ताज़ा खबर
 

आतंकी हमले की आशंका को लेकर परमाणू स्टेशन और हवाईअड्डे पर जारी अलर्ट

ब्रिटेन के परमाणु उर्च्च्जा स्टेशनों और हवाईअड्डों को संभावित आतंकवादी हमलों से निपटने के लिए तैयार रहने का निर्देश दिया गया है।

Author लंदन | April 2, 2017 22:20 pm
ब्रिटेन के परमाणु उर्च्च्जा स्टेशनों और हवाईअड्डों को संभावित आतंकवादी हमलों से निपटने के लिए तैयार रहने का निर्देश दिया गया है।

ब्रिटेन के परमाणु उर्च्च्जा स्टेशनों और हवाईअड्डों को संभावित आतंकवादी हमलों से निपटने के लिए तैयार रहने का निर्देश दिया गया है। दरअसल, यह आशंका जताई गई है कि उनके कंप्यूटरों को हैकर निशाना बना सकते हैं। एक मीडिया रिपोर्ट में यह दावा किया गया है। ‘द संडे टेलीग्राफ’ की खबर के मुताबिक सुरक्षा सेवाओं ने पिछले 24 घंटों में कई अलर्ट जारी किए हैं। उन्होंने चेतावनी दी है कि आतंकवादी सुरक्षा जांच को धता बताने के तरीके विकसित किए होंगे। खुफिया एजेंसियों का मानना है कि आईएसआईएस और अन्य आतंकी संगठनों ने मोबाइल फोन और लैपटॉप में बम लगाने के ऐसे तरीके इजाद किए होंगे जो हवाईअड्डा सुरक्षा जांच तरीकों को भी चकमा दे सकते हों। समझा जाता है कि इसी खुफिया जानकारी के चलते अमेरिका और ब्रिटेन ने लैपटॉप और भारी मात्रा में इलेक्ट्रानिक उपकरण लेकर हवाई यात्रा करने वाले कई देशों के यात्रियों को प्रतिबंधित किया होगा।

अखबार ने कहा है कि अब इस बारे में चिंता है कि आतंकवादी यूरोपीय और अमेरिकी हवाईअड्डों पर जांच को चकमा देने की तकनीक का इस्तेमाल करेंगे। इसने कहा है कि यह आशंका भी है कि कंप्यूटर हैकर परमाणु उर्च्च्जा स्टेशन सुरक्षा उपायों को धता बताने की कोशिश कर रहे हैं। उर्च्च्जा मंत्री जेसी नार्मन ने कहा कि सरकार साइबर खतरे से ब्रिटेन को बचाने के लिए पूरी तरह से प्रतिबद्ध है। रक्षा एवं सुरक्षा के लिए एक स्वतंत्र थिंक टैंक रॉयल यूनाइटेड सर्विसेज इंस्टीट्यूट के उप महानिदेशक प्रो. मैलकम चामर्स ने कहा कि सरकार के लिए यह जरूरी है कि वह तेजी से जवाबी कार्रवाई करें।

गौरतलब है बीते दिन भारतीय महिला को जर्मनी के एयरपोर्ट पर कपड़े उतारने को कहे जाने का मामला सामने आया था। महिला बेंगलुरु से आइसलैंड जा रही थीं और इसी दौरान फ्रैंकफर्ट हवाई अड्डे पर सुरक्षाकर्मियों ने उन्‍हें कपड़े उतारने को कहा था। लेकिन महिला के पति के दखल के बाद उन्‍होंने मना कर दिया। महिला का नाम श्रुति बसप्‍पा है और उनके पति पति आइसलैंड निवासी हैं। महिला ने फेसबुक पर पोस्‍ट लिखकर मामले की जानकारी दी। श्रुति ने लिखा, ”यदि हमारे जीवनसाथी या सहयात्री यूरोपियन हैं तो क्‍या भूरे लोग शक के घेरे में नहीं आते?” उन्‍होंने बताया कि जांच में पूरे शरीर का स्‍कैन करवा लिया था। लेकिन सुरक्षा अधिकारियों को फिर भी संदेह था। इस पर श्रुति ने उन्‍हें बताया कि वे हाथ से उनकी जांच कर सकते हैं। लेकिन आराम से ऐसा करें क्‍योंकि दो सप्‍ताह पहले ही उनके पेट का ऑपरेशन हुआ है। लेकिन उन्‍होंने मना कर दिया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App