ताज़ा खबर
 
  • राजस्थान

    Cong+ 99
    BJP+ 81
    RLM+ 0
    OTH+ 19
  • मध्य प्रदेश

    Cong+ 112
    BJP+ 97
    BSP+ 4
    OTH+ 8
  • छत्तीसगढ़

    Cong+ 53
    BJP+ 26
    JCC+ 9
    OTH+ 1
  • तेलांगना

    TRS-AIMIM+ 82
    TDP-Cong+ 25
    BJP+ 6
    OTH+ 6
  • मिजोरम

    MNF+ 25
    Cong+ 10
    BJP+ 1
    OTH+ 4

* Total Tally Reflects Leads + Wins

ब्रिटेन चुनाव: ब्रिटिश पीएम टेरीजा मे को बड़ा झटका, खोया बहुमत, विपक्ष ने मांगा इस्तीफा

बीबीसी के एग्जिट पोल के अनुसार कंजरवेटिव पार्टी को 322 सीटें और लेबर पार्टी को 261 सीटें मिल सकती हैं। बहुमत के लिए 326 सीटें चाहिए।

ब्रिटिश प्रधानमंत्री टेरीजा मे नौ जून को हुए मतदान के दिन। REUTERS/Toby Melville

ब्रिटेन में गुरुवार (आठ जून) को हुए आम चुनाव के नतीजे प्रधानमंत्री टेरीजा मे को बड़ा झटका लगा है। उनकी पार्टी कंजरवेटिव पार्टी को बहुमत नहीं मिल पाया। ब्रिटेन की कुल 650 सीटों में से अभी तक आए नतीजों के अनुसार कंजरवेटिव पार्टी को 310, लेबर पार्टी को 258 और लिबरल डेमोक्रेट को 12 सीटों पर जीत मिल चुकी है। स्कॉटिश नेशनल पार्टी (एसएनपी) को 34 सीटों पर जीत मिली है। साल 2015 में हुए चुनावों में कंजरवेटिव पार्टी को 331 सीटों पर जीत मिली थी। लेबर पार्टी के नेता जेरेमी कॉर्बिन ने टेरीजा मे से इस्तीफे की मांग की है लेकिन उन्होंने यह कहते हुए इनकार कर दिया है कि वो ब्रिटेन में “स्थायित्व” सुनिश्चित करेंगी।

गुरुवार( आठ जून) को ब्रिटेन की कुल 650 सीटों के लिए मतदान हुआ। ब्रिटेन में करीब 4.58 करोड़ मतदाता हैं। बहुमत के लिए किसी भी पार्टी को 326 सीटें जीतनी होती हैं।  ब्रिटेन में आम चुनाव तीन साल पहले कराए गए हैं। ब्रिटेन में संसद का कार्यकाल पांच साल का होता है। ब्रिटेन में पिछला चुनाव साल 2015 में हुआ था। पिछले साल ब्रिटेन के यूरोपीय यूनियन से अलग होने (ब्रेक्जिट) को लेकर हुए जनमत संग्रह में जनता ने यूरोपीय संघ छोड़ने को बहुमत दिया था।

ब्रिटेन के आम चुनाव में कुछ बड़े उलटफेर भी हुए हैं। प्रधानमंत्री टेरीजा मे मेडेनहेड सीट से चुनाव जीती हैं। वहीं लिबरल डेमोक्रेट सांसद और पूर्व उप-प्रधानमंत्री निक क्लेग लेबर पार्टी के उम्मीदवार से चुनाव हार गए हैं। निक क्लागे साल 2010 से 2015 तक कंजरवेटिव पार्टी के साथ गठबंधन सरकार में डिप्टी पीएम रहे थे। चुनाव के रुझान और नतीजों की वजह से पाउंड का विनिमय मूल्य तेजी से गिरा है। उम्मीद की जा रही है कि शुक्रवार दोपहर तक सभी नतीजे आ जाएंगे।

शुक्रवार ( नौ जून) शुरू हुई मतगणना से पहले एग्जिट पोल्स में अनुमान जताया गया था कि टेरीजा मे की कंजरवेटिव पार्टी अपना बहुमत खो सकती है, हालांकि वो देश की सबसे बड़ी पार्टी बनी रहेगी। वहीं मुख्य विपक्षी दल लेबर पार्टी को इस चुनाव से बड़ा फायदा हो सकता है। एग्जिट पोल्स के अनुमान के बाद ही लेबर पार्टी के नेता जेरेमी कॉर्बिन टेरीजा मे से इस्तीफा मांग चुके हैं। टेरीजा मे ने ये चुनाव समय से पहले करवाए थे ताकि वो संसद में अपनी स्थिति मजबूत कर सकें।

टेरीजा मे की पार्टी को ब्रिटिश संसद में मामूली बहमुत प्राप्त था ऐसे में वो दोबारा बहुमत नहीं हासिल करती हैं तो लेबर पार्टी गठबंधन सरकार बना सकती है। एग्जिट पोल में अनुमान जताया गया है कि इस चुनाव में लेबर पार्टी को 34 सीटों का फायदा और कंजरवेटिव पार्टी को 17 सीटों का नुकसान हो सकता है। एग्जिट पोल के अनुसार स्कॉटिश नेशनल पार्टी (एसएनपी) 22 सीटें खो सकती हैं। वहीं लिबरल डेमोक्रेट को छह सीटों का लाभ हो सकता है।

वीडियो- जमानत लेकर नीमच बॉर्डर पहुंचे राहुल

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App