ताज़ा खबर
 

रूस में बिहार का जलवा: पुतिन की पार्टी से विधायक बन गया यह बिहारी डॉक्टर

पटना के लोयोला हाईस्कूल से अपनी शुरुआती शिक्षा ग्रहण करने के बाद अभय कुमार सिंह मेडिसिन की पढ़ाई करने के लिए साल 1990 में रुस के कुर्स्क शहर चले गए थे।

अभय यूनाइटेड रशिया पार्टी के टिकट से कुर्स्क के विधायक चुने गए हैं। (image source-Facebook)

कुर्स्क रुस का एक प्राचीन शहर है, जिसे आमतौर पर 1943 में एडोल्फ हिटलर की जर्मन सेना की हार के कारण याद रखा जाता है, लेकिन कुर्स्क का भारत के बिहार से भी खास नाता है। दरअसल कुर्स्क शहर के मौजूदा विधायक एक भारतीय हैं और उनका जन्म बिहार में हुआ है। ये शख्स हैं अभय कुमार सिंह, जो कि रुस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन की पार्टी यूनाइटेड रशिया पार्टी के विधायक हैं। अभय कुमार सिंह ने प्रांतीय चुनाव में यूनाइटेड रशिया पार्टी के टिकट पर डेप्युटाट का चुनाव जीता था। डेप्युटाट भारत में विधायक के बराबर का दर्जा है। बता दें कि व्लादिमीर पुतिन की पार्टी यूनाइटेड रशिया पार्टी पिछले 18 सालों से रुस की सत्ता पर काबिज है।

पटना में हुआ जन्मः अभय कुमार का जन्म बिहार के पटना में हुआ था। पटना के लोयोला हाईस्कूल से अपनी शुरुआती शिक्षा ग्रहण करने के बाद अभय कुमार सिंह मेडिसिन की पढ़ाई करने के लिए साल 1990 में रुस के कुर्स्क शहर चले गए थे। अपनी पढ़ाई पूरी करने के बाद अभय कुमार सिंह ने वापस पटना आकर अपनी मेडिकल की प्रैक्टिस शुरु कर दी, लेकिन स्थितियां कुछ ऐसी बनी कि अभय कुमार सिंह वापस कुर्स्क चले गए। इसके बाद अभय ने कुर्स्क में फार्मास्यूटिकल बिजनेस की शुरुआत की। कुछ समय में ही पटना का यह शख्स कुर्स्क का एक जाना-पहचाना बिजनेसमैन बन गया। फार्मास्यूटिकल बिजनेस के साथ ही अभय कुमार सिंह ने रियल एस्टेट के बिजनेस में भी अपना हाथ आजमाया और यहां भी जबरदस्त सफलता हासिल की।

russia

राजनीति में ऐसे हुई शुरुआतः अभय कुमार सिंह के फेसबुक अपडेट से पता चलता है कि साल 2015 में उनका राजनीति की तरफ झुकाव हुआ। बीते साल अप्रैल में अभय सिंह ने आधिकारिक रुप से यूनाइटेड रशिया पार्टी की सदस्यता ग्रहण कर ली थी। इसके कुछ समय बाद ही वह कुर्स्क शहर के डेप्युटाट चुन लिए गए थे। साल 2012 में अभय कुमार सिंह के शॉपिंग मॉल का उद्घाटन तत्कालीन भारतीय राजदूत अजय मल्होत्रा ने किया था। धीरे-धीरे अभय ने स्थानीय मुद्दों और लोगों पर ध्यान देना शुरु किया और फिर आधिकारिक रुप से राजनीति में प्रवेश कर लिया। इतने साल रुस में रहने के बावजूद अभय कुमार सिंह का भारत के प्रति प्यार जगजाहिर है। साल 2015 में अभय कुमार सिंह ने रुस के कुर्स्क शहर में इंटरनेशनल योगा डे का आयोजन भी किया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App