ताज़ा खबर
 

क्या तुम मुसलमान हो- यह कहकर मोहम्मद अली के बेटे को फ्लोरिडा एयरपोर्ट पर रोका

अली फैमिली के फ्रेंड और वकील क्रिस मैकिनी ने बताया कि अली फैमिली इस मामले को फेडरल कोर्ट में ले जाएगी।
इमिग्रेशन डिपार्टमेंट के अफसरों ने मोहम्मद अली जूनियर को नाम की वजह से उन्हें रोक लिया और पूछताछ शुरू कर दी। (PHOTO: TMZ)

लेजेन्ड्री बॉक्सर मुहम्मद अली के बेटे मुहम्मद अली जूनियर (44) को फ्लोरिडा एयरपोर्ट पर इमिग्रेशन अफसरों ने कुछ घंटों के लिए हिरासत में ले लिया था। उनसे पूछताछ की गई। अली की फैमिली के मुताबिक, अफसर बार-बार पूछ रहे थे कि उन्हें ये नाम कहां से मिला। क्या आप मुस्लिम हैं? बता दें कि ट्रम्प एडमिस्ट्रेशन के नए ऑर्डर बाद यूएस आने वाले लोगों को लेकर एयरपोर्ट्स पर सख्ती और बढ़ा दी गई है। यह मामला 7 फरवरी का है। मुहम्मद अली जूनियर और उनकी मां खलीला कामाचो-अली जमैका में एक प्रोग्राम में शामिल होने के बाद फोर्ट लॉडरडेल-हॉलीवुड इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर पहुंचे थे। इमिग्रेशन डिपार्टमेंट के अफसरों ने उनके नाम की वजह से उन्हें रोक लिया और पूछताछ शुरू कर दी। कुछ देर बाद खलीला कामाचो-अली को अफसरों ने छोड़ दिया। रिपोर्ट के मुताबिक, खलीला ने मुहम्मद अली के साथ अपनी फोटो दिखाई थी। लेकिन बेटे को दो घंटे तक रोके रखा, क्योंकि अली के साथ जूनियर की फोटो नहीं थी।

अफसर जूनियर अली से बार-बार पूछ रहे थे कि आपको ये नाम कहां से मिला। क्या आप मुस्लिम हैं? जब जूनियर ने कहा कि मैं मुस्लिम हूं तो अफसर उनके धर्म और कहां पैदा हुए हैं, जैसे सवाल करते रहे। अली फैमिली के फ्रेंड और वकील क्रिस मैकिनी ने बताया कि अली फैमिली इस मामले को फेडरल कोर्ट में ले जाएगी। फिलहाल, यह पता लगाने की कोशिश की जा रही है कि और कितने लोगों को जूनियर अली की तरह ट्रीट किया गया। उन्होंने कहा कि सोचिए कि यह कैसी बात है कि आप एयरपोर्ट पर हैं और कोई आपसे आपके धर्म के बारे में पूछने लगे।

पूछताछ के दो घंटे माेहम्‍मद अली जूनियर के लिए ऐसे थे जैसे वह कोई बड़े क्रीमिनल हों। इस पूछताछ का खलीला ने भी विरोध किया, लेकिन अधिकारियों के आगे उनकी नहीं चल सकी। खलीला का कहना था कि उनका बेटा कोई क्रीमिनल बैकग्राउंड का नहीं है जो अधिकारी उससे इस तरह से पूछताछ कर रहे हैं। हालांकि इस लंबी पूछताछ के बाद और क्रिस के दखल के बाद अधिकारियों ने उन्‍हें छोड़ दिया, लेकिन अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप के पूर्व में दिए आदेश का असर किस कदर यहां पर हावी है यह इसका एक सीधा सा उदाहरण है।

उमर अब्दुल्ला को इमिग्रेशन जांच के लिए न्यूयॉर्क एयरपोर्ट पर रोका गया; अब्दुल्ला ने कहा- “तीसरी यात्रा में यह तीसरी बार हुआ” देखें वीडियो

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.