ताज़ा खबर
 

Brussels Blasts बेल्जियम में दूसरे विश्‍व युद्ध के बाद सबसे बड़ा हमला, संदिग्‍ध की गिरफ्तारी का खंडन

पुलिस ब्रसेल्‍स में कई ठिकानों पर कार्रवाई कर रही है। शहर में लॉकडाउन में ढील दी गई है।
बेल्जियम की राजधानी ब्रसेल्‍स में एयरपोर्ट धमाकों के संदिग्‍धों की तस्‍वीर।

बेल्जियम की राजधानी ब्रसेल्स में फिदायीन हमले में संदिग्‍ध  नाजिम लाजरोई गिरफ्तार नहीं हुआ है। इससे पहले, बेल्‍ज‍ियन मीडिया के हवाले से खबर आई थी कि वह गिरफ्तार हो गया। अधिकारियों ने बयान जारी करके कहा कि गिरफ्तार शख्‍स लाजरोई नहीं है।

इससे पहले पुलिस ने तीन संदिग्धों की सीसीटीवी इमेज जारी की थी। अधिकारियों ने बताया था कि इनमें से दो की सुसाइड ब्लास्ट में मौत हो गई, जबकि बम फेल हो जाने से तीसरा संदिग्‍ध बच निकला। बेल्जियम के सरकारी चैनल के अनुसार हमले में शामिल दो संदिग्‍धों के नाम खालिद और इब्राहिम अल बक्ररोई है। वहीं, ISIS ने इसकी जिम्मेदारी लेते हुए और हमले करने की धमकी दी है।

ब्रसेल्स में मंगलवार को तीन बम धमाकों में अब तक 35 की मौत हो चुकी है। 200 से ज्यादा घायल हैं। फेडरल प्रॉसिक्यूटर वानप्रा लीयूव के मुताबिक, सीसीटीवी में तीन संदिग्‍ध एयरपोर्ट पर दिख रहे हैं। ये टर्मिनल से ट्रॉली खींचते नजर आ रहे हैं। इनमें से दो मारे गए हैं। तीसरा शख्स लाइट कलर की जैकेट और हैट पहने है। बाद में एयरपोर्ट बिल्डिंग से वह बाहर निकल गया। पुलिस तीसरे की तेजी से तलाश कर रही है।

पुलिस ब्रसेल्‍स में कई ठिकानों पर कार्रवाई कर रही है। वहीं शहर में लॉकडाउन में ढील दी गई है। कुछ हिस्‍सों में सार्वजनिक यातायात को भी खोल दिया गया है। मंगलवार को हुआ फिदायीन हमला बेल्जियम में दि्वतीय विश्‍व युद्ध के बाद सबसे बड़ा हमला है। हमले के बाद बेल्जियम के प्रधानमंत्री ने कहा कि देश के लिए यह काला दिन है। जिसका हमें डर था वह हो चुका है। इस हमले को पेरिस हमले के मास्‍टरमाइंड सलाह अब्‍देसलाम की गिरफ्तारी का जवाब माना जा रहा है।

Read AlsoBrussels Blasts: चश्‍मदीद बोले- हर जगह बिखरा था खून ही खून, ऐसा लगा मानो जंग का मैदान हो

ब्रसेल्‍स पर ही हमला क्‍यों
ब्रसेल्‍स में कई अंतरराष्‍ट्रीय संगठनों के दफ्तर हैं। इनमें यूरोपियन यूनियन का दफ्तर भी शामिल है। ब्रसेल्‍स में धमाके कर आतंकी पूरे यूरोप को डराना चाहते हैं। साथ ही बेल्जियम ने इस्‍लामिक स्‍टेट पर हमला करने के लिए लड़ाकू विमान भी भेजे थे। इसके चलते भी वह आईएस के निशाने पर था। हाल के सालों में ब्रसेल्‍स मुस्लिम कट्टरपंथियों की पनाहगाह बन गया। पेरिस हमले में शामिल आतंकी ब्रसेल्‍स में ही छुपे हुए थे। साथ ही इन हमलों के मास्‍टरमाइंड अब्‍देसलाम को भी ब्रसेल्‍स से ही गिरफ्तार किया गया था।

Read Alsoबेल्जियम: बम धमाकों में 26 की मौत, आतंकी संगठन IS ने ली हमले की जिम्मेदारी

पश्चिमी देशों में बेल्जियम से ही सबसे ज्‍यादा लोग इस्‍लामिक स्‍टेट की ओर से लड़ने के लिए गए हैं। यहां से लगभग 470 युवक इस्‍लामिक स्‍टेट में शामिल हुए हैं। इनमें से लगभग 118 को ट्रेनिंग देकर वापस भेज दिया गया। जानकारों का कहना है कि सीरिया और इराक में हवाई हमलों के चलते घटते प्रभाव के बाद आईएसआईएस ने अपनी नीति बदली है। अब वह पश्चिमी देशों को निशाना बना रहा है। इसके लिए वह वहां से आए हुए लोगों में से कुछ को ट्रेनिंग देकर वापस भेज देता है। इनके जरिए वह हमले कराता है। पेरिस और ब्रसेल्‍स इसी का परिणाम है।

See Pics: देखिए बम धमाकों के बाद का ब्रसेल्‍स

Brussels airport , Two explosions hit Brussels airport, several casualties reported,news, India news,International News,International News in India ,Brussels, update, latest news धमाकों की आवाज सुनते ही लोग एयरपोर्ट से भागते हुए। (pic source- sky news twitter)

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.