ताज़ा खबर
 

6×6 मीटर की कोठरी में रहेगा हैं‍सी क्रोनिए संग मैच फिक्‍स करने वाला बुकी, प्रत्‍यर्पण को मिली मंजूरी

साल 2000 में दक्षिण अफ्रीकी क्रिकेट टीम के भारत दौरे के समय उसने मैच फिक्‍स किए। दक्षिण अफ्रीका के पूर्व कप्‍तान क्रोन्‍ये ने बाद में फिक्सिंग की बात कबूली भी थी।

भारत ने साल 2000 में उसका पासपोर्ट रद्द कर दिया था लेकिन चावला ने 2005 में ब्रिटेन का पासपोर्ट ले लिया था और अब वह ब्रिटिश नागरिक है। (इलस्ट्रेशन: सी आर शशिकुमार, इंडियन एक्सप्रेस)

बुकी संजीव चावला के प्रत्यर्पण को मंजूरी मिल गई है।  भारत में वह 6×6 मीटर की कोठरी में रहेगा। उसमें टॉयलेट भी अटैच होगा। सोमवार 7 जनवरी को लंदन में वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट कोर्ट ने इसकी अनुमति दे दी है। पिछले साल नवंबर में ब्रिटिश अदालत ने बुकी संजीव कुमार चावला को भारत प्रत्यर्पित करने के खिलाफ निचली अदालत के फैसले को निरस्त कर दिया था। संजीव चावला साल 2000 में पूर्व दक्षिण अफ्रीकी क्रिकेट कप्तान हैंसी क्रोनिए से जुड़े मैच फिक्सिंग मामले में मुख्य आरोपी है। अब यह मामला आधिकारिक प्रत्‍यर्पण के आदेश के लिए गृह सचिव साजिद जाविद के पास जाएगा। नवंबर में ब्रिटिश हाई कोर्ट ने चावला को भारत प्रत्यर्पित करने के खिलाफ निचली अदालत के आदेश को रद्द कर दिया और डिस्ट्रिक्ट जज को उसके खिलाफ प्रत्यर्पण कार्यवाही फिर शुरू करने का निर्देश दिया। नई दिल्ली की तिहाड़ जेल में कारागार की सुरक्षा स्थिति पर भारत सरकार के आश्वासन को मानने के बाद ये निर्देश दिया गया। चावला 2017 में खुद को भारत प्रत्यर्पित किए जाने के खिलाफ मामला जीत गया था।

मजिस्ट्रेट रेबेका क्रेन ने अक्टूबर 2017 में फैसला सुनाया था कि भारत सरकार की ओर से क्राउन प्रॉसिक्यूशन सर्विस की दलील के अनुसार चावला के खिलाफ प्रथम दृष्टया मामला सामने आया। मजिस्ट्रेट की अदालत को दिल्ली पुलिस और दक्षिण अफ्रीका के अधिकारियों और पूर्व दक्षिण अफ्रीका के क्रिकेट कप्तान हैन्स क्रोन्ये और सट्टेबाजी समूहों के साथ मिलकर मैच फिक्स करने के लिए टेप की गई बातचीत और अन्य सबूत दिए गए।

वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट कोर्ट ने कहा था कि पहली नजर में मामले में उससे पूछताछ जरूरी है, लेकिन तिहाड़ जेल में रखे जाने के दौरान उसके मानवाधिकार के संबंध में कोई गारंटी नहीं दी गई। चावला पर आरोप है कि साल 2000 में दक्षिण अफ्रीकी क्रिकेट टीम के भारत दौरे के समय उसने मैच फिक्‍स किए। दक्षिण अफ्रीका के पूर्व कप्‍तान हैं‍सी क्रोनिए ने बाद में फिक्सिंग की बात कबूली भी थी। एक विमान दुर्घटना में क्रोनिए की मौत हो गई थी। वह 1996 में ब्रिटेन चला गया था और लंदन में जून 2016 में उसे गिरफ्तार कर लिया गया था। वह बिजनेस वीजा के जरिए भारत से बाहर गया था। भारत ने साल 2000 में उसका पासपोर्ट रद्द कर दिया था लेकिन चावला ने 2005 में ब्रिटेन का पासपोर्ट ले लिया था और अब वह ब्रिटिश नागरिक है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App