍यक्ति की आजादी के आधार पर इजाजत दी जा चुकी है। भारत द्वारा ‘नोट वर्बेल’ जारी किए जाने के कुछ दिन पहले ही उच्‍चायुक्‍त वाईके सिन्‍हा ने लंदन में एक बुक लॉन्‍च के समय कहा था कि ब्रेग्जिट के बाद भारत के साथ व्‍यापार बढ़ाने की ब्रिटेन की बेचैनी तब तक फलीभूत नहीं होगी, जब तक नई दिल्‍ली की चिंताओं को नजरअंदाज किया जाता रहेगा।

भारत ने नोट वर्बेल में कहा था कि भारत द्वारा आतंकी माने जाने वाले एक व्‍यक्ति की याद में कार्यक्रम की इजाजत की अपेक्षा थिरेसा मे सरकार से नहीं की गई थी। भारत ने वानी की एके-47 के साथ तस्‍वीरों और भारत के खिलाफ उसकी बातों को भी ब्रिटेन के सामने प्रमुखता से रखा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. B
    bitterhoney
    Jul 5, 2017 at 11:11 pm
    भारत की एक घुड़की से ही ब्रिटिश सरकार कांप गयी. यह है भारत की शक्ति. आतंकवादी चीन को भी सबक लेना चाहिए.
    (0)(0)
    Reply
    1. V
      Vikramaditya
      Jul 5, 2017 at 11:02 pm
      While reading this news,I have seen one video praising Bhuraan waani and their terrorist activities on the same page..It is unacceptable and as a responsible newspaper jansatta must apologize for it and they must remove this video as soon as possible...
      (0)(0)
      Reply
      1. V
        Vikramaditya
        Jul 5, 2017 at 10:55 pm
        While reading this news on Bhuraan Wani..I have seen one video on the same page praising Bhuraan Wani and their terrorist activities..It is unacceptable and as a responsible newspaper jansatta must apologize for that and they must remove this video as soon as possible..
        (0)(0)
        Reply
        1. V
          Vikramaditya
          Jul 5, 2017 at 10:31 pm
          While reading this news about burhaan Wani on your page I have seen a video praising burhaan Wani and his terrorist activities...This is in acceptable and jansatta must apologize about it and they should remove this video as soon as possible..Being a responsible news paper you must take this into consideration..
          (0)(0)
          Reply