ताज़ा खबर
 

ISIS के बम धमाकों से दहला ब्रसेल्स: 35 लोगों की मौत, 200 से ज्यादा घायल

बेल्जियम की राजधानी ब्रसेल्स के हवाई अड्डे और एक मेट्रो स्टेशन पर मंगलवार को हुए विस्फोटों में करीब 35 लोगों की मौत हो गई और 200 से अधिक घायल हो गए। हमले की जिम्मेदारी इस्लामिक स्टेट ने ली है।
Author ब्रसेल्स | March 23, 2016 02:51 am
धमाकों के बाद एयरपोर्ट से भागते लोग (pic source- sky news twitter)

बेल्जियम की राजधानी ब्रसेल्स के हवाई अड्डे और एक मेट्रो स्टेशन पर मंगलवार को हुए विस्फोटों में करीब 35 लोगों की मौत हो गई और 200 से अधिक घायल हो गए। हमले की जिम्मेदारी इस्लामिक स्टेट ने ली है। विस्फोटों के बाद बेल्जियम में भीषण आतंकी खतरे की चेतावनी जारी कर दी गयी और साथ ही पूरे यूरोप में सुरक्षा कड़ी कर दी गई।

बेल्जियम के प्रधानमंत्री चार्ल्स माइकल ने इस हमले को ‘हिंसक और कायरतापूर्ण’ करार देते हुए कहा, ‘यह त्रासदी का दिन है, काला दिन है।’ जेवेन्तम एयरपोर्ट के मुख्य कक्ष में दो विस्फोट दिन में भारतीय समयानुसार करीब 11:30 बजे हुए। अभियोजक फ्रेदरिक वाल लीवू ने कहा कि इस हमले में एक आत्मघाती हमलावर शामिल हो सकता है।

तीसरा विस्फोट यूरोपीय संघ की मुख्य इमारत के समीप मालबीक मेट्रो स्टेशन पर हुआ। आफिस का समय होने के कारण मेट्रो स्टेशन पर भीड़ थी और साथ ही हवाई अड्डे पर भी चेकइन करने के लिए बड़ी संख्या में यात्री मौजूद थे।

अग्निशमन सेवा के एक प्रवक्ता ने बताया कि हवाई अड्डे पर हुए विस्फोटों में 14 लोगों की मौत हो गई और 90 से अधिक घायल हो गए। प्रवक्ता ने कहा, ‘96 लोग घायल हुए हैं और 14 की मौत हो गई है। ये आंकड़े बदल सकते हैं।’ ब्रसेल्स के मेयर युवान मेयूर ने कहा कि मेट्रो स्टेशन पर हुए धमाके में करीब 20 लोगों की मौत हो गई और 106 लोग घायल हो गए।

विस्फोट के बाद हवाई अड्डे पर अफरा-तफरी मच गई, यात्री इधर-भागते देखे गए। हवाई अड्डे की इमारत से धुआं उठता देखा गया और खिड़कियों के शीशे टूट गए। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि हवाई अड्डे पर विस्फोटों से पूर्व अरबी भाषा में नारेबाजी सुनी गयी। पुलिस कारों और बचाव वाहनों के घटना स्थल के लिए दौड़ने के बीच ट्विटर पर हवाई अड्डा प्राधिकरण ने लिखा, ‘हवाई अड्डे में दो विस्फोट हुए हैं। इमारत को खाली कराया गया है। हवाई अड्डा क्षेत्र में न न आएं।’

हमले के बाद यूरोप और दुनिया भर के नेताओं ने बेल्जियम के प्रति संवेदना और एकजुटता प्रकट की। अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने हमले को ‘आक्रोशित करने वाला’ करार दिया और कहा कि अमेरिका जिम्मेदार लोगों को पकड़ने के लिए हर प्रयास करेगा।

क्यूबा की राजधानी हवाना पहुंचे ओबामा ने कहा, ‘हमें राष्ट्रीयता या नस्ल अथवा धर्म से ऊपर उठकर आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में साथ आना होगा। हम उन लोगों को पराजित कर सकते हैं और करेंगे जो दुनिया भर में लोगों की सुरक्षा के लिए खतरा पैदा करे हैं।’ स्वीडन के प्रधानमंत्री स्टीफन लोफवेन ने विस्फोटों को ‘लोकतांत्रिक यूरोप के खिलाफ हमला’ करार दिया जबकि ब्रिटिश प्रधानमंत्री डेविड कैमरन ने ट्वीट किया, ‘मैं सदमे में हूं और ब्रसेल्स की घटनाओं से चिंतित हूं। मदद के लिए हम सबकुछ करेंगे।’ फ्रांस के राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलोंद ने कहा कि ब्रसेल्स में हमला पूरे यूरोप पर हमला है तथा आतंकवाद के खतरे का मुकाबला करने के लिए समूचे यूरोप को ठोस कदम उठाने की जरूरत है।

बीते नवंबर में 130 लोगों की जान लेने वाले पेरिस आतंकवादी हमलों के मुख्य संदिग्ध सालेह अब्दुस्सलाम को शुक्रवार को नाटकीय तरीके से गिरफ्तार किए जाने के बाद ये विस्फोट हुए हैं। अब्दुस्सलाम चार महीने से फरार था। पड़ोसी फ्रांस, जर्मनी और नीदरलैंड्स के साथ ही ब्रिटेन में भी हवाई अड्डों की सुरक्षा बढ़ा दी गयी है। फ्रांस में 1,600 अतिरिक्त पुलिसकर्मियों की तैनाती की गई है।

हवाई अड्डे और मेट्रो स्टेशन पर विस्फोटों के बाद ब्रसेल्स में यातायात बंद कर दिया गया। हवाई अड्डे के भीतर और बाहर सभी उड़ानों को रोक दिया गया तथा शहर की मेट्रो, ट्राम और बस सेवाओं को भी बंद कर दिया गया है। सेना ने ब्रसेल्स हवाई अड्डे पर एक संदिग्ध पैकेज को ध्वस्त कर दिया। खबर यह भी है कि पुलिस को एक सुसाइड बेल्ट भी मिला है।

ब्रसेल्स में यूरोपीय संघ के कर्मचारियों को कार्यालयों या घरों के भीतर रहने को कहा गया है। यहीं पर 28 देशों के यूरोपीय संघ का मुख्यालय है। बेल्जियम के विदेश मंत्री दिदिएर रेंडर्स ने कहा कि पेरिस में हमले के लिए साजो-समान मुहैया कराने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाला अब्दुस्सलाम इसी तरह के नए हमले की योजना बना रहा था।

इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि हमले के संदिग्धों के फरार होने की आंशका है। विदेश मंत्री ने कहा, ‘जांच चल रही है..क्योंकि हमें आशंका है कि कुछ लोग अभी फरार हैं।’ बेल्जियम के प्रशासन ने मीडिया से कहा है कि वह धमाकों की जांच की रिपोर्टिंग से परेहज करे। बयान में कहा गया है, ‘संघीय अभियोजक ने पाया कि कुछ पत्रकार जांच से जुड़ी सूचना के बारे में रिपोर्टिंग कर रहे हैं। ऐसे में मीडिया से आग्रह किया जाता है कि वह ऐसी सूचना देने से परहेज करे जिससे जांच को नुकसान पहुंच सकता है।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.