ताज़ा खबर
 

पेंटिंग के जरिये चैरिटी करना चाहता है ये क्रिकेटर, ट्रोल्स ने कहा-भाईजान पता नहीं इस्लाम में हराम है चित्रकारी

मोहम्मद जिशान ने लिखा, ' क्या आपको नहीं पता है भाईजान, इस तरह की पेटिंग, ड्राइंग बनाने की इस्लाम में अनुमति नहीं है, जहां तक मेरा छोटा सा ज्ञान है।'

Moeen Ali, Moeen Munir Ali, Moeen Ali painting, Cricket, British cricketer, Troll, Islam, Painting, Haram, Hindi news, Cricket news, Jansattaइस अंतर्राष्ट्रीय किक्रेटर ने अपने हाथों से दुनिया के महान क्रिकेटर सर विव रिचर्ड्स की पेटिंग बनाई है। फोटो-Tweeter/@MoeenAli

सोशल मीडिया पर ट्रोलिंग के जरिये जहालत फैलाने वाले लोग कथित रुप से विकसित देशों में भी मौजूद हैं। ऐसे ही ट्रोलिंग का शिकार हुए हैं ब्रिटेन के क्रिकेटर मोइन अली। मोइन अली पेंटिंग के जरिये चैरिटी करना चाहते थे। इसके लिए उन्होंने खुद से दुनिया के महान क्रिकेटर सर विव रिचर्ड्स की एक पेंटिंग बनाई और अपने ट्विटर फॉलोअर्स से अपील की कि वे इसकी बोली लगाएं। क्रिकेट यूनाइटेड नाम की संस्था इस पेटिंग की नीलामी करने वाली थी। ये संस्था क्रिकट चैरिटी अवैयरनेस कैम्पेन चलाती है। अपने फॉलोअर्स से मदद की उम्मीद लिये बैठे मोइन अली को तब बड़ी निराशा हुई जब कुछ मुस्लिम समुदाय के लोग उनकी मदद करने के बजाय उन्हें इस्लाम पर ज्ञान देने लगे। इन लोगों ने कहा कि आपने इस्लाम के सिद्धांतों की खिल्ली उड़ाई है। क्या आपको पता नहीं है कि इस्लाम में चित्रकारी हराम है?

 

मोइन अली को सलाह देते हुए मोहम्मद उम्मैद नाम के एक शख्स ने लिखा जो कि ट्विटर पर खुद संगीतकार बताता है, ‘ भाई इस्लाम में पेटिंग की आज्ञा नहीं है, फंड जुटाने के लिए तुम कुछ और कर सकते हो, तुम्हारी मंशा ठीक है लेकिन अच्छे कामों को करने के लिए हराम का रास्ता मत चुनो।’ इंजीनियर मोहम्मद जिशान ने लिखा, ‘ क्या आपको नहीं पता है भाईजान, इस तरह की पेटिंग, ड्राइंग बनाने की इस्लाम में अनुमति नहीं है, जहां तक मेरा छोटा सा ज्ञान है।’ सैयद नावेद ने भी लिखा है कि इस्लाम में ऐसी चीजों की मनाही है।’ हालांकि कई यूजर्स ने मोइन अली के पहल की तारीफ भी की और उन्हें मदद करने का वादा किया।

 

बता दें कि 30 साल के मोइन अली ब्रिटेन के बड़े मुस्लिम चेहरों में से एक हैं। मोइन अली दाढ़ी रखते हैं और अपने मजहब का भी पालन करते हैं, लेकिन वे कट्टरता से कोसों दूर हैं। मोइन अली का मानना है कि ब्रिटेन में मौजूद एशियाई समुदाय के लोगों में गजब की क्रिकेटिंग क्षमता है। इस क्षमता को निखारने की जरूरत है और इसे एक प्लेटफॉर्म चाहिए।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 चीन फिर बना जैश-ए-मोहम्मद सरगना मसूद अजहर का मददगार, यूएन में नहीं घोषित होने दिया आतंकी
2 वीडियो चैट कर रही थी यह मॉडल, तभी फांसी पर झूल कर दे दी जान
3 वर्ल्‍ड बैंक ने पाकिस्‍तान को दिया झटका, भारत को मिली हाइड्रोइलेक्ट्रिसिटी प्‍लांट बनाने की इजाजत