scorecardresearch

Kabul Blast: काबुल में बड़ा बम धमाका, 20 लोगों की मौत और 40 से ज्यादा घायल

Kabul Bomb Blast, Bombing At Kabul Mosque, Afghanistan Kabul Blast in Mosque: काबुल में बम धमाका मस्जिद में हुआ है। इस धमाके में मस्जिद के इमाम की भी मौत हो गई है।

Kabul Blast: काबुल में बड़ा बम धमाका, 20 लोगों की मौत और 40 से ज्यादा घायल
Kabul Bomb Blast: काबुल में हुए इस बम धमाके में अब तक 20 लोग मारे गए हैं। (फाइल फोटो)

Blast in Kabul Mosque News: अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में एक मस्जिद में बड़ा बम धमाका हुआ है। घमाके में करीब 20 लोगों के मारे जाने और करीब 40 लोगों के घायल होने की खबर है। धमाके पर काबुल के इमरजेंसी हॉस्पिटल ने ट्वीट कर बताया कि धमाके में घायल कुल 27 लोगों को भर्ती कराया गया है, जिसमें से 3 लोगों की मौत हो चुकी है।

जानकारी के मुताबिक, ये धमाका बुधवार शाम की नमाज के समय खैर- खाना इलाके में मौजूद मस्जिद के अंदर हुआ। इस धमाके में मस्जिद के इमाम की मौत हो गई है। पुलिस का धमाके के बारे में कहना है कि फिलहाल मरने वाले और घायल लोगों की संख्या के बारे में कुछ भी कहना उचित नहीं होगा। वहीं एक तालिबान अफसर ने समाचार एजेंसी रॉयटर्स को बताया कि घमाके में करीब 35 से 40 लोग घायल हो गए हैं। इसके अलावा अल जजीरा ने एक अज्ञात अधिकारी के हवाले से बताया कि इस धमाके में कम से कम 20 लोग मारे गए हैं, जिनकी संख्या में इजाफा हो सकता है।

धमाके की तीव्रता के बारे में एक प्रत्यक्षदर्शियों ने रॉयटर्स को बताया कि धमाका इतना तेज था कि मस्जिद के आस- पास के इलाके के घरों के शीशे टूट गए और घमाके की आवाज उत्तरी काबुल में काफी दूर तक सुनाई दी। वहीं, एक अन्य प्रत्यक्षदर्शी ने बताया कि इस घमाके को एक आत्मघाती हमलावर के जरिए अंजाम दिया गया है।

धमाके के बाद पूरे इलाके को तालिबान के सुरक्षाकर्मियों ने घेर लिया है और घायलों को अलग-अलग अस्पतालों में शिफ्ट किया जा रहा है। फिलहाल इस धमाके की जिम्मेदारी किसी भी आतंकवादी संगठन ने नहीं ली है। लेकिन तालिबान के सत्ता में आने के बाद से ही कट्टर आतंकवादी संगठन आईएसआईएस लगातार बम धमाके और आतंकवादी घटनाओं को अंजाम देकर शिया मस्जिदों को लगातार निशाना बनाता आया है। हालांकि इस बार जिस इलाके में बम ब्लास्ट हुआ है, न तो वह शिया बहुल है न ही वो मस्जिद शिया है।

बता दें, तालिबान ने बुधवार को बताया कि उसने हेरात प्रांत में ईरान बॉर्डर पार करने की कोशिश कर रहे मेहदी मुजाहिद को पकड़ कर मार दिया। मुजाहिद तालिबान में एक मात्र अल्पसंख्यक हजारा समुदाय के कमांडर थे।

पढें अंतरराष्ट्रीय (International News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट