ताज़ा खबर
 

ब्रिटेन ने भारत को ट्रेवल रेड लिस्ट में किया शामिल, UK में एंट्री पर रोक

ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन के भारत की यात्रा रद्द करने के कुछ घंटे बाद ब्रिटेन ने भारत पर अपना सबसे सख्त यात्रा प्रतिबंध लगा दिया है।

ब्रिटेन ने भारत पर यात्रा से जुड़े प्रतिबंध लगाए हैं। (Indian Express)।

ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन के भारत की यात्रा रद्द करने के कुछ घंटे बाद ब्रिटेन ने भारत पर अपना सबसे सख्त यात्रा प्रतिबंध लगा दिया है। दरअसल ब्रिटेन में कोरोना वायरस के भारतीय वैरिएंट के एक साथ कई मामले सामने आने के बाद देश ने ये फैसला लिया है।

स्वास्थ्य सचिव मैट हैनकॉक ने कहा कि शुक्रवार से भारत को “रेड लिस्ट” में जोड़ा जा रहा है। इस बीच ब्रिटिश या आयरिश नागरिकों को छोड़कर भारत से आए सभी लोगों के आगमन पर प्रतिबंध रहेगा। उन नागरिकों और साथ ही ब्रिटेन में रहने वाले विदेशियों को रेड लिस्ट देशों से लौटने पर 10 दिनों के लिए होटल में क्वारंटीन रहना होगा। जॉनसन की यात्रा को रद्द करने के फैसले के बाद संसद में हैनकॉक ने संसद में कहा, “हमने भारत को रेड लिस्ट में जोड़ने का कठिन लेकिन महत्वपूर्ण निर्णय लिया है।” यह निर्णय बढ़ते मामलों की संख्या और भारत में कोविड -19 की दूसरी लहर के चलते लिया गया है। बता दें कि आज भारत की राजधानी दिल्ली में एक सप्ताह के लिए लॉकडाउन लगा दिया गया।

यूके और भारतीय सरकारों ने सोमवार को जॉनसन की यात्रा रद्द किए जाने की जानकारी दी। इससे पहले भी पीएम जॉनसन की भारत यात्रा जनवरी में रद्द कर दी गई थी। उनका अगले हफ्ते आना तय था लेकिन आज यात्रा रद्द किए जाने का फैसला लिया गया।

बता दें कि 2019 में सत्ता संभालने के बाद से यह जॉनसन की पहली बड़ी विदेश यात्रा होनी थी। आज दोनों सरकारों ने एक संयुक्त बयान में कहा, “मौजूदा कोरोना वायरस स्थिति के चलते, प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन अगले सप्ताह भारत की यात्रा नहीं कर पाएंगे।”

उन्होंने कहा कि जॉनसन और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस महीने के बाद यूके और भारत के बीच भविष्य की साझेदारी के लिए अपनी महत्वाकांक्षी योजनाओं पर सहमति के लिए बातचीत करेंगे। वे इससे परे नियमित संपर्क में रहेंगे, और इस वर्ष के अंत में व्यक्तिगत तौर पर मिलने के लिए उत्सुक हैं।

जॉनसन के कार्यालय ने पिछले हफ्ते घोषणा की थी कि यात्रा को छोटा रखा जाएगा। यह मूल रूप से तीन दिनों के लिए आयोजित की जानी थी और 26 अप्रैल से शुरू होने वाली थी।

इसे ब्रिटेन के लिए ब्रेक्सिट के मद्देनजर अपनी अंतर्राष्ट्रीय व्यापार नीति को फिर से शुरू करने के एक अवसर के रूप में देखा जा रहा था। लेकिन इस साल की शुरुआत में ब्रिटेन में कोरोनो वायरस की स्थिति के चलते जॉनसन भारत नहीं आ सके थे।

अब, भारत में संक्रमण बढ़ रहा है – जहां 2 लाख से अधिक मामले पिछले पांच दिनों से रिपोर्ट किए जा रहे हैं। हैनकॉक ने बताया कि ब्रिटेन में भारतीय वैरिएंट के कुल 103 मामलों की पहचान की गई है।

Next Stories
1 पाक में बवालः कट्टरपंथी संगठन ने 7 जवानों को बनाया बंधक, भड़की हिंसा में गई 4 लोगों की जान, सैंकड़ों जख्मी
2 LAC विवाद: चीन का हॉट स्प्रिंग्स और गोगरा से पीछे हटने से इनकार, कहा- भारत को जितना हासिल हुआ, उतने से खुश रहे
3 कोरोना विषाणु संक्रमण: पूरी दुनिया में 30 लाख से ज्यादा मौत
यह पढ़ा क्या?
X